न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
Browsing Category

LITERATURE

कदमों ने साथ छोड़ा, तो कलम पकड़कर तय किया हजारों दिलों तक पहुंचने का सफर

महज 23 साल की उम्र में लिख डाला उपन्यास, देशभर में अब तक 3000 कॉपियां बिक चुकी हैं ‘शादी का सपना’ कीChhayaRanchi : वह चल नहीं पाती. व्हील चेयर का इस्तेमाल करती है. लेकिन, माथे पर तनिक भी शिकन नहीं कि वह दिव्यांग है. चेहरे पर…

जल्द ही बनेगी “योर ऑन थॉट” आपकी अपनी थॉट

Ranchi: परिस्थिति चाहे जो भी हो अगर उस परिस्थिति के हिसाब से व्यक्ति अपने आप को उसमें ढाल सकता है तो वह व्यक्ति अपनी आनेवाली जिंदगी में काफी कुछ कर सकता है. पर वह उस व्यक्ति पर निर्भर करता है कि वह कितना मेहनती है और अपनी जिंदगी के प्रति…

काश! तुम मेरे प्यार को समझ पाती

Dr. Rupesh Jain 'Rahat'काश! तुम मेरे प्यार को समझ पातीपरिणय की परिपाटी में तुम पर न्यौछावर हुआतुम्हें अपना वर्तमान और भविष्य मानाहर पग तेरे साथ चलने की कोशिश की, तुम में ही अपना सर्वस्व ढूंढाकाश! तुम मेरे प्यार को समझ…

या खुदा तेरे भरोसे को क्या हुआ

माना कि हालात बेकाबू हो गए कई बारजब भी वक्त नासाज हुआहर बार भरोसा रखा मैंनेया खुदा तेरे भरोसे को क्या हुआकभी लगता है संभल गयाकभी यों ही बिगड़ गयावक्त ऐसाजैसे रेत का बुत मुठ्ठी से फिसल गयारोकना तो…

शादी से पहले पूछ लें अपने पार्टनर से ये बात, वर्ना जिंदगी भर पछताएंगे

NewsWing Desk: सब को पता है एक न एक दिन सबकी शादी होनी है. हर कोई इंसान अब वो लड़का हो या लड़की अपने होने वाले जीवनसाथी के बारे में बहुत कुछ सोचते हैं और बहुत से सपने भी देखते हैं. लेकिन फिर एक और सवाल भी दिमाग में आता है कि पता नहीं होने…

बदलते दौर की महिलाओं की जीवन शैली का सजीव चित्रण करता है “डेडलॉक”

Sanjeev Shekhar:इस उपन्यास का शीर्षक डेडलॉक पढ़ते ही कुछ सवाल स्वाभाविक रूप से जेहन में कौंध जाते है कि गतिरोध किस अवस्था का, किसका कब और कैसे ? मन कौतुहल से भर जाता है कि किस गतिरोध की बात लेखक ने की है. यह उपन्यास विवाहोपरांत प्रेम…

दिन हो, रात हो अब युवा हिन्द के करते आराम नहीं

डॉ. रूपेश जैन 'राहत'दिन हो, रात हो अब युवा हिन्द के करते आराम नहींसमाज बदल रहा है युवा, व्याकुलता का अब काम नहींभारत माता की वेदी पर निज प्राणों का उपहार लाये हैंशक्ति भुजा में, ज्ञान गौरव जगाने भारत के युवा आये हैंनित…

महाभारत को तेलुगू में प्रकाशित करेगी गीताप्रेस, 15 दिनों में बाजार में आ जाएगी किताब

Gorakhpur : दुनिया में हिन्दू धर्म की सबसे अधिक पुस्तकें प्रकाशित करने वाली गीताप्रेस ने महाभारत को तेलुगू भाषा में प्रकाशित करने का फैसला किया है. गीताप्रेस के प्रोडक्शन मैनेजर लाल मणि त्रिपाठी ने बुधवार को बताया कि तेलुगू भाषा में महाभारत…