Lead NewsNational

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर लगाया आरोप, कहा, नाबालिग थे तभी लिया था बार का लाईसेंस

कहा, परिवार ने मुस्लिम धर्म अपनाने के बावजूद ना सिर्फ फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाया

Mumbai : महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक और एनसीबी अफसर समीर वानखेड़े की लड़ाई में हर रोज नया मोड़ आ रहा है. शुक्रवार को एक बार फिर एनसीबी के जोनल कमांडर समीर वानखेड़े पर नये आरोप लगाये हैं. नवाब मलिक का आरोप है कि समीर वानखेड़े के परिवार ने मुस्लिम धर्म अपनाने के बावजूद ना सिर्फ फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाया है. इसके अलावा वानखेड़े परिवार कई अन्य गड़बड़ियों में भी शामिल रहा है.

Advt

नवाब मलिक ने ये लगाये आरोप

नवाब मलिक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई दस्तावेज जारी किये, जिसके अनुसार समीर वानखेड़े के नाम पर एक रेस्तरां और बार रजिस्टर्ड है. यह 1997 से उनके नाम पर है.

मलिक का दावा है कि समीर वानखेड़े के पिता ज्ञानदेव वानखेड़े जब आबकारी विभाग में कार्यरत थे उसी दौरान 1997 में समीर वानखेड़े के नाम पर बार का लाइसेंस मिला था. 1997 में, समीर वानखेड़े वयस्क भी नहीं थे. ऐसे में उनके नाम पर लाइसेंस जारी किया गया, जो गलत है.

नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर तीन आरोप लगाये हैं-पहला आर्यन खान के मामले में रंगदारी मांगना, दूसरा फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनाकर यूपीएससी की परीक्षा पास करना और तीसरा बार और रेस्तरां का लाइसेंस गलत तरीके से पास करना और इस बात को छुपाना.

इसे भी पढ़ें :Chandra Grahan: 580 वर्षों बाद आज शुरू हुआ सबसे लंबा चंद्र ग्रहण, जानें देश में कब-कहां और कितने बजे दिखेगा

समीर वानखेड़े ने क्या दिया जवाब

नवाब मलिक के आरोपों में समीर वानखेड़े ने कहा है कि उन्होंने बार की जानकारी को कभी नहीं छुपाया. वे अपना इनकम टैक्स रिटर्न भरते समय वहां से होने वाले इनकम की पूरी जानकारी देते रहे हैं और जब से उन्होंने सरकारी नौकरी ज्वाइन की है, बार का पावर आफ एटार्नी उनके पिता के पास है.

इसे भी पढ़ें :दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान AB de Villiers ने क्रिकेट को कहा अलविदा

मानहानि याचिका पर बंबई हाईकोर्ट 22 को सुनायेगा फैसला

गौरतलब है कि ज्ञानदेव वानखेड़े की मानहानि वाली याचिका पर बंबई हाईकोर्ट 22 नवंबर को अपना फैसला सुनायेगा. नवाब मलिक ने कहा है कि उनकी पार्टी समीर वानखेड़े और उनके परिवार द्वारा किये जा रहे तमाम फर्जीवाड़े का खुलासा करेगी.

नवाब मलिक ने ट्‌वीट किया है कि वे दुबई जा रहे हैं और सरकारी एजेंसी को यह बताकर जा रहे हैं कि वे उन्हें ट्रैक कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें :Palamu: कृषि कानून वापस लेने पर मना जश्न, वामदलों ने की मांग- शहीद किसानों को मिले 50-50 लाख मुआवजा और नौकरी

Advt

Related Articles

Back to top button