JharkhandMain SliderRanchi

पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी के जमीन मामले की समीक्षा करेंगे आयुक्त

Ranchi : पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय ने 51 डिसमिल जमीन ली है. वह प्लॉट गैरमजरुवा नेचर का है. वह कांके अंचल के हल्का-03, चामा मौजा के खाता संख्या-87 और प्लॉट संख्या-1232 है. इस मामले को लेकर जांच रिपोर्ट देने को कहा गया था. लेकिन अब तक जांच रिपोर्ट राजस्व, निबंधन एवं भूमि-सुधार विभाग को नहीं मिली है.

इसे भी पढ़ें- Police Housing Colony: सरकारी लैंड बैंक में है पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडये की जमीन

गौरतलब है कि विभाग ने जांच रिपोर्ट उपायुक्त से मांगी थी. लेकिन अभी तक ना तो रिपोर्ट भेजी गयी है और ना ही बंदोबस्ती रद्द करने की अनुशंसा की गयी है.

इसे भी पढ़ें – डीजीपी की पत्नी ने ली जमीन तो खुल गया टीओपी और ट्रैफिक पोस्ट, हो रहा पुलिस के नाम व साइन बोर्ड का इस्तेमाल

विभाग ने जांच को लेकर आयुक्त को लिखा पत्र

विभाग ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए दक्षिणी छोटानागपुर के आयुक्त को पत्र लिखकर पूरे मामले की समीक्षा करने की बात कही थी. पत्र में कहा गया था कि वे खुद इस मामले को देखें और इसकी मॉनिटरिंग करें.

इसे भी पढ़ें- Police Housing Colony: पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी पूनम पांडेय की जमीन की CBI जांच को लेकर PIL

विभाग ने आयुक्त से इस मामले की जांच विशेष एजेंसी से भी कराने की बात कही थी. विभाग ने कहा था कि अगर आयुक्त को इस बात की जरूरत महसूस होती है तो वे जिला स्तर पर गयी  जांच के अलावा वे किसी और विशेष एजेंसी से भी जांच करा सकते हैं.

adv

इसे भी पढ़ें – डीजीपी डीके पांडेय ने पत्नी के नाम पर खरीदी 51 डिसमिल जीएम लैंड!

उपायुक्त ने दिये थे जांच के आदेश

दो जून को जमीन मामले की जांच को लेकर रांची के उपायुक्त राय महिमापत रे ने आदेश दिया था. उन्होंने अपने आदेश में पुलिस हाउसिंग कॉलोनी की पूरी जमीन की जांच कर रिपोर्ट मांगी थी. इसकी जिम्मेदारी उन्होंने एलआरडीसी मनोज कुमार रंजन और कांके के सीओ अनिल कुमार को दी थी.

इसे भी पढ़ें – Police Housing Colony: DGP डीके पांडे की पत्नी ने पहले करायी फर्जी तरीके से जमीन की रजिस्ट्री फिर म्यूटेशन

क्या है आरोप

सरकारी कागजात में यह जमीन गैरमजरुवा नेचर की है. आरोप है कि इस गैरमजरुवा जमीन की रजिस्ट्री और म्यूटेशन करा कर रैयती प्लॉट में तब्दील कर दिया गया.

जमीन की रजिस्ट्री और म्यूटेशन तब हुई है, जब झारखंड के डीजीपी के पद पर डीके पांडेय पदस्थापित थे. रजिस्ट्री और म्यूटेशन 2018-19 के वित्त वर्ष में हुआ है.

इसे भी पढ़ें- NEWS WING IMPACT: DC रांची ने बनायी पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी की जमीन जांचने के लिए कमेटी,…

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: