Crime NewsJharkhandRanchi

रांची : पुलिस के लिए सिरदर्द बना चड्डी बनियान गिरोह, एक घटना के खुलासे के पहले ही घट जाती है दूसरी घटना

Saurav Singh

Ranchi : राजधानी में इन दिनों चड्डी बनियान गिरोह पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बन गयी है. ये गिरोह राजधानी रांची में एक के बाद एक डकैती की बड़ी घटनाओं का अंजाम दे रहा है. एक डकैती की घटना का खुलासा पुलिस कर भी नहीं पाती है, तबतक ये गिरोह दूसरी घटना को अंजाम दे देता है.

राजधानी में घटित डकैती की ज्यादातर घटनाओं के पीछे चड्डी-बनियान गिरोह का हाथ सामने आया है. यह गिरोह बेहद खूंखार माना जाता है और देश के कई राज्यों में घूम-घूमकर डकैती की घटनाओं को भी अंजाम देता रहता है.

इसे भी पढ़ें –बकरी बाजार, महेश पोद्दार, सीपी सिंह, हेमंत सोरेन, फिर सरयू राय व मैनहर्ट और अब सब चुप

जानिए कौन है चड्डी-बनियान गिरोह

देश में खूंखार माना जाने वाला चड्डी बनियान गिरोह लूट और हत्या जैसे गंभीर अपराधों के लिए जाना जाता है. यह गिरोह रात के अंधेरे में चड्डी बनियान पहनकर अपने मुंह पर कपड़ा बांधकर लूट और चोरी की वारदात को अंजाम देता है.

वहीं जब भी वारदात के दौरान लोग इस गिरोह का विरोध करते हैं, तो ये अपराधी उनकी जान ले लेते हैं या घायल कर देते हैं. यह गिरोह घटना को अंजाम देते वक्त समूह में ही रहते है. जिसमें कम से कम 8-10 अपराधी शामिल रहते हैं.

भीख मांगने और समान बेचने के बहाने करते हैं रेकी

जानकारी के अनुसार, चोरी, लूट और डकैती की घटना का अंजाम देने वाले चड्डी बनियान गिरोह के सदस्य दिन में भीख मांगने का काम करते हैं. साथ ही सामान बेचने के बहाने घरों में रेकी करते हैं. इसके बाद रात में उन्हीं घरों में चोरी की घटना को अंजाम देते हैं.

इस गिरोह के सदस्य घरों का ताला तोड़कर या शटर काटकर भी घर में प्रवेश करते हैं और घटना को अंजाम देते हैं. साथ ही कई बार तो घर के लोगों को अपने कब्जे में लेकर भी लूट की घटना को अंजाम देते हैं और आसानी से फरार हो जाते हैं.

इसे भी पढ़ें –पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी के जमीन मामले की समीक्षा करेंगे आयुक्त

इन घटनाओं को गिरोह ने दिया अंजाम

16 सितंबर 2018: पिठोरिया थाना के छोटकी कुम्हरिया में राजकुमार सिंह के घर में देर रात नौ की संख्या में आये इस गिरोह के अपराधियों ने परिवार के सभी सदस्यों को हथियार के बल पर एक कमरे में बंद कर दिया. उसके बाद 7 लाख रुपए की डकैती कर फरार हो गये. इस मामले में भी डकैती करने वाले अपराधियों का अब तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है ना ही पुलिस को कोई सफलता हाथ लगी है. इस घटना के पीछे चड्डी बनियान गिरोह का हाथ सामने आया था.

10 नवंबर 2018: चड्डी बनियान गिरोह के अपराधियों ने नामकुम के सिदरौल निवासी गौरी शंकर शाह के घर में लूटपाट की थी. यहां घर के लोगों की बुरी तरह से पिटाई कर डकैत करीब 10 लाख के जेवरात और नकद लूट लिए थे. अब तक अपराधी पुलिस की पकड़ से दूर हैं.

9 फरवरी 2019:  चुटिया थाना क्षेत्र के अनंतपुर में दीपक घोष के घर रात के करीब 3 बजे हथियारबंद डकैतों ने 7 लाख की डकैती को अंजाम दिया. पिस्टल, चाकू से लैस होकर चार डकैत ग्रिल तोड़कर घर में दाखिल हुए और घर के लोगों को बंधक बनाकर घटना को अंजाम दिया. इस मामले में पुलिस को अब तक अपराधियों की तलाश में है.

18 जुलाई 2019:   देर रात गिरोह के आधा दर्जन सदस्यों ने कांके थाना क्षेत्र के अरसंडे रोड, ए/4 कृषि बिहार कॉलोनी में रहनेवाले बीएयू के रिटायर्ड प्रोफेसर स्व. डॉ आइपी शर्मा के घर में लूट की.  बदमाशों ने उनकी पत्नी चंद्रकला शर्मा को पीटकर लहूलुहान कर दिया. घर से करीब 10 लाख रुपये के सोने के जेवरात, नकदी व जरूरी कागजात लूट लिये. इस घटना के पीछे भी चड्डी बनियान गिरोह का हाथ सामने आया है.

इसे भी पढ़ें –  गुमला : अंधविश्वास के चक्कर में चार लोगों की पीट-पीटकर हत्या, पुलिस के हाथ खाली

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close