JharkhandRanchi

विनोबा भावे विवि के वीसी डॉ मुकुल नारायण देव को चाहिए 24 लाख की इनोवा गाड़ी, आइफोन और नया लैपटॉप

विज्ञापन

Ranchi : भाभा एटोमिक रिसर्च सेंटर से आये विनोबा भावे विवि के नये वीसी डॉ मुकुल नारायण देव को वीसी कार्यालय और आवास नये कलेवर में चाहिए. इसके अलावा जिन चीजों की डिमांड वीसी डॉ एमएन देव ने की है उनमें 24 लाख की इनोवा गाड़ी, नया लैपटॉप और आइफोन भी शामिल है. इनकी खरीदारी जल्द ही की जायेगी. विश्वविद्यालय की वित्त कमिटी ने वीसी डॉ एमएन देव के इस प्रस्ताव पर मुहर भी लगा दी है. खरीदारी के लिए विभिन्न कंपनियों का कोटेशन भी मंगाया जा चुका है.

इसे भी पढ़ें – नेपाल से संबंध बिगड़ने का असर, बांध मरम्मत रोका, बिहार में बाढ़ का खतरा बढ़ा

advt

वीसी आवास में लगेंगे नये पर्दे, खरीदे जायेंगे नये फर्नीचर

गौरतलब है कि नये वीसी डॉ मुकुल नारायण देव ने आने के बाद वित्त समिति की 87वीं बैठक हुई. बैठक में शामिल एक अधिकारी ने बताया कि बैठक में वीसी के लिए उक्त चीजें खरीदने का प्रस्ताव लाया गया. वीसी ने न केवल 24 लाख के इनोवा के टॉप मॉडल लेने को कहा बल्कि वीसी आवास भी रेनोवेट करने को कहा. जिस पर सभी ने सहमति दी. वीसी आवास के साथ-साथ प्रो-वीसी आवास का रेनोवेशन भी कराने का प्रस्ताव पास किया गया है. आवास रेनोवेशन के लिए बजट भी तय किया जा चुका है. जानकारी के मुताबिक आवास की सजावट के लिए आठ लाख रुपये आवंटित किये गये हैं. इस आठ लाख रुपये से पर्दे और फर्नीचर खरीदे जायेंगे. बैठक में शामिल अधिकारी ने बताया कि बैठक होने से पहले ही गाड़ी की कंपनी और मॉडल तय हो चुका है. वीसी डॉ एमएन देव ने इनोवा का अपर मॉडल खरीदने की बात कही है.

इसे भी पढ़ें – दिल्ली में कोरोना के सीरियस केस कम, होम क्वारेंटाइन लोगों को ऑक्सीजन पल्स मीटर देगी सरकार – केजरीवाल

प्रो वीसी को मिलेगी पुरानी गाड़ी

अहम बात यह है कि पूर्व वीसी गुरदीप सिंह के कार्यकाल में ही वीसी के लिए गाड़ी खरीदी गयी थी. इसी गाड़ी का इस्तेमाल पूर्व वीसी डॉ रमेश शरण ने भी किया है. अब फिर से नयी गाड़ी खरीदने का निर्णय लिया गया है. मिली जानकारी के अनुसार बैठक में वीसी और प्रो वीसी दोनों के लिए नयी गाड़ी खरीदने का प्रस्ताव लाया गया था. इस पर प्रो वीसी ने नयी गाड़ी के लिए मना कर दिया. फिर बैठक में निर्णय हुआ कि वीसी के लिए नयी गाड़ी आने के बाद प्रो वीसी वर्तमान में वीसी जिस गाड़ी का इस्तेमाल कर रहे हैं, उसका इस्तेमाल करेंगे. इसके साथ ही बैठक में सभी विभागों के लिए डिजिटल बोर्ड एक महीने के अंदर खरीदे जाने पर भी सहमति बनी.

adv

इसे भी पढ़ें – क्या होगा? धरती की तरफ तेजी से आ रहा ‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’ से तीन गुना बड़ा उल्कापिंड

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close