Main SliderRanchi

डबल मर्डर मिस्ट्रीः चैनल के लोकेश चौधरी ने लिये थे अग्रवाल ब्रदर्स से पैसे, पैसा लेने निकले थे दोनों भाई सुबह डेड बॉडी मिली

विज्ञापन

Ranchi: रांची के सबसे पॉश इलाके अशोक नगर के साधना न्यूज चैनल (जो कई महीने से बंद चल रहा था) के ऑफिस में दो सगे भाइयों की लाश मिलने के बाद मर्डर को लेकर कई तरह की बातें हो रही हैं. लोगों के बीच पूरे मामले में कहीं ना कहीं चैनल का फ्रेंचाइजी लेनेवाले लोकेश चौधरी का नाम आ रहा था. मौके पर मौजूद रांची जिला के सिटी एसपी के मीडिया बयान के बाद यह साफ होता जा रहा है कि मर्डर किसने और किस वजह से किया है.

इसे भी पढ़ें – सीबीआई अवमानना मामले में प्रशांत भूषण को राहत देने से SC का इनकार, याचिका खारिज  

देखें वीडियो-

advt

“मीडिया से बात करते हुए रांची की सिटी एसपी सुजाता वीणापानी ने कहा कि शाम को लालपुर थाना क्षेत्र से पुलिस को एक मिसिंग की सूचना मिली. सूचना मिलने के बाद लगातार इन दोनों भाइयों (हेमंत अग्रवाल और महेंद्र अग्रवाल) की खोजबीन पुलिस कर रही थी. खोजबीन में इनके परिजनों का साथ भी मिल रहा था. सुबह पुलिस को सूचना मिली की साधना न्यूज चैनल के फ्रेंचाइजी लेनेवाले लोकेश चौधरी ने इन दोनों से पैसे लिए थे और दोनों भाई पैसे मांगने के लिए लोकेश चौधरी के पास ही आए थे. इसी खोजबीन के क्रम में अशोकनगर स्थित न्यूज चैनल के कार्यालय में पुलिस पहुंची. पुलिस ने जब छानबीन की तो उन्होंने देखा कि दोनों भाइयों की डेड बॉडी कार्यालय के एक कमरे में पड़ी है. अभियुक्त लोकेश चौधरी और उनके साथ जो भी साथी रहे होंगे वो फिलहाल फरार चल रहे हैं. उनकी गिरफ्तारी का प्रयास हमलोग कर रहे हैं. आगे जानकारी देते हुए सिटी एसपी ने बताया कि उनकी हत्या गोली मार कर की गयी थी. आस-पास के लोगों ने बताया कि उन्हें बुधवार की शाम को चार गोली चलने की आवाज सुनाई दी थी. एसपी ने बताया कि ये दोनों धनबाद के रहने वाले हैं. लेकिन रांची में लालपुर में रहते थे. दोनों भाई कार्गो का काम करते थे साथ ही सूद पर पैसा लगाने का काम भी किया करते थे.”

इसे भी पढ़ें – पलामूः नक्सली साजिश नाकाम, पलामू-लातेहार सीमा पर मिले पांच सिलेंडर बम

कई लाख रुपये का हुआ था लेनदेन

मामले पर विश्वस्त सूत्रों का कहना है कि लोकेश चौधरी और अग्रवाल ब्रदर्स के बीच पैसे का लेन-देन हुआ था. कई दिनों से अग्रवाल ब्रदर्स लोकेश से अपना पैसा वापस मांग रहे थे. लोकेश हर बार पैसा लौटाने में बहानेबाजी करता था. पैसे को लेकर दोनों पक्षों में कई बार तू-तू मैं-मैं भी हुई है. बताया जा रहा है कि हेमंत और महेंद्र ने लोकेश से बुधवार की शाम को बात की. लोकेश ने उन दोनों को अशोक नगर के बंद पड़े चैनल के कार्यालय में बुलाया. जिसके बाद से ही दोनों भाई गायब चल रहे थे. फरार चल रहे लोकेश चौधरी का साधना न्यूज के साथ कॉन्ट्रक्ट करीब तीन महीना पहले ही खत्म हो गया था. तीन महीने से यहां चैनल का कोई कर्मी आता-जाता नहीं था. बस कभी-कभी लोकेश चौधरी ही यहां आया-जाया करता था.

इसे भी पढ़ें – धनबादः ढुल्लू महतो और एसोसिएशन के बीच कोयला उठाव का विवाद नहीं थम रहा, व्यापारी बोले मनमानी रंगदारी के आगे नहीं झुकेंगे

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button