न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इंटर का रिजल्ट जारी, साइंस में 43 और कॉमर्स में 30 प्रतिशत बच्चे फेल

साइंस में 53,186 और कॉमर्स में 24,436 छात्र सफल

655

Ranchi: झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने मंगलवार को इंटर का रिजल्ट जारी कर दिया. जैक की ओर से इस संबंध में पहले कोई जानकारी नहीं दी गयी थी. मंगलवार को अचानक जैक की ओर से कॉमर्स और साइंस का रिजल्ट जारी किया गया. जिसमें साइंस में 57 और कॉमर्स में 70.44 प्रतिशत छात्र सफल हुए. साइंस में कुल 93,298 छात्र परीक्षा में शामिल हुए थे. जिसमें से 20,447 छात्र फर्स्ट डिवीजन, 30,874 छात्र सेकेंड और 1,841 छात्र थर्ड डिवीजन से पास हुए हैं. इसमें सिर्फ पास अंक पानेवाले छात्रों की संख्या 24 रही. कुल छात्रों की संख्या 53,186 है. इसमें उत्तीर्ण होनेवाले छात्रों की संख्या 35,989 है. जो 55.01 प्रतिशत है. वहीं उत्तीर्ण होनेवाली छात्राओं की संख्या 17, 197 है जो 61.68 प्रतिशत है. जबकि परीक्षा में 65,419 छात्र और 17,197 छात्राएं शामिल थीं.

इसे भी पढ़ें – राजनीतिक विद्वेष के तहत हेमंत पर हुई प्राथमिकी, वापस लेने का आदेश दें मुख्य निर्वाचन आयुक्त : जेएमएम

कॉमर्स में 24, 436 छात्र हुए सफल

कॉमर्स में 70.44 प्रतिशत छात्र सफल हुए हैं. जिनमें कुल सफल होनेवाले छात्रों की संख्या 24,436 है. वहीं कुल परीक्षार्थी इस साल 34,686 थे. जिसमें से 7115 छात्र फर्स्ट, 15,428 छात्र सेकेंड और 1886 थर्ड डिवीजन से पास हुए हैं. इसमें मात्र पास अंक प्राप्त करनेवाले छात्रों की संख्या 7 है. इसमें उत्तीर्ण होनेवाले छात्रों की संख्या 12, 386 है जो 63.68 प्रतिशत है. कॉमर्स में छात्रों की कुल संख्या 19,442 रही. जिसमें से उत्तीर्ण छात्रों की संख्या 12,382 है. जो 63.68 प्रतिशत है. वहीं छात्राओं की कुल संख्या 15,244 थी. जिसमें से 12054 छात्राएं सफल हुईं. जो 79.07 प्रतिशत है.

इसे भी पढ़ें – रांची : आपात स्थिति में बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर उतरा Go Air का विमान, बाल-बाल बचे 180 यात्री

SMILE

साइंस के रिजल्ट में सुधार

पिछले कुछ सालों से राज्य में सांइस में अधिक संख्या में छात्र फेल हो रहे थे. इस साल इसमें सुधार देखा गया. साल 2018 से तुलना की जाये तो लगभग पांच फीसदी सुधार सांइस के रिजल्ट में देखा गया है. साल 2018 में 48.34 प्रतिशत रिजल्ट रहा, वहीं इस साल 57 प्रतिशत रहा. साल 2015 में 63.88, 2016 में 58.36, 2017 में 52.36 प्रतिशत रिजल्ट हुआ था. वहीं काॅर्मस में साल 2018 में 67.49 प्रतिशत छात्र सफल हुए थे. जबकि इस साल 70 प्रतिशत छात्र सफल हुए हैं. वहीं साल 2015 में 73.99, 2016 में 62.94 और 2017 में 60.09 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए थे.

इसे भी पढ़ें- कारनामों की वजह से फिर सवालों के घेरे में आये हजारीबाग के आरडीडीई शिवनारायण साह

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: