न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सरयू राय भले ही बीजेपी के सदस्य नहीं, लेकिन अब भी हैं विधायक और मंत्री

1,561

Ranchi:  झारखंड 2019 के चुनाव में अगर कोई सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोर रहा है, तो वो हैं बीजेपी के बागी और मुख्यमंत्री रघुवर दास के प्रतिद्वंद्वी सरयू राय. पार्टी की तरफ से टिकट देने में देरी होता देख सरयू राय ने 17 नवंबर को ऐलान किया था कि बीजेपी अपना टिकट अपने पास रखे. पार्टी ने जिसे झारखंड में जीत का प्रतीक बनाया है, वो उसी के लिए खिलाफ चुनाव लड़ेंगे.

इसे भी पढ़ें – #EconomySlowdown: ऑटो सेक्टर में जारी है मंदी, पिछले महीने कार में 11% और टू-व्हीलर में 15 % की गिरावट

Sport House

इतना कहने के बाद उन्होंने अपने मंत्री पद का इस्तीफा राज्यपाल को भेज दिया और विधायक पद का इस्तीफा विधानसभा स्पीकर को भेज दिया. इस्तीफा भेजे जाने के बाद उन्होंने पूर्वी जमशेदपुर से चुनाव लड़ा. मतदान खत्म होते ही सरयू राय को बीजेपी ने पार्टी की तरफ से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया.

इसे भी पढ़ें – क्या रघुवर दास के लिए नरेंद्र मोदी का नजरिया बदल रहा है?

राज्यपाल और स्पीकर ने नहीं किया है इस्तीफा मंजूर

सरयू राय अपने चुनाव के बाद गोमिया सीट से निर्दलीय उम्मीदवार माधव लाल सिंह के प्रचार के लिए गोमिया में हैं. उन्होंने फोन पर न्यूज विंग से बात करते हुए बताया कि उनका दिया हुआ इस्तीफा न ही राज्यपाल ने और न ही विधानसभा स्पीकर ने अभी तक मंजूर नहीं किया है. ऐसे में वो अब भी मंत्री हैं और विधायक भी. सरयू राय ने कहा कि उन्होंने राज्यपाल से समय लिया है.

Vision House 17/01/2020

गुरुवार को वो उनसे मुलाकात कर उनके इस्तीफे को मंजूर करने को लिए आग्रह करेंगे. वहीं विधानसभा स्पीकर से भी मिल कर वो इस्तीफा मंजूर करने को कहेंगे.

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection: तीसरे चरण में झाविमो, आजसू के मुखिया, दो मंत्री और पांच दलबदलुओं की किस्मत का होगा फैसला

SP Deoghar
Mayfair 2-1-2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like