न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नक्शा पास करने को लेकर आरआरडीए और जिला परिषद आमने-सामने

जिला परिषद दे रहा ग्रामीण विकास विभाग के संकल्प का हवाला, आरआरडीए अध्यक्ष बोल रहे हैं 284 गांव आरआरडीए के दायरे में

226

Chandan Choudhary

Ranchi: ग्रामीण क्षेत्रों में नक्शा पास करने को लेकर आरआरडीए और जिला परिषद आमने-सामने हो गये हैं. जिला परिषद अध्यक्ष सुकरा सिंह मुंडा दो टूक कह रहे हैं कि पंचायती राज के अधीन क्षेत्रों का नक्शा जिला परिषद ही पास करेगा. 10 अक्तूबर 2017 को ग्रामीण विकास विभाग द्वारा जारी संकल्प का हवाला देते हुए कहा कि इसमें ग्रामीण क्षेत्रों में नक्शा पास करने का उल्लेख है. इसके लिए राशि भी निर्धारित कर दी गई है. यहां तक कि जिला परिषद कार्यालय में नक्शों के ऑनलाइन आवेदन भी आ रहे हैं.

आरआरडीए अध्यक्ष बोले, यह गलत है, सरकार को होगा रेवेन्यू लॉस

इधर आरआरडीए अध्यक्ष परमा सिंह ने कहा कि 284 गांवों में आरआरडीए द्वारा ही नक्शा पास किया जाता है. जब एक ही जगह पर चार-चार नक्शा पास करनेवाले होंगे तो जनता कंफ्यूज हो जायेगी. यह गलत है ऐसा नहीं होना चाहिए. इससे सरकार को रेवेन्यू लॉस होगा. जिस तरह नगर निगम अपने क्षेत्र में नक्शा पास करता है उसी तरह आरआरडीए अपने क्षेत्र में नक्शा पास करता है.

दोनों के आमने-सामने होने से बढ़ गई हैं मुश्किलें

जिला परिषद के हस्तक्षेप के बाद मुश्किलें बढ़ गई हैं. नामकुम का ऐसा ही मामला संज्ञान में आया था जो आरआरडीए के क्षेत्र में था लेकिन जिला परिषद द्वारा वहां नक्शा पास कर दिया गया. इसकी शिकायत डीसी से की गई थी. फिर नामकुम, ओरमांझी में भी नक्शा पास करने की शिकायत आ रही है.

कर्मचारी की कमी के कारण हो रही परेशानी

आरआरडीए अध्यक्ष परमा सिंह ने बताया कि कर्मचारी की भारी कमी है. इस कारण परेशानी हो रही है. भवन निर्माण की जांच नहीं हो पा रही है, इसका फायदा कोई और उठा रहा है. कई बार मालूम भी नहीं चलता और जिला परिषद से नक्शा पास भी हो गया होता है. रांची नगर निगम क्षेत्र से बाहर रातू, कांके, बूटी, टाटीसिल्वे, नामकुम इलाकों में बननेवाली इमारतों का नक्शा जिला परिषद द्वारा पास किया जा रहा है.

क्या कहते हैं जिला परिषद के पदाधिकारी

जिला परिषद के एक पदाधिकारी ने बताया कि रिंग रोड के अंदर तक कुछ सेलेक्टेड जगह हैं, जहां का नक्शा आरआरडीए को पास करने का अधिकार है. उसके बाद शहर से सटे हुए जितने भी ग्रामीण क्षेत्र आते हैं, वहां बनने वाली इमारतों का नक्शा जिला परिषद द्वारा पास करने का प्रॉसेस शुरू किया गया है. अब आवेदन भी लिए जा रहे है. इसके लिए ग्रामीणों को जागरूक किया जा रहा है. ग्रामीण क्षेत्र में 5000 वर्ग फीट से ऊपर बननेवालों भवनों का नक्शा जिला परिषद द्वारा ही पास किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें – कड़ाके की ठंड में गरीबों को नहीं मिलेगा कंबल, जिलों में कंबल का टेंडर फाइनल नहीं

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: