BusinessJamshedpurJharkhand

Tata Motors : टाटा मोटर्स ने जारी की फाइनेंशियल रिपोर्ट, पैसेंजर व्हीकल कैटेगरी में कंपनी का टर्न अराउंड परफॉर्मेंस, पिछले वित्तीय वर्ष के मुकाबले समेकित राजस्व में 11.5 फीसदी की बढ़ोतरी

Jamshedpur : टाटा मोटर्स लिमिटेड ने 31 मार्च 2022 को समाप्त तिमाही के अपने परिणाम की घोषणा गुरुवार को की. वित्तीय वर्ष 2021-22 की अंतिम तिमाही में कंपनी का समेकित राजस्व 78,439 करोड़ रहा, जो पिछले साल के मुकाबले 11.5 फीसदी ज्यादा है. सबसे ज्यादा बढ़ोतरी पैसेंजर वाहन श्रेणी में 62 फीसदी रही. पिछले साल की अंतिम तिमाही के मुकाबले वाणिज्यिक वाहन की श्रेणी में राजस्व में बढ़ोतरी 29.3 फीसदी और जगुआर लैंड रोवर में 27.1 फीसदी की रही. पिछले वित्तीय वर्ष के मुकाबले इस समेकित वर्ष में पैसेंजर श्रेणी में टाटा मोटर्स का बिजनेस सबसे बेहतर रहा है. पैसेंजर कैटेगरी में समेकित राजस्व बढ़ोतरी 89.8 फीसदी ज्यादा रही. कमर्शियल कैटेगरी में समेकित राजस्व 57.7 फीसदी और जगुआर लैंड रोवर में 7.2 फीसदी राजस्व की बढ़ोतरी हुई है.

टाटा कमर्शियल व्हीकल्स (टाटा सीवी)

टाटा सीवी बिजनेस ने एमएचसीवी सेगमेंट में मजबूत रिकवरी की है. वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही के बाद से कारोबार ने अपना उच्चतम तिमाही राजस्व हासिल किया और सभी खंडों में बाजार हिस्सेदारी बढ़ाई. कमोडिटी मुद्रास्फीति के कारण कम मार्जिन के बावजूद उच्च राजस्व से परिचालन लाभ के कारण चौथी तिमाही में 607 करोड़ के पीबीटी (बीई) पर प्रभाव कम था.

टाटा पैसेंजर व्हीकल्स (टाटा पीवी)

टाटा पीवी बिजनेस ने वित्त वर्ष 2022 की चौथी तिमाही में एक व्यापक टर्न अराउंड दिया, जिसमें उच्चतम तिमाही राजस्व 10.5 करोड़ (+62%) रहा. सकारात्मक ईबीआईटी 1.2 फीसदी और सकारात्मक मुक्त नकदी प्रवाह था. चौथी तिमाही में इलेक्ट्रिक व्हीकल वॉल्यूम बढ़कर 9100 यूनिट हो गया और मार्केट शेयर बढ़कर 13.4 फीसदी हो गया. “न्यू फॉरएवर” रेंज की मजबूत मांग और चुस्त आपूर्ति कार्रवाइयों के चलते मजबूत प्रदर्शन हुआ. भू-राजनीतिक और मुद्रास्फीति संबंधी चिंताओं के बावजूद मांग मजबूत बनी हुई है. आपूर्ति की स्थिति में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है, जबकि कमोडिटी मुद्रास्फीति ऊंचे स्तर पर रहने की संभावना है. हम वर्ष के दौरान प्रदर्शन में सुधार की उम्मीद करते हैं.

वाणिज्यिक वाहनों की स्थित में लगातार सुधार हो रहाः गिरीश वाघ

टाटा मोटर्स कमर्शियल वाह के प्रमुख गिरीश वाघ ने कहा कि भारतीय वाणिज्यिक वाहन क्षेत्र लगातार दो वर्षों तक कोविड से प्रभावित हुआ. वित्त वर्ष 2022 में विकास के आशाजनक संकेत दिखाए, जो अर्थव्यवस्था में लगातार सुधार, बढ़ती औद्योगिक गतिविधि और बाजारों को फिर से खोलने के द्वारा समर्थित है. टाटा मोटर्स में एक समग्र ‘बिजनेस एजिलिटी प्लान’ को जल्दी अपनाने से हमें अपने ग्राहकों, डीलरों और आपूर्तिकर्ताओं के हितों की रक्षा और सेवा करने के साथ-साथ महत्वपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक भागों की वैश्विक कमी सहित आपूर्ति संबंधी चुनौतियों का स्मार्ट तरीके से प्रबंधन करने में मदद मिली. उपभोक्ता भावना में सुधार, ई-व्यवसाय में उछाल, माल ढुलाई दरों में मजबूती, स्कूलों और कार्यालयों को फिर से खोलने और सड़क निर्माण और खनन में उच्च बुनियादी ढांचे के खर्च ने मांग को पुनर्जीवित करने में मदद की. हमने उत्पादन को अनुकूलित किया, नये यात्री और कार्गो गतिशीलता समाधान पेश किए और हर तिमाही में बिक्री में तेजी लायी. हम भारतीय ऑटोमोटिव उद्योग को आकार देने वाले मेगा रुझानों का लाभ उठाने के लिए महत्वपूर्ण अवसर देखते हैं. हम भू-राजनीतिक स्थिति, ईंधन मुद्रास्फीति और अर्धचालक की कमी पर कड़ी नजर रख रहे हैं और जोखिमों को कम करने और अनिश्चितताओं का प्रबंधन करने के लिए अपने ग्राहकों और पारिस्थितिकी तंत्र भागीदारों के साथ मिलकर काम करना जारी रखते हुए आशावादी बने हुए हैं.

टाटा मोटर्स ईवी के लिए ऐतिहासिक वित्तीय साल रहा 2021-22

टाटा मोटर्स पैसेंजर व्हीकल्स लिमिटेड और टाटा पैसेंजर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक शैलेश चंद्र ने कहा कि कोविड, सेमी-कंडक्टर संकट और कमोडिटी की कीमतों में भारी वृद्धि से बाधित एक चुनौतीपूर्ण वर्ष में टाटा मोटर्स ने वित्त वर्ष 2022 को एक ऐतिहासिक वर्ष बनाने के लिए यात्री और इलेक्ट्रिक वाहनों में कई नये रिकॉर्ड बनाए. हमने 22 मार्च को अपनी अबतक की सबसे अधिक वार्षिक, त्रैमासिक और मासिक बिक्री दर्ज की और अपनी बाजार हिस्सेदारी के साथ-साथ कारों और एसयूवी के हर सेगमेंट में जहां हमारी मौजूदगी है, में काफी सुधार करने के लिए नये नेमप्लेट और एस्पिरेशनल वेरिएंट पेश किए. हमने दो सहायक कंपनियों – टाटा मोटर्स पैसेंजर व्हीकल्स लिमिटेड का भी संचालन किया, जो आईसी इंजन और टाटा पैसेंजर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड द्वारा संचालित यात्री वाहनों पर ध्यान केंद्रित करते हुए यात्री ईवी व्यवसाय के विकास में तेजी लाने के लिए और एक निवेशक के रूप में टीपीजी राइज क्लाइमेट के साथ इसके सक्षम पारिस्थितिकी तंत्र पर ध्यान केंद्रित करते हैं. आगे बढ़ते हुए हमारी ‘न्यू फॉरएवर’ रेंज की मांग मजबूत बनी हुई है. भले ही सेमी-कंडक्टर की स्थिति और आपूर्ति पक्ष की चुनौतियां अनिश्चित बनी हुई हैं.

ये भी पढ़ें- टीवी नरेन्द्रन की जगह सीआईआई के नये अध्यक्ष होंगे बजाज फिनसर्व के चेयरमैन और एमडी संजीव बजाज

Advt

Related Articles

Back to top button