JharkhandMain SliderRanchi

NEWS WING IMPACT: DC रांची ने बनायी पूर्व DGP डीके पांडेय की पत्नी की जमीन जांचने के लिए कमेटी, मंत्री ने कहा-कोई भी हो कानून से ऊपर नहीं

Akshay/Pravin

Ranchi: कांके रिंग रोड के पास जीएम लैंड पर बन रही Police Housing colony की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. रांची के डीसी राय महिमापत रे ने न्यूज विंग की खबरों पर संज्ञान लेते हुए जांच के लिए एक कमेटी बनायी है. इस कमेटी में एलआरडीसी मनोज कुमार रंजन और कांके के सीओ अनिल कुमार शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें – डीजीपी की पत्नी ने ली जमीन तो खुल गया टीओपी और ट्रैफिक पोस्ट, हो रहा पुलिस के नाम व साइन बोर्ड का इस्तेमाल

डीसी रांची राय महिमापत रे ने न्यूज विंग को बताया कि कुछ ही देर में लिखित आदेश निकाला जायेगा. कमेटी को जल्द से जल्द जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है. बताते चलें कि जिला रांची, अंचल का नाम कांके, हल्का-03 और मौजा चामा, खाता संख्या 87 और प्लॉट संख्या 1232, कुल जमीन 50.90 डिममिल, इस भूखंड की खरीद पूनम पांडेय यानी झारखंड के पूर्व डीजीपी डीके पांडेय की पत्नी के नाम पर की गयी है.

इसे भी पढ़ें – मोदी सरकार ने शहीदों के बच्चों की बढ़ायी स्कॉलरशिप और रघुवर सरकार ने पुलवामा शहीदों को ठगा

सरकारी कागजात में यह जमीन गैरमजरुवा नेचर की है. आरोप है कि इस गैरमजरुवा जमीन की रजिस्ट्री और म्यूटेशन करा कर रैयती प्लॉट में तब्दील कर दिया गया. जमीन की रजिस्ट्री और म्यूटेशन तब हुई है, जब झारखंड के डीजीपी के पद पर डीके पांडेय पदस्थापित थे. रजिस्ट्री और म्यूटेशन 2018-19 के वित्त वर्ष में हुआ है.

इसे भी पढ़ें – ऑनलाइन म्यूटेशन सिस्टम के बाद भी 37500 मामले लंबित, सेवा देने की गारंटी नियमावली 2011 में शामिल है दाखिल खारिज

एक साल से बन रही है कॉलोनी, मंत्री जी अब कह रहे कानून से कोई ऊपर नहीं

एक साल से कांके स्थित चामा में जीएम लैंड पर पुलिस हाउसिंग कॉलोनी बनायी जा रही है. कॉलोनी को बाकायदा बाउंडरी से घेरा जा रहा है. खाता नंबर 87, प्लॉट नंबर 1232 जो एक जीएम लैंड है, उस पर पूर्व डीजीपी डीके पांडेय का आलीशान बंगला बन कर लगभग तैयार है.

इसे भी पढ़ें – डीजीपी डीके पांडेय ने पत्नी के नाम पर खरीदी 51 डिसमिल जीएम लैंड!

पुलिस की मन मर्जी देखिए कि उस हाउसिंग कॉलोनी के लिए एक पुलिस पिकेट भी वहीं खोल दिया जाता है. कहा जाता है कि पिकेट लॉ कॉलेज के लिए है. जबकि लॉ कॉलेज रिंग रोड के दूसरी तरफ है और प्रशासन या विभाग को इस बात की भनक नहीं लगती.

इसे भी पढ़ें – Police Housing Colony: DGP डीके पांडे की पत्नी ने पहले करायी फर्जी तरीके से जमीन की रजिस्ट्री फिर म्यूटेशन

मामले पर जब भू राजस्व विभाग के मंत्री अमर बाउरी से न्यूज विंग ने बात की तो उन्होंने कहा कि “जी आपने अभी मुझे अभी बताया है, मैं बाहर हूं. मंगलवार को लौटूंगा. लौट कर मामले को देखता हूं. लेकिन इतना तय है कि अगर किसी ने कानून का उल्लंघन किया है तो उस पर कार्रवाई होगी. आपने जानकारी दी है. अब जरा हमलोगों को भी एक बार मामले को अच्छी तरह से देखने दीजिए.”

जानिए उन नामों को भी जिन्होंने कराया फर्जी तरीके से रजिस्ट्रेशन और म्यूटेशन

नीचे दिये गये नाम, खाता नंबर 87 से जमीन खरीदने का दावा कर रहे हैं. बाकायदा फर्जी तरीके से रजिस्ट्रेशन और म्यूटेशन करा कर उस जमीन को रैयती बना चुके हैं. जबकि यह खाता ही जीएम लैंड है. जो जमीन न तो खरीदी जा सकती है और न ही बेची जा सकती है.

इसे भी पढे़ं – झारखंड : पिछले तीन सालों में सब्जियों की उपज घटी, 3.54 से 149 मीट्रिक टन तक की गिरावट

इन नामों से सिस्टम में हुए एक बड़े घोटाले का खुलासा होता है

1). अमोद कुमार, पिता राम नारायण शर्मा

2). पूनम पांडेय, पति डीके पांडेय

3). सुलभा सिंह, पति शशि शेखर

4) मंजुला प्रभा, पति धीरेंद्र कुमार सिंह

5) शोभा सिंह, पति किशोर चंद्रा

6) शिव शंकर प्रसाद शर्मा, पिता कमलेश्वर प्रसाद शर्मा

7) अंजना नारायण, पति कुमार सुधाकर नारायण

8) माधवी सिंह, शिव शंकर सिंह

9) ब्रिजेंद्र कुमार सिंह, चंद्रेश्वर सिंह

10) तलकेश्वर राम, जगलाल राम

11) उमरावती देवी, पति बर्मा दयाल

12) उमरावती देवी, पिता बर्मा दयाल

13) गायत्री देवी, त्रिपुरारी सिंह

14) रक्षिका सिंह, ब्रजेश कुमार सिंह

15) आशा देवी, अनिल कुमार सिंह

16) भावना मिश्रा, संजय कुमार मिश्रा

17) अनुपमा देवी, पिता श्याम दास सिंह

इसे भी पढ़ें – सोनिया गांधी कांग्रेस संसदीय दल की नेता चुनी गयीं, कहा, वह हर भारतीय के लिए लड़ेंगी 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close