न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#EconomySlowdown: ऑटो सेक्टर में जारी है मंदी, पिछले महीने कार में 11% और टू-व्हीलर में 15 % की गिरावट

979

New Delhi: ऑटो सेक्टर से राहत की खबर फिलहाल नहीं मिल रही. इस क्षेत्र में आर्थिक सुस्ती का दौर जारी है. घरेलू बाजार में मांग में कमी और बिक्री में गिरावट जारी है.

घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री नवंबर में 0.84 प्रतिशत की मामूली गिरावट के साथ 2,63,773 इकाई रह गई. जबकि नवंबर, 2018 में यात्री वाहनों की बिक्री 2,66,000 इकाई रही थी.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इसे भी पढ़ेंः#CitizenshipAmendmentBill : राहुल ने कहा, यह संविधान पर हमला है,  इसका समर्थन करना भारत की बुनियाद को नष्ट करने का प्रयास होगा

कार की बिक्री में करीब 11 फीसदी गिरावट

भारतीय वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम (सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स -SIAM) के आंकड़ों के अनुसार, नंवबर महीने में घरेलू बाजार में कारों की बिक्री 10.83 प्रतिशत की गिरावट के साथ 1,60,306 इकाई रह गई, जो नवंबर, 2018 में 1,79,783 इकाई रही थी.

इसी तरह मोटरसाइकिलों की बिक्री भी 14.87 प्रतिशत की गिरावट के साथ 8,93,538 इकाई रह गई, जो एक साल पहले समान महीने में 10,49,651 इकाई रही थी.

Related Posts

#Delhi_ Violence : जांच के लिए दो एसआइटी का गठन,  आप पार्षद ताहिर हुसैन पर एफआइआर दर्ज, फैक्ट्री सील

दिल्ली हिंसा की जांच के लिए विशेष जांच टीम (एसआईटी) का गठन किया गया है.  दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के तहत दो एसआईटी का गठन किया गया है.

नवंबर में दोपहिया की कुल बिक्री भी 14.27 प्रतिशत घटकर 14,10,939 इकाई रह गई, जो इससे पिछले वर्ष की समान अवधि में 16,45,783 इकाई रही थी.

इसी तरह कर्मशियल गाड़ियों की बिक्री 14.98 प्रतिशत घटकर 61,907 इकाई रह गई. नवंबर महीने के दौरान विभिन्न श्रेणियों में वाहनों की बिक्री 12.05 प्रतिशत घटकर 17,92,415 इकाई रह गई, जो नवंबर, 2018 में 20,38,007 इकाई रही थी.

क्यों है ऑटो सेक्टर में मंदी

ऑटो सेक्टर में मंदी का दौर लगातार जारी है. बिक्री में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है, एक्सपर्ट का मानना है कि कंपनियां अपने वाहनों को सरकार के निर्देशानुसार नए BS-6 उत्सर्जन मानक के अनुसार, अपडेट करने में बिजी है. ऐसी हालात में ज्यादातर ग्राहक नए मॉडलों का इंतजार कर रहे हैं. इसका असर भी बिक्री पर पड़ रहा है.

इसे भी पढ़ेंःरांची: 4 सालों से निगम में जमी हैं किरण कुमारी, मामले पर चुनाव आयोग ने नगर आयुक्त से मांगा जवाब

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like