न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: बच्चों ने पखारे माता-पिता के पैर, माथे पर लगाया चंदन का तिलक

32

Palamu : बच्चों को संस्कारवाण बनाने के लिए शुक्रवार को पलामू जिले के सरकारी विद्यालयों में मातृ-पितृ पूजन कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में विद्यालय में अध्ययन कर रहे बच्चों के अधिकतर माता-पिता उपस्थित थे. बच्चों ने अपने माता-पिता के पानी से पैर को पखारे एवं माथे पर चंदन से तिलक लगाया. बाद में माता-पिता की आरती सम्मिलित रूप से की.

इसे भी पढ़ें : झारखंड में राजनीतिक दलों के पास स्टार प्रचारकों का टोटा

बुनियादी विद्यालय पोलपोल में उत्सव जैसा माहौल

इस कार्यक्रम को लेकर सदर प्रखंड के राजकीय बुनियादी विद्यालय, पोलपोल में उत्सव सा माहौल रहा. विद्यालय के प्रधानाध्यापक दिनेश कुमार शुक्ला ने माता-पिता व बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि माता-पिता प्रत्येक बच्चे के चरित्र निर्माण में अहम भूमिका का निर्वहन करते हैं. प्रत्येक बच्चे के लिए उनके माता-पिता दुनिया के सबसे अच्छे इंसान के रूप में होते हैं. इसलिए प्रत्येक माता पिता को खुद भी आदर्श आचरण व व्यवहार अपनाना चाहिए.

इसे भी पढ़ें : आंकड़ों का है कहना जमशेदपुर लोकसभा सीट पर भगवा रंग को बड़ी चुनौती देगा महागठबंधन का समीकरण

बच्चे माता-पिता को माने अपना आदर्श 

प्रधानाध्यापक ने यह भी कहा कि प्रत्येक बच्चों को चाहिए कि वे अपने माता-पिता को अपना आदर्श मानें एवं उनका सम्मान करें. माता-पिता एवं शिक्षक का जब आपस में अच्छे संबंध होते हैं तो बच्चों का चरित्र निर्माण बेहतर होता है. जो आगे चलकर बच्चे सजग व सफल इंसान के रूप में परिणत होते हैं. यह सरकारी विद्यालय जहां विद्यालय में पढ़ाई के साथ साथ बच्चों को बेहतर संस्कार दिये जायें. इसके लिए विद्यालय परिवार हमेशा प्रयासरत है. विद्यालय के शिक्षक राम उपेंद्र पांडेय, रविंद्र कुमार पाल एवं प्रेमचंद्र कुमार ने बहुत ही बेहतर तरीके से मातृ-पितृ पूजन के महत्व पर प्रकाश डाला एवं बच्चों के संस्कार के निर्माण में अपना सहयोग दिया.

इसे भी पढ़ें : भारतीय क्रिकेट टीम ने लोकसभा चुनाव में अधिक से अधिक मतदान करने की अपील की

Related Posts

झारखंड में भाजपा ने फिर से लहराया परचम, आजसू ने भी खाता खोला

अपनी सीट नहीं बचा पाये प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ

माता-पिता की अनुपस्थित में गुरुओं का हुआ अभिनंदन

जिन छात्र-छात्राओं के माता पिता उपस्थित नहीं थे. उन्होंने अपने पिता के स्थान पर अपने गुरु के पांव पखारे और आरती-वंदन की. विद्यालय प्रबंधन समिति के सदस्य राजदेव सिंह ने इस तरह के संस्कारवान कार्यक्रम को प्रभावशाली बताया. सरकारी विद्यालय में ऐसे आयोजन के लिए विद्यालय के प्रधानाध्यापक एवं अन्य सभी शिक्षकों के प्रति हृदय से आभार व्यक्त किया. विद्यालय बाल संसद की प्रधानमंत्री रानी कुमारी एवं शिक्षा मंत्री प्रियांशु एवं मानस कुमार, आनंद कुमार एवं विनय कुमार ने मातृ-पितृ पूजन कार्यक्रम के आयोजन के लिए अपने शिक्षकों का धन्यवाद किया.

मौके पर अन्य लोगों के अलावा वार्ड सदस्य सुषमा देवी, राजदेव सिंह, सुदामा राम, पुष्पा देवी, फूलपत्ती देवी, रेखा देवी, सोनी देवी समेत सैकड़ों माता-पिता व अभिभावक उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का हालः प्रशिक्षण के बाद ना मिला रोजगार, ना ही प्रमाण पत्र

बच्चों में शिक्षा के साथ-साथ संस्कार का निर्माण आवश्यक

जिले के लालगढ़ मध्य विद्यालय में आज मातृ-पितृ पूजन कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस अवसर पर विद्यालय परिसर में बच्चों के द्वारा अपने माता-पिता की पूजा कर उनका आशीर्वाद लिया गया. प्रधानाध्यापक विनोद पांडेय ने कहा कि बच्चों में शिक्षा के साथ-साथ संस्कार का निर्माण आवश्यक है. संस्कार निर्माण के दिशा में यह कार्यक्रम काफी सहायक सिद्ध होगा. उन्होंने कहा कि विभागीय निर्देशानुसार कार्यक्रम का अयोजन किय गया था, जिसमें बड़ी संख्या में बच्चों के अभिभावकों की उपस्थिति रही.

इसे भी पढ़ें : सरकारी लेटलतीफी के कारण राज्य के निजी कंपनियों का लटक सकता है भुगतान

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: