HEALTHJharkhandRanchi

रिम्स पढ़ायेगा क्रिटिकल केयर इको कार्डियोग्राफी का पाठ, 8 जनवरी को वर्कशॉप

Ad
advt

Ranchi : राज्य के सबसे बड़े हॉस्पिटल रिम्स में अब डॉक्टरों को क्रिटिकल केयर का पाठ पढ़ाया जायेगा. इसके लिए अगले महीने 8 जनवरी को क्रिटिकल केयर इकोकार्डियोग्राफी वर्कशॉप का आयोजन किया जा रहा है. जहां क्रिटिकल केयर मेडिसीन व ट्रामा सेंटर इंचार्ज डॉ प्रदीप भट्टाचार्या डॉक्टरों को क्रिटिकल केयर के बारे में बतायेंगे. वहीं इस बार वर्कशॉप का थीम क्रिटिकल केयर इको कार्डियोग्राफी है.

जिससे इमरजेंसी में आनेवाले मरीजों की जान कैसे बचायी जा सकेगी इसके बारे में बताया जायेगा. साथ ही यह भी जानकारी दी जायेगी कि इस टेस्ट से कौन-कौन सी समस्याओं का पता लगाया जा सकेगा.

advt

इसे भी पढ़ें:बेचना था सोफा, गलती से बच्चे को सेल के लिए डाल गई मां, जानें फिर क्या हुआ?

मरीज के हार्ट का मिलेगा स्टेटस

हाल के दिनों में लंग्स से जुड़ी समस्याएं काफी बढ़ गयी हैं. लेकिन लंग्स के कारण लोगों का हार्ट भी कमजोर हो जाता है. ऐसे में यह जानना डॉक्टरों के लिए बहुत जरूरी है कि मरीज के हार्ट की क्या स्थिति है.

advt

जिसका पता केवल इको कार्डियोग्राफी से ही लगाया जा सकता है. वहीं डॉक्टरों के लिए भी मरीज का इलाज करना आसान हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें:सीएम हेमंत सोरेन की पहल पर 16 श्रमिकों को मिली बंधुआ मजदूरी से मुक्ति

बाहर के डॉक्टर भी होंगे शामिल

रिम्स में होनेवाले वर्कशॉप में हॉस्पिटल के डॉक्टर पार्टिसिपेट करेंगे. इसके अलावा बाहर के डॉक्टरों के लिए भी इसमें शामिल होने का मौका है. रजिस्ट्रेशन भी शुरू कर दिया गया है.

जहां डॉक्टरों को यह बताया जायेगा कि क्रिटिकल केयर में आनेवाले मरीजों के लिए प्राइमरी टेस्ट के तौर पर इको कार्डियोग्राफी करना कितना जरूरी है.

इसे भी पढ़ें:मंत्री रामेश्वर उरांव ने फिर अलापा बाहरी को ‘दोना देना कोना नहीं’ का राग, वैश्य महासम्मेलन ने जताया विरोध

वर्कशॉप हाइलाइट्स

  • वन टू वन डिस्कशन आन क्रिटिकल केयर केस एंड हेमो डायनेमिक सिनेरियो
  • एडवांस्ड पारा मीटर्स आफ क्रिटिकल केयर इको कार्डियोग्राफी
  • इंटरएक्टिव लेक्चर वीथ केस स्टडीज

इनकी निगरानी में वर्कशॉप

  • डॉ प्रो कामेश्वर प्रसाद, डायरेक्टर, रिम्स – पैट्रन
  • डॉ प्रो प्रदीप भट्टाचार्या, एचओडी क्रिटिकल केयर मेडिसीन – आर्गनाइजिंग चेयरपर्सन
  • डॉ प्रो हेमंत नारायण, एचओडी कार्डियोलॉजी – साइंटीफिक एडवाइजर

इसे भी पढ़ें:पुलिस जवान की बर्खास्तगी को हाइकोर्ट ने किया निरस्त, नहीं मिला कोई साक्ष्य

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: