JharkhandRanchi

राज्यसभा चुनाव के लिए CM हेमंत ने सुदेश से मांगा समर्थन, कहा- राज्य निर्माण में आजसू ने भी किया है काफी संघर्ष

Ranchi: राज्यसभा चुनाव को लेकर प्रत्याशियों के समर्थन को लेकर नेताओं का आपस में मिलने का दौर लगातार जारी है. बीते मार्च को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने निर्दलीय विधायक सरयू राय से मिले थे. राज्यसभा की खाली हुई दो सीटों में बीजेपी ने दीपक प्रकाश को अपना उम्मीदवार बनाया है. बीजेपी प्रत्याशी दीपक प्रकाश ने उनसे बीजेपी के पक्ष में वोट करने की अपील की थी.

अब मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो से मंगलवार को मुलाकात की है. सुदेश से मिलने सीएम स्वंय उनके आवास पहुंचे थे. बताया जा रहा है कि मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं के बीच राज्यसभा चुनाव से जुड़ी बातों पर चर्चा की. इस दौरान सुदेश ने राज्यसभा चुनाव के लिए हेमंत से समर्थन भी मांगा.

उन्होंने कहा कि झारखंड राज्य निर्माण के लिए आजसू ने भी काफी संघर्ष किया है. दो सीटों में एक पर जेएमएम ने शिबू सोरेन को उम्मीदवार बनाया है. हालांकि गुरूजी के जीत के लिए जितने विधायकों की जरूरत है, वहां जेएमएम के पास है. लेकिन कांग्रेस ने दूसरे सीट के लिए शहजादा अनवर को उम्मीदवार बनाया है. ऐसे में राज्यपसभा चुनाव 2020 के लिए झारखंड में दो सीटों पर हो रहा चुनाव खासा रोचक हो गया है.

इसे भी पढ़ें- सात मामले जिनमें पुलिस ने साजिश कर निर्दोषों को भेजा जेल

एक आंदोलनकारी ही दूसरे आंदोलनकारी की बातों को समझ सकता है: CM

सुदेश के आवास से बाहर निकलने के बाद सीएम ने कहा कि झारखंड राज्य निर्माण में आजसू ने भी काफी संघर्ष किया है. चुनाव में गुरूजी भी जेएमएम की तरफ से उम्मीदवार बनाये गये हैं. उन्होंने कहा कि एक आंदोलनकारी ही दूसरे आंदोलनकारी की बातों को समझ सकता है.

इन्हीं सब बातों को लेकर उन्होंने सुदेश महतो से चर्चा की. हालांकि कयास यह भी लगाया जा रहा है कि हेमंत ने मुलाकात के दौरान आजसू से कांग्रेस उम्मीदवार के पक्ष में वोट देने की भी बात कही.

इसे भी पढ़ें- आएगा वही क्योंकि…

दूसरे पर बीजेपी की जीत मानी जा रही है पक्की

बता दें कि दो सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं. इसमें एक सीट पर जेएमएम प्रत्याशी (शिबू सोरेन) गुरूजी की जीत पक्की है. जेएमएम के पास अभी 29 विधायक है. कांग्रेस के पास 15 विधायक है. प्रदीप यादव, बंधु तिर्की, आरजेडी, माले, एनसीपी का समर्थन कांग्रेस के पास है. एनडीए के पास करीब 30 वोट है.

इसमें बीजेपी 26 (बाबूलाल के बाद), आजसू के 2, निर्दलीय 02 (सरयू राय, अमित) शामिल हैं. दूसरे सीट के लिए कुल 27 विधायकों की जरूरत है. ऐसे में बीजेपी प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित मानी जा रही है.

इसे भी पढ़ें- सुशांत सिंह सुसाइड केस: द अनटोल्ड स्टोरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button