DhanbadJharkhand

धनबादः ढुल्लू महतो और एसोसिएशन के बीच कोयला उठाव का विवाद नहीं थम रहा, व्यापारी बोले मनमानी रंगदारी के आगे नहीं झुकेंगे

Dhanbad: धनबाद के हार्डकोक उद्यमियों और बाघमारा के विधायक ढुल्लू महतो के बीच कोयला उठाव को लेकर चल रहा विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. इस मुद्दे को लेकर इंडस्ट्रीज एंड कॉमर्स एसोसिएशन की गुरुवार को एक बार फिर से बैठक बुलायी गयी. बैठक में यह निर्णय लिया गया कि जब तक प्रशासन द्वारा गठित उच्च स्तरीय कमिटी की अनुशंसा लागू नहीं होती, कंपनी के क्षेत्र संख्या-1 से लेकर 5 तक की कोलियरियों से लिंकेज के कोयले का उठाव नहीं किया जाएगा. एसोसिएशन के अध्यक्ष बीएन सिंह और वरीय उपाध्यक्ष एसके सिन्हा ने एक सुर से कहा कि कोयला उठाव सुनिश्चित करने और लोडिंग मजदूरों के खाते में मजदूरी भिजवाने की व्यवस्था का जिम्मा बीसीसीएल प्रबंधन का है. इसमें जिला प्रशासन की भूमिका भी अहम है. उन्होंने आगे कहा कि बाघमारा विधायक के प्रभाव वाले क्षेत्र की कनकनी, चैतूडीह और गोविंदपुर की कोलियरी से फारवर्ड ऑक्शन का कोयला नहीं उठाने से उद्यमियों के लगभग 5 करोड़ रुपये फ़ॉरफिट हो जाएंगे. संघ के सदस्य ये क्षति भी बर्दाश्त करने को तैयार हैं, पर मनमानी रंगदारी के आगे झुकेंगे कतई नहीं.

इसे भी पढ़ें – रांचीः साधना न्यूज के दफ्तर में दो सगे भाइयों की लाश मिलने से सनसनी

विधानसभा अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बावजूद संकट बरकरार

उन्होंने कहा कि विधानसभा के अध्यक्ष के हस्तक्षेप के बावजूद उनका संकट बरकरार है. 250 रु प्रति टन लोडिंग की व्यवस्था का क्रियान्वयन नहीं हो रहा है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है. कामचलाऊ व्यवस्था के तहत ये उद्यमी क्षेत्र संख्या 6 से 12 तक की कोलियरियों से कोयले का उठाव करते रहेंगे. वैसे एसोसिएशन के कई लोगों ने विधायक के इलाके से फरवरी माह का आवंटन उठा लिया है. 5 करोड़ के नुकसान की बाबत उन्होंने कोल इंडिया के अध्यक्ष, बीसीसीएल के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक और कोयला सचिव से अपील की है कि उनका अग्रिम सुरक्षा धन किसी हाल में जब्त नहीं किया जाये, क्योंकि वर्तमान हालात के लिए पीड़ित उद्यमी कहीं से कसूरवार नहीं हैं. बैठक में रतन अग्रवाल, अमितेश सहाय, केदार मित्तल, अनिल सांवरिया, जगन सिंह सहित दर्जनों सदस्य शामिल थे.

इसे भी पढ़ें – पलामूः नक्सली साजिश नाकाम, पलामू-लातेहार सीमा पर मिले पांच सिलेंडर बम

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button