Jharkhand Vidhansabha Election

अगर कोई बेईमानों का खास है, तो वह रघुवर दास हैः आरपीएन सिंह

  • कांग्रेस की जनआक्रोश रैली में वादों की झड़ी, कहा- हर घर में एक नौकरी नहीं तो देंगे भत्ता
  • महाराष्ट्र में 220, हरियाणा में 75 पार का दावा फेल, झारखंड में 25 पार नहीं करेगी बीजेपी

Ranchi : कांग्रेस की प्रमंडलीय जन आक्रोश रैली में कार्यकर्ताओं को एकजुट करने का आह्वान करते हुए प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने रघुवर सरकार को घोटालों की सरकार बताया.

2014 के बीजेपी मैनिफेस्टो की याद दिलाते हुए उन्होंने कहा कि 24 घंटे बिजली देने के वादों को रघुवर सरकार पूरा नहीं कर पायी है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

आरपीएन सहित कांग्रेसी नेताओं ने वादों की झड़ी लगा दी. आरपीएन ने दावा किया कि सरकार बनने पर हर घर में एक युवा को कांग्रेस पार्टी नौकरी देगी. अगर नौकरी नहीं होगी, उसे भत्ता देगी, ताकि राज्य का कोई व्यक्ति भूखा न सोये.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें – #PoliticalGossip: लीजिए अब ई कौन कह रहा है कि कांग्रेस को जेएमएम ने थमा दी है 17 सीटों की लिस्ट!

वहीं प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने कहा कि कांग्रेस की सरकार सत्ता में आयी, तो किसानों के कर्ज माफ होने के साथ अगले छह माह में सभी रिक्त सरकारी पदों को भरने का काम कांग्रेस पार्टी करेगी.

कांग्रेस की जन आक्रोश रैली के मंच पर कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने अपनी उपस्थित दर्ज करायी. इसमें प्रदेश प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष के अलावा राज्य सभा सांसद धीरज साहू, चाईबासा सांसद गीता कोड़ा, विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, कोलेबिरा सांसद विक्सल कोंगाड़ी, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, पूर्व मंत्री ददई दुबे, पूर्व मेयर रमा खलखो, गीताश्री उरांव, अजय लाल नाथ शाहदेव, सहित कई नेता शामिल थे.

25 पार भी नहीं होने देगी झारखंड की जनता

रघुवर दास सरकार पर घोटालों का आरोप लगाते हुए आरपीएन सिंह ने कहा कि 21वीं सदी में जन आशीर्वाद रैली में सीएम जनता से आशीर्वाद मांगने की जगह कांग्रेस के खिलाफ भद्दे-भद्दे शब्दों का उपयोग करते हैं.

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने तो यहां तक कह दिया है कि छत्तीसगढ़ में तो सीएम रघुवर दास जैसे लोग नहीं होते हैं. कम से कम वे छतीसगढ़ का नाम बर्बाद न करें.

उन्होंने दावा कि महाराष्ट्र में 220 पार, हरियाणा में 75 पार के दावे में असफल रहनेवाली बीजेपी को झारखंड की जनता 25 पार भी नहीं होने देगी.

रघुवर सरकार पर भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए आरपीएन सिंह ने कहा कि आज रघुवर सरकार के मंत्री ही मुख्यमंत्री पर घोटले का आरोप लगाते हैं.

इसमें कंबल घोटाला, खाद्धान घोटाला, पहले ही दिन चूहों द्वारा डैम को कुतर जाने का घोटाला विशेष रूप से शामिल है. कहा, कि अगर कोई बेईमानों का खास है, तो वह रघुवर दास है.

रोजगार नहीं मिलने से हताश हैं युवा

उन्होंने कहा कि सीएम दास की सरकार ने पिछले पांच सालों में पारा शिक्षकों, आंगनबाड़ी सेविकाओं, युवाओं को छलने का काम किया है.

उनके गृह जिले जमशेदुपर से लेकर आदित्यपुर, बोकारो, डालटनगंज, संथाल क्षेत्र तक के युवा आज रोजगार नहीं मिलने से हताश हैं.

कांग्रेस सरकार को गरीबों की पार्टी बताते हुए आरपीएन ने कहा कि पार्टी की सरकार में गरीबों को 35 किग्रा अनाज मिलता था, आज बीजेपी सरकार में 5 किग्रा.

इसी तरह 5 लीटर मिट्टी का तेल (प्रति लीटर 17 रुपये) मिलता था, जबकि आज गरीबों को डेढ़ लीटर (55 रुपये प्रति लीटर) मिलता है. ऐसे में रघुवर दास किस आधार पर जनता से आशीर्वाद मांगने का दावा करते हैं.

एडवांस में घूस लेने का प्रचलन काफी बढ़ा है रघुवर सरकार में : रामेश्वर उरांव

जनआक्रोश रैली के मुद्दों की बात करते हुए प्रदेश अध्य़क्ष रामेश्वर उरांव ने कहा कि पांच साल में रघुवर दास ने विकास का कोई काम नहीं किया है.

इनकी सरकार में एडवांस में घूस लेने का प्रचलन काफी बढ़ गया है. लोहरदगा जिले के एक प्रखंड (नाम नहीं बताते हुए) में घटी घटना का जिक्र करते हुए कहा कि वहां के ब्लॉक में एक कर्मचारी किसी काम के लिए 1000 रुपये घूस लेता है.

इसे भी पढ़ें – सीएम के कार्यक्रम में स्कूली बच्चों को भाजपा की टोपी और अंगवस्त्र पहनाने के खिलाफ अज्ञात पर केस दर्ज

अगर 2000 रुपये का नोट दिया जाता है, तो वह कर्मचारी कहता है कि आगे भी तो काम के लिए ब्लॉक आना होगा, तब एडजस्ट कर लीजिए.

प्रदेश अध्य़क्ष ने कहा कि गांव में विकास का नाम कोसों दूर है. राज्य में 28 प्रतिशत आदिवासी हैं, लेकिन उनका आक्रोश अपना जमीन को लेकर है.

बीजेपी सरकार ने सीएऩटी एक्ट को तोड़ कर आदिवासी जमीनों को लूटने का काम किया है. एक स्थानीय अखबार का जिक्र करते हुए प्रदेश अध्य़क्ष ने कहा कि सीएम की रैली में बच्चों को बीजेपी का पट्टा पहना कर खड़ा किया जाता है. इसी को देखते हुए सीएम दास पर एक एफआइआर दर्ज किया गया है.

आंदोलनरत जनता की बीजेपी को नहीं है चिंता

मंच से पारा शिक्षकों की मांगों को उठाते हुए सीएलपी नेता आलमगीर आलम ने कहा कि 90 दिनों में स्थायीकरण की बात करनेवाली रघुवर सरकार ने इनके साथ कई युवाओं को छला है.

किसान आज आत्महत्या कर रहे हैं, सेविकाएं अपनी मांगों को लेकर हमेशा से आंदोलनरत हैं. लेकिन रघुवर सरकार को इसकी चिंता नहीं है.

सांसद धीरज साहू ने कहा कि राज्य गठन के बाद से 17 साल तक सत्ता में रहनेवाली बीजेपी ने राज्य को केवल लूटा है, जो आज भी निरंतर जारी है.

बेरोजगारी का आलम यह है कि रोजगार की तलाश में युवा लगातार पलायन कर रहे हैं. सुबोधकांत ने कहा कि रघुवर सरकार में बड़कागांव का बेटा योंगेद्र साव चार सालों से जेल में है.

जनता काफी परेशान है. लोग बीजेपी सरकार से मुक्ति चाहते हैं. सुबोधकांत ने आम लोगों से अपील करते हुए कहा कि सीएम रघुवर दास को ऐसी चोट दी जाये कि झारखंड और छत्तीसगढ़ क्या, उससे भी बाहर चले जायें.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection2019: कौन होगा हटिया और रांची से बीजेपी का उम्मीदवार, हो रही लॉबिंग, रोज ही कट और जुड़ रहे नाम

Related Articles

Back to top button