GiridihJharkhand

सामूहिक दुष्‍कर्म के आरोपी युवकों को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस अब कर रही है इनकार

Giridih :  गिरिडीह के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र में गैंगरैप का मामला सामने आने के बाद भी पुलिस गैंगरैप की घटना को मानने से इंकार कर रही है. गिरफ्तारी के बारे में मुफ्फसिल थाना पुलिस निरीक्षक रत्नमोहन ठाकुर ने क‍हा कि मामला  कुछ दूसरा है.

वहीं सूत्रों की माने तो गैंगरैप की घटना में पुलिस ने सदृदाम समेत चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार युवकों में एक चरपोका गांव का है, जबकि तीन अन्य युवक माथाडीह के बताये जा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :झारखंड में स्‍टार्टअप पॉलिसी फेल, 49 चयनित उद्यमियों को नहीं मिल रही स्‍टाइपेंड

इंसाफ के लिए पीड़ि‍ता की मां लगा रही थाने की चक्‍कर

इधर पीड़िता की मां का कहना है कि घटना के बाद आवेदन देने के बाद भी पुलिस अब तक उन चार आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज नहीं कर रही है.

पीड़ि‍ता की मां केस दर्ज करना चाहती है. लिहाजा, अब सवाल के घेरे में खुद पुलिस भी है कि आखिर पीड़िता की मां के दिए आवेदन पर थाना में केस दर्ज क्यों नहीं किया जा रहा है. गैंगरैप की घटना के तीन दिनों बाद पीड़िता की मां अपनी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए लगातार थाने का चक्कर लगा रही है.

इसे भी पढ़ें :मिड डे मील: अब तीन के बजाय सिर्फ दो दिन ही बच्चों को दिया जायेगा अंडा

8 अप्रैल की घटना

गैंगरैप की घटना मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के एक गांव का बताया जा रहा है. घटना की रात 8 अप्रैल को पीड़िता की मां शादी में गई थी. वहीं दूसरे दिन 9 अप्रैल को जब वह घर लौटी, तो पीड़िता ने रोते हुए पूरे घटना को बतायी.

इसके बाद पीड़िता की मां स्थानीय मुखिया के पास पहुंची, तो मुखिया ने पीड़िता की मां को कहीं नहीं जाने का सुझाव देते हुए कहा कि सारा फैसला यहीं होगा. इसके बाद स्थानीय मुखिया ने दोनों पक्षों को फैसले के लिए बुलाया. जिसमें पीड़िता और उसके माता-पिता पहुंचे, लेकिन दूसरा पक्ष नहीं पहुंचा. इसके बाद पीड़िता की मां ने बीते बुधवार को थाना में आवेदन दिया.

इसे भी पढ़ें : पलामू : चतरा सीट को लेकर महागठबंधन में हालात ठीक नहीं, राजद ने कांग्रेसियों का किया विरोध, धीरज साहू…

चाकू की नोक पर दिया दुष्‍कर्म की घटना को अंजाम

इधर थाना को दिए आवेदन में पीड़िता की मां ने मो सदृदाम समेत चारों युवकों पर आरोप लगाते हुए कहा कि चारों युवक उनके घर घुस गये.

इसके बाद सदृदाम पीड़िता के मुंह में कपड़ा डाल दिया. वहीं सदृदाम के तीन अन्य दोस्तों ने पीड़िता समेत दोनों बहनों के गले में चाकू सटाकर चिल्लाने पर जान से मारने की धमकी देकर सदृदाम समेत चारों युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.

इसे भी पढ़ें :मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए आदिवासी महिलाओं के साथ एडीएफ ने चुना महुआ

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close