JharkhandRanchi

राज्यपाल के अभिभाषण के बाद 4210.08 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश

विज्ञापन
  • खजाने को लेकर सरकार जल्द जारी करेगी श्वेत पत्र

Ranchi: सत्र के दूसरे दिन और स्पीकर के चयन के बाद राज्यपाल का अभिभाषण हुआ. राज्यपाल के अभिभाषण के बाद अनुपूरक बजट पेश किया गया.

हेमंत सोरेन ने सदन में 4210 करोड़ 8 लाख 40 हजार 734 का अनुपूरक बजट पेश किया. बजट पर बुधवार को चर्चा होगी. राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में कहा कि यह सरकार युवाओं को रोजगार, किसानों को हर संभव सहायता, महिलाओं के सशक्तीकरण, दलितों और आदिवासियों के संवैधानिक अधिकारों एवं सुरक्षा कवचों की रक्षा, खेतिहर मजदूरों का सहायता को सर्वोच्च प्राथमिकता में रखेगी.

अनुपूरक को लेकर भाजपा के सीपी सिंह ने कहा कि जारी कामों को करने के लिए पैसों की कमी हो सकती है, उन कामों को पूरा करने के लिए ही अनुपूरक बजट लेकर आयी है सरकार. वहीं सत्ता पक्ष के विधायकों ने राज्य की आर्थिक स्थिति को लेकर चिंता जाहिर की है.

advt

देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें – NEWSWING EXCLUSIVE: ढुल्लू से रंगदारी मांगने वाले ने किया मानहानि मुकदमा, कहा – मेरी 10 करोड़ की संपत्ति हड़प ली

हेमंत सोरेन बोले- जल्द ही सरकार जारी करेगी श्वेत पत्र

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि सरकर के कोष में पैसों का अभाव है. सरकार काम करने के लिए ही 4210 करोड़ के लगभग का बजट लेकर आयी है. सरकार के खजाने की स्थिति राज्य के सामने रखने के लिए जल्द ही सरकार श्वेत पत्र जारी करेगी.

वहीं आजसू के सुप्रीमो सुदेश महतो ने भी कहा कि सरकार को श्वेत पत्र जारी करना चाहिए. जनतो को पता चलना चाहिए कि आखिर राज्य की आर्थिक स्थिति क्या है.

adv

आलमगीर आलम ने कहा कि हमने अपने सूत्रों से जो जानकारी जुटायी है उसके हिसाब से सरकार के पास पैसों का इतना आभाव है कि सरकारी कर्मियों के वेतन तक नहीं दे पा रही थी. उन्होंने साथ ही कहा कि हमारी सरकार इसको सुदृढ़ करने की दिशा में भी काम करेगी.

इसे भी पढ़ें – राज्यसभा चुनाव: #BJP को लग सकता है बड़ा झटका, यूपीए के पास दिख रहा 55 विधायकों का समर्थन

युवाओं की भागीदारी के बिना राज्य का विकास संभव नहीं

राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में कहा कि यह सरकार का दृढ़ विश्वास है कि युवाओं की भागीदारी के बिना राज्य का विकास संभव नहीं है. राज्य के विकास में युवाओं की भागीदारी को बढ़ाने के लिए उन्हें प्रत्यक्ष रोजगार दिये जाने की आवश्यकता है.

इसके लिए राज्य सरकार के अंतर्गत विभिन्न विभागों तथा राज्य के विभिन्न जिला से लेकर पंचायत स्तर के लंबे समय से चल रही रिक्तियों को चरणबद्ध रुप में भरना हमारी प्राथमिकता है.

खेल-खिलाड़ियों को बढ़ावा देना सरकार का लक्ष्य

हेमंत सोरेन की सरकार में झारखंड में खेलकूद की असीम संभावनाओं को देखते हुए खेल नीति को खेल और खिलाड़ियों के हितों के अनुरूप बनाया जायेगा.

खेल एवं खिलाड़ियों को बढ़ावा देना इस सरकार का लक्ष्य है. राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में बताया कि सरकार आइटी सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए उपायों को प्रोत्साहित करेगी. इसके अलावा पारदर्शिता लाने की भी बात कही गयी है.

इसे भी पढ़ें – सर्वसम्मति से स्पीकर चुने गये रवींद्रनाथ महतो, तीसरी बार बने हैं विधायक  

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button