Corona_Updates

#Highcourt ने हिंदपीढ़ी में लॉकडाउन तोड़ने के मामले पर लिया संज्ञान

Ranchi: झारखंड हाइकोर्ट ने हिंदपीढ़ी मोहल्ले में लॉकडाउन तोड़ने के मामले पर स्वत: संज्ञान लिया है. अदालत ने झारखंड सरकार के मुख्य सचिव, रांची डीसी और एसएसपी रांची को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. झारखंड हाइकोर्ट के न्यायाधीश संजय कुमार द्विवेदी ने स्थानीय मीडिया में आयी हिंदपीढ़ी मोहल्ले में स्थानीय लोगों द्वारा बैरिकेटिंग तोड़ कर बाहर आने और लॉकडॉन की अवहेलना करने संबंधी खबर पर स्वत: संज्ञान लिया है.

उन्होंने मामले पर स्वतः संज्ञान लेकर इसे जनहित याचिका में बदल कर सक्षम बेंच में सुनवाई के लिए स्थानांतरित करने का निर्देश दिया है. मामले पर 17 अप्रैल को मुख्य न्यायाधीश की डबल बेंच में सुनवाई होगी.

इसे भी पढ़ें – #CoronaVirus : हिंदपीढ़ी में एक और कोरोना पॉजिटिव, झारखंड में कुल 28 लोग हुए संक्रमित

बैरिकेडिंग को लेकर दो गुट के लोग आमने-सामने आ गये थे

Sanjeevani

हिंदपीढ़ी के थर्ड स्ट्रीट के बंगाली चौक पर एक गुट लोगों द्वारा की गयी बैरिकेडिंग को लेकर मंगलवार की सुबह दोनों गुट के लेाग आमने- सामने आ गये थे. दोनों ओर से काफी लोग काफी देर तक हंगामा करते रहे.

एक गुट बैरिकेडिंग को हटाना चाह रहा था, जबकि दूसरा गुट उसका विरोध कर रहा था. काफी देर तक दोनों गुट के बीच तू-तू, मैं-मैं होती रही. बाद एक गुट द्वारा लगायी गयी बांस की बैरिकैडिंग को दूसरे गुट ने तोड़ दिया. सूचना मिलते ही पुलिस वहां पहुंची और दोनों ओर के लोगों को खदेड़ दिया.

बाद में बांस से बनी बैरिकेडिंग को पुलिस द्वारा पूरी तरह हटा दिया गया, वहां रांची पुलिस ने लोहेवाला स्लाइड बैरियर लगा दिया और पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया.

इसे भी पढ़ें – मुंबई और सूरत के बाद अब दिल्ली में बाहर निकले मजदूर, प्रशासन कर रहा शेल्टर होम ले जाने की कोशिश

कई लोगों के ऊपर मामला हुआ था दर्ज

कोरोना पॉजिटिव मरीज को हिंदपीढ़ी से ले जाने के विरोध में सोमवार की देर सैंकड़ों लोग रोड पर आ गये थे. एंबुलेंस को घेर लिया था, एंबुलेंस में तोड़फोड़ की. पुलिसवालों के साथ उलझ गये. काफी देर तक हंगामा करते रहे.  इस मामले में हिंदपीढ़ी थाना में पुलिस के बयान पर 500 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है. उन 500 लोगों पर सरकारी काम में बाधा, महामारी फैलाने का वाहक बनने, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन में बाधक की धारा के तहर प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

इधर मंगलवार की सुबह बंगाली चौक पर बैरिकेडिंग को लेकर दोनों गुट आमने-सामने आ गये थे. इस मामले में दोनों ओर के करीब 60 लोगों पर निषेधाज्ञा तोड़ने, लॉक डाउन के उल्लंघन की धारा के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी थी.

इसे भी पढ़ें – कोरोना की जांच में तेजी लाने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से की है अपील : हेमंत सोरेन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button