न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चुंबन प्रतियोगिता पर उठ रहे सवाल, हो सकता है बड़ा बवाल

झामुमो नेता साइमन मरांडी आदिवासी परंपरा बता पाकुड़ में करा रहे हैं प्रतियोगिता

175

Ranchi: झारखंड मुक्ति मोर्चा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सह लिट्टीपाड़ा के विधायक साइमन मरांडी ने एक बार फिर से चुंबन प्रतियोगिता कराने का ऐलान किया है. 15 दिसंबर को पाकुड़ में चुंबन प्रतियोगिता का आयोजन किए जाने की तैयारी की जा रही है. धनबाद में पत्रकारों से बात करते हुए साइमन मरांडी ने कहा था कि यह प्रतियोगिता आदिवासी परंपरा का एक हिस्सा है. यह आयोजन पिछले साल भी हुआ था. जिसके बाद काफी बवाल खड़ा हो गया था. इस वर्ष भी साइमन मरांडी के द्वारा चुंबन प्रतियोगिता की घोषना के बाद फिर से राजनीति गरमाने लगी है. रविवार को धनबाद में कृषि मंत्री रणधीर सिंह ने साइमन मांरडी को चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि चुंबन प्रतियोगिता हुई तो साइमन मरांडी को जेल जाना होगा. इसे देखते हुए कहा जा सकता है कि एक बार फिर इस मुद्दे पर बड़ा बवाल हो सकता है.

9 दिसंबर 2017 को लिट्टीपाड़ा चुंबन प्रतियोगिता का हुआ था आयोजन

पिछले साल आदिवासी परंपरा के नाम पर हुई चुंबन प्रतियोगिता से पूरे राज्य में बखेड़ा खड़ा हो गया था. लिट्टीपाड़ा में पिछले साल 9 दिसंबर को सिद्धू कान्हू मेला के दौरान ह्यदुलार चो नाम से प्रतियोगिता आयोजित हुई थी. इस दौरान झारखंड मुक्ति मोर्चा के दो विधायक स्टीफन मरांडी और साइमन मरांडी मौजूद थे. इसके बाद कई दिन तक आरोप-प्रत्यारोप के के बाद यह प्रतियोगिता विवाद के घेरे में आ गयी थी. इससे कई परिवारों में विवाद भी हुआ था. इस मुद्दे पर संथाल समेत पूरे राज्य में सियासत भी गरमा गई थी.

अश्लील प्रतियोगिता को सही ठहराना झामुमो नेता की भ्रष्ट मानसिकताः भाजपा

Related Posts

100 रुपये में #IAS बनाता है #UPSC, #Jharkhand में क्लर्क बनाने के लिए वसूले जा रहे एक हजार

झारखंड में बनना है क्लर्क तो आइएएस की परीक्षा से 10 गुणा ज्यादा देनी होगी परीक्षा फीस.

झामुमो के विधायक साइमन मरांडी द्वारा चुंबन प्रतियोगिता के आयोजन की घोषणा पर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कड़ा एतराज जताया जता है. उन्होंने चुंबन प्रतियोगिता जैसे अश्लील कार्यक्रम के आयोजन का समर्थन करने के लिए झारखंड मुक्ति मोर्चा के विधायक साइमन मरांडी की निंदा की है. प्रतुल शाहदेव ने कहा कि साइमन मरांडी ने साफ दिखा दिया है कि वह और उनका दल झारखंड की परंपराओं की धज्जियां उड़ाने में लगे हए हैं. उन्होंने साइमन मरांडी को चेतावनी देते हुए कहा कि इस बार भाजपा की सरकार ऐसी प्रतियोगिता का आयोजन किसी भी कीमत पर नहीं होने देगी. उन्होंने कहा कि इस तरह की अश्लील प्रतियोगिता के आयोजन को सही ठहराना झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता की भ्रष्ट मानसिक स्थिति को दिखाता है. उन्होंने कहा कि साइमन मरांडी ने पिछले वर्ष भी ऐसी ही चुम्बन प्रतियोगिता कराई थी जिससे राष्ट्रीय स्तर पर बवाल मचा था. जनता के आक्रोश के कारण झारखंड मुक्ति मोर्चा ने उस समय नाटक करते हुए साइमन मरांडी को कारण बताओ नोटिस जारी किया. लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. इससे यह स्पष्ट है कि झारखंड मुक्ति मोर्चा का शीर्ष नेतृत्व भी ऐसी प्रतियोगिताओं को गलत नहीं मानता है. अन्यथा साइमन मरांडी ऐसी प्रतियोगिताओं का दोबारा आयोजन करने की हिम्मत नहीं करते. शाहदेव ने झारखंड मुक्ति मोर्चा के शीर्ष नेतृत्व से भी जानना चाहा कि अगर वह इस मुद्दे पर कोई कार्यवाही नहीं करता है तो इसका स्पष्ट अर्थ यह होगा कि उसे भी ऐसी चुंबन प्रतियोगिता के आयोजन से कोई परहेज नहीं है.

इसे भी पढ़ें – नक्शा पास करने को लेकर आरआरडीए और जिला परिषद आमने-सामने

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: