न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पब्लिक के साथ मिलकर चोरों पर नकेल कसेगी लोहरदगा पुलिस, वार्ड पार्षद से मांगी मदद

सीसीटीवी में कैद हुई चोरों की तस्वीर, देखें वीडियो

64

Lohardaga: शहर में बढ़ती चोरी की घटनाओं ने पुलिस की नींद हराम कर रखी है. वही अब पुलिस इन चोरों को पकड़ने के लिए आम पब्लिक की मदद लेगी.इसके तहत अपराधियों की पहचान करने में शहर के वार्ड प्रतिनिधियों का सहयोग लिया जाएगा. वार्ड के प्रतिनिधि अंजान लोगों की पहचान करेंगे. लोहरदगा शहरी क्षेत्र में अपराध नियंत्रण को लेकर शुक्रवार को सदर थाना परिसर में थाना प्रभारी पुलिस निरीक्षक शैलेश प्रसाद ने शहर के वार्ड प्रतिनिधियों के साथ बैठक की. और आवश्यक निर्देश दिए.

इसे भी पढ़ें- गिरफ्तार पारा शिक्षक भेजे गए जेल, लगी आठ संगीन धाराएं, रांची के बाद दूसरे जिलों के पारा शिक्षक भी…

इधर हाल के दिनों में बढ़ी चोरी की घटनाओं के बीच सीसीटीवी फुटेज में कैद हुए चोरों की तस्वीर सामने आयी है. इसमें चार-पांच की संख्या में चोर एक घर में घुसने की कोशिश में दिखाई दे रहे हैं. लेकिन सभी के चेहरे ढके हुए हैं, और सभी ने हॉफ पैंट पहनी हुई है.

वार्ड प्रतिनिधियों की मदद लेगी पुलिस

सदर थानेदार ने वार्ड प्रतिनिधियों से अपराध नियंत्रण और चोरी की घटनाओं पर रोक लगाने में सहयोग करने का अनुरोध किया. बैठक के दौरान थाना प्रभारी ने कहा कि अपराध नियंत्रण में आम लोगों और प्रतिनिधियों का सहयोग जरूरी है. कोई भी नया और अंजान व्यक्ति आपके वार्ड क्षेत्र में किराए में रहने आता है तो गृह स्वामी से कहें कि वे तुरंत इसकी सूचना सदर थाना पुलिस को दें. आपके आसपास अंजान व्यक्ति संदिग्ध गतिविधियों में संलिप्त दिखाई दे तो पुलिस को सूचना दें. सूचना देने वाले का नाम गोपनीय रखा जाएगा.

इसे भी पढ़ें- एसडीएम मैडम कहती रहीं No लाठीचार्ज, सिपाही पारा शिक्षकों पर बरसाते रहे लाठियां, एसडीएम ने कहा- गलत…

थाना प्रभारी ने कहा कि चोरी सहित अन्य घटनाओं को अंजाम देने वाले अपराधी आपके और हमारे बीच ही रह कर अपराध की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. कोई लंबे समय से फरार रहने वाला अपराधी यदि आपको दिखाई दे या फिर किसी का पुराना आपराधिक इतिहास होने की जानकारी आपको हो तो इस बारे में भी पुलिस को सूचित करें. पुलिस अब नियमित रूप से किरायेदारों, होटल, लॉज, धर्मशाला आदि की जांच करेगी. कबाड़ी दुकान संचालक और सर्राफा व्यवसायी को भी संदिग्ध सामान और सस्ते मूल्य में सामान बेचने की कोशिश करने करने वाले के बारे में भी पुलिस को जानकारी देना आवश्यक है. बिना आवश्यक कागजात के सामान की खरीद न करें. अपराध को रोकना सभी का दायित्व है.

इसे भी पढ़ेंःएक लाख करोड़ के ऑन गोईंग प्रोजेक्ट की रफ्तार धीमी, आपूर्तिकर्ताओं…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: