न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची : वाहन चेकिंग के दौरान हुई झड़प, ट्रैफिक पुलिस ने युवक को पीट-पीटकर किया घायल

429

Ranchi : ट्रैफिक पुलिस और बाइक सवार युवकों के बीच सुजाता चौक के समीप बुधवार दोपहर झड़प हो गई. इस हंगामे में ट्रैफिक डीएसपी रंजीत लकड़ा को हाथ में हल्की चोट लग गई. जिसके बाद ट्रैफिक पुलिस के जवानों ने सोनू मिश्रा नाम के युवक की जमकर पिटाई कर दी. वहीं इस वजह से सुजाता चौक तकरीबन आधे घंटे तक एक तरफ से जाम रहा. गौरतलब है कि सुजाता चौक के समीप डीएसपी रंजीत लकड़ा के नेतृत्व में पुलिसकर्मी वाहन चेकिंग कर रहे थे. इसी दौरान युवक और पुलिस के बीच मारपीट कि घटना हुई.

इसे भी पढ़ें- घुटन में माइनॉरटी IAS ! सरकार पर आरोप- धर्म देखकर साइड किए जाते हैं अधिकारी

क्या है मामला

hosp3

सुजाता चौक पर वाहन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा था. इसी दौरान सोनु मिश्रा नाम के युवक को बिना हेलमेट के आता देख रंजीत लकड़ा सहित अन्य पुलिसकर्मियों उसे रुकने का इशारा किया. लेकिन वह नहीं रुका और जाने लगा. जिसके बाद पुलिस ने जबरन उसे रोका. युवक ने खुद को सामाजिक कार्यकर्ता बताया और ट्रैफिस पुलिस के साथ बकझक करने लगा. साथ ही डीएसपी सहित ट्रैफिक पुलिस के जवानों के साथ धक्का मुक्की करने लगा . युवक बिना हेलमेट और बिना लाइसेंस के बाइक चला रहा था. जिसे लेकर ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने युवक की पिटाई कर दी. इस दौरान ट्रैफिक डीएसपी रंजीत लकड़ा को हाथ मे लगी हल्की चोट लग गई. घटना के बाद ट्रैफिक पुलिस ने युवक को पकड़कर चुटिया थाना भेज दिया.

इसे भी पढ़ें- सीपी सिंह के बयान पर उबले पुलिस के जवान, कहा – मंत्रिमंडल का नाम बदलकर क्या रखियेगा मंत्री जी

युवकों का आरोप डीएसपी ने पहले हाथ चलाया

बाइक सवार युवक सोनू मिश्रा का आरोप है कि रोकने के बाद पुलिस वाले गाली देने लगे. और डीएसपी रंजीत लकड़ा ने उसके ऊपर पहले हाथ चलाया साथ ही उसे और उसके दोस्त को पीटा. इसके विरोध में आम लोग जुट गए. पुलिस जब युवकों को थाने ले जाने की कोशिश की, तब लोगों ने इसका विरोध किया.

पीठ पर डंडे से किया वार
पीठ पर डंडे से किया वार

इसे भी पढ़ें- सरकार ही नहीं देती बिजली बिल, अब तक फूंक दी 200 करोड़ की बिजली और नहीं चुकाया बिल

पुलिसकर्मियों ने कहा, गाली दी और मारपीट करने लगा युवक

इधर, ट्रैफिक डीएसपी रंजीत लकड़ा का कहना है कि युवक बिना हेलमेट का बाइक चला रहा था. जब पुलिसकर्मियों ने युवकों को रोकने की कोशिश की, तब वो भागने की कोशिश करने लगे. ऐसे में युवकों को रोका गया, उसके बाद युवक खुद को सामाजिक कार्यकर्ता बताकर पुलिसकर्मियों से उलझ गया.

इसे भी पढ़ें- झारखंड में भी शुरू हो सकती है सेवाओं की होम डिलीवरी

मैं तो जा ही रहा हूं सर ये क्या तमीज हुई गाड़ी से खींचकर उतराने की : सोनू

घटना के बाद युवक सोनू ने बताया कि ट्रैफिक पुलिस ने मुझसे कहा कि भागो यहां से. जिसपर मैंने कहा कि मैं तो जा ही रहा हूं सर ये क्या तमीज हुई गाड़ी से खींचकर उतराने की. इतने में ही डीएसपी ने मुझे मुक्का मारा और कहा गुंडा बनते हो ज्यादा गर्मी हो गई है. ज्यादा गुंडा बनोगे तो कोई नहीं बचायेगा. तुम्हारे जैसे लोग को मैं जूतों के नीचे रखता हूं. फिर वो लोग मुझे ट्रैफिक पुलिस चेक पोस्ट के अंदर ले गए और वहां लेजाकर मुझे बेरहमी से पीटा. उन्होंने पीठ पर डंडे से मारा. साथ ही उन्होंने मेरे साथी तुषार विजयवर्गीय को भी भद्दी-भद्दी गालियां दी. उन्होंने उसके ऊपर भी हाथ उठाया और उसे भी धक्का दिया.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: