JharkhandMain SliderRanchi

जानें झारखंड के कितने विधायक हैं दागी, IPC की कौन सी धारा के तहत चल रहा है माननीयों पर केस

Akshay Kumar Jha

Ranchi: झारखंड अगेंस्ट करप्शन की याचिका पर सुनवाई करते हुए झारखंड हाइकोर्ट ने राज्य सरकार ने पूछा था कि झारखंड के सभी 56 दागी विधायकों पर आखिर सरकार क्या रही है. इस पर हाइकोर्ट ने एक स्टेटस रिपोर्ट मांगी थी.

इस रिपोर्ट को पुलिस के सीआइडी विभाग ने कोर्ट में सौंप दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक झारखंड के 62 विधायकों पर क्रिमिनल केस चल रहे थे. लेकिन उनमें से 19 विधायकों को केस से बरी कर दिया जा चुका है.

advt

बाकी 43 विधायकों का मामला कोर्ट में लंबित है. इनमें से 12 विधायकों की केसों में पेशी चल रही है. दो विधायकों के केस में बहस जारी है. 6 विधायकों का केस अंडर ट्रायल है.

6 विधायकों पर चार्ज फ्रेम होना है. एक बेल पर हैं. बाकी कोर्ट के अलग-अलग प्रोसेस में शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें – आखिर क्यों धनबाद के झरिया में सीएम रघुवर दास के आने से पहले पुलिस ने किया फ्लैग मार्च !

जानें किस विधायक का केस कोर्ट में है और लगी है कौन सी धारा

नीचे दिये गये सभी आंकड़े सरकार की तरफ से पुलिस विभाग ने कोर्ट में प्रस्तुत किया है. विपक्ष के कुछ लोगों का कहना है कि सरकार ने अपनी पार्टी या सहयोगी पार्टी पर चल रहे केस को छिपाने की कोशिश की है.

adv

पूर्व विधायक योगेंद्र महतो ने कहा है कि रिपोर्ट में आजसू के चंद्रप्रकाश चौधरी पर चल रहे केसों का उल्लेख नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर पूर्व विधायकों का भी जिक्र उस रिपोर्ट में करना था तो सीपी चौधरी पर चल रहे मुकदमों का जिक्र क्यों नहीं हुआ.

यहां तक कि बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो  के खिलाफ भी एक ही केस का उल्लेख सरकार की स्टेटस रिपोर्ट में किया गया है.

अमित महतोः दो केस कोर्ट में है. दोनों केस में इन पर 147, 341, 323, 427, 447, 342, 145, 149, 290 और 427 जैसी आइपीसी की धारा के तहत केस चल रहा है.

जानकी प्रसाद यादवः एक केस कोर्ट में है. इनपर 323, 354, 406, 504, 511 जैसी आइपीसी की धारा के तहत केस चल रहा है.

एनोस एक्काः कोर्ट में दो केस चल रहा है. एक पर बहस जारी है और दूसरा अंडर ट्रायल है. इन पर 143 और 188 के तहत केस चल रहा है.

हेमंत सोरेनः एक केस कोर्ट में है. इन पर 144, 506 और 171डी के तहत केस चल रहा है.

साधु चरण महतोः दो केस कोर्ट में पेंडिंग हैं. दोनों में पेशी चल रही है. इन पर 147, 148, 149, 341, 325, 353, 342, 283, 186, 188 और 506 की धारा के तहत केस चल रहा है.

देवेंद्र कुमार सिंहः एक केस कोर्ट में पेंडिंग है. इस केस में कोर्ट की तरफ से चार्ज फ्रेम होना बाकी है. इनपर 143, 341, 353, 355, 290, 504 और 506 धारा के तहत केस चल रहा है.

कुशवाहा शिवपूजन मेहताः तीन केस कोर्ट में पेंडिंग हैं. तीनों केसों में इन पर चार्ज फ्रेम होना बाकी है. इन पर 143, 341, 353, 355, 290, 504, 506 और 342 धारा के तहत केस चल रहा है.

भानू प्रताप शाहीः एक केस कोर्ट में पेंडिंग है. केस में कोर्ट की तरफ से चार्ज फ्रेम होना है. इन पर 323, 427 और 171 एफ के तहत केस चल रहा है.

निर्मला देवीः सरकार की तरफ से सौंपी गयी रिपोर्ट में सबसे ज्यादा केस हजारीबाग के बड़कागांव विधायक निर्मला देवी  पर दर्ज है. कोर्ट में आठ केस इन पर पेंडिंग हैं. पुलिस की तरफ से इनके आठ केस में सिर्फ एक केस जो पतरातू के भुरकुंडा थाना में है उसमें 143, 147, 149 और 188 के तहत केस चल रहा है.

राजकुमार यादवः कोर्ट में एक केस पेंडिंग है. इन पर 147, 341 और 323 धारा के तहत केस चल रहा है.

गणेश गंझूः एक केस कोर्ट में पेंडिंग है. इन पर 143, 144, 145, 147, 148, 149, 152, 341, 323, 353, 427, 283, 188 और 337 धारा के तहत केस चल रहा है.

ढुल्लू महतोः सरकार की तरफ से कोर्ट में दिये गये हल्फनामे में सिर्फ एक ही केस का जिक्र है. जिसमें धारा का उल्लेख नहीं है.

संजीव सिंहः दो केस कोर्ट में पेंडिंग है. दोनों केस में चार्ज फ्रेम हो चुका है. लेकिन सरकार के हल्फनामे में धाराओं का जिक्र नहीं है.

जगरनाथ महतोः एक केस कोर्ट में दर्ज है. इनपर 147, 148, 149, 188, 323, 307 और 353 धारा के तहत केस चल रहा है.

सीता सोरेनः एक केस कोर्ट में पेंडिंग है. धारा 427 के तहत केस चल रहा है.

इरफान अंसारीः एक केस कोर्ट में पेंडिंग है. एक पर स्टे लगा हुआ है. एक में पेशी होनी बाकी है. इनपर 147, 148, 325, 379, 506, 384, 379, 323, 341, 385 और 427 धारा के तहत केस चल रहा है.

प्रदीप यादवः दायर सरकारी हल्फनामे के मुताबिक इनपर पांच केस कोर्ट में पेंडिंग हैं. इन पर 147, 148, 1498, 323, 307, 332, 333, 353, 120बी, 224, 505, 117, 34, 42, 188 और 171 धारा के तहत केस चल रहा है.

इसे भी पढ़ें – #Dhullu तेरे कारण: केके साइडिंग के मजदूरों ने कहा- विधायक को रंगदारी देने में ही चला जाता है पैसा

जानें उन्हें जो केस में हो गये हैं बरी

नवीन जायसवालः हटिया विधानसभा क्षेत्र के विधायक नवीन जायसवाल को जगरनाथपुर थाना केस संख्या 178/12 में धर्मेंद्र कुमार की कोर्ट ने बरी कर दिया है.

अमित महतोः पूर्व सिल्ली विधायक को सिल्ली थाना के केस संख्या 48/15 में परमानंद उपाध्याय की कोर्ट में बरी किया जा चुका है.

सरयू रायः पश्चिमी जमशेदपुर के विधायक और सरकार में खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय को रांची के चुटिया थाना के केस संख्या 36/10 में बरी किया जा चुका है.

एनोस एक्काः पूर्व विधायक एनोस एक्का को कर्रा थाना के केस संख्या 24/14 और 29/14 में बरी किया जा चुका है.

शशिभूषण सामाड़ः चक्रधरपुर थाना के केस नंबर 110/15 में बरी कर दिया गया  है.

साधुचरण महतोः चांडिल थाना केस नंबर 155/14 में बरी कर दिया गया है.

देवेंद्र कुमार सिंहः तरहासी थाना केस संख्या 67/14 में बरी कर दिया गया है.

योगेंद्र महतोः रामगढ़ केस संख्या 342/08 में बरी कर दिया गया है.

हेमंत सोरेनः दुमका टाउन थाना केस संख्या 294/14 और 295/15 में बरी किया जा चुका है. बोरियो थाना के केस संख्या 366/14 में भी बरी कर दिया गया है.

लुईस मरांडीः दुमका टाउन थाना केस संख्या 309/14 में बरी कर दिया गया है.

ताला मरांडीः बोरिया नगर थाने के केस संख्या 270/14 में बरी कर दिया गया है.

प्रदीप यादवः गोड्डा थाना केस संख्या 37/17 में बरी कर दिया गया है.

सत्यानंद झाः पूर्व विधायक सत्यानंद झा उर्फ बाटुल को केस संख्या 218/14 में बरी कर दिया गया है.

राज पलिवारः देवघर थाना केस संख्या 245/09 में बरी कर दिया गया है.

रणधीर कुमार सिंहः पालाजोरी केस संख्या 13/10 में बरी कर दिया गया है.

नारायण दासः देवघर थाना में केस संख्या 727/14 में बरी कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – #SupremeCourt में #RamJanmabhoomiBabriMasjid विवाद की सुनवाई पूरी, 23 दिन के भीतर फैसला

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button