1st LeadBihar

बिहार विधानसभा में बजट किया गया पेश,  शिक्षा के क्षेत्र में खर्च होंगे 39 हजार करोड़

Patna : बिहार विधानसभा में उपमुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद ने सोमवार को बजट पेश किया. उन्होंने बताया है कि बिहार का 2022-2023 का बजट 2 लाख 37 हजार 691 करोड़ 19 लाख है.

Sanjeevani

सरकार ने जिन प्रमुख क्षेत्रों में सर्वाधिक आवंटन सुनिश्चित किया है उसमें शीर्ष पांच में कृषि क्षेत्र के लिए 29 हजार करोड़ बजट का आवंटन शामिल है. इसके अलावा शिक्षा के लिए 39 हजार करोड़ का आवंटन, स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 16 हजार करोड़ और समाज कल्याण के लिए 12,375 करोड़ के बजट का आवंटन का प्रावधान किया गया है.

MDLM

छह सूत्रों पर आधारित बजट पेश करते हुए तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा, उद्योग विकास, कृषि, ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों का विकास और जनकल्याणकारी योजना इस वर्ष हमारी प्रमुख प्राथमिकता है. बजट अनुमान प्रस्तुत करने से पहले तारकिशोर ने कौटिल्य के संस्कृत श्लोक- “अलबद्ध लाभार्थ, लब्ध परिरक्षणी” अर्थात जो प्राप्त न हो उसे प्राप्त करना, जो प्राप्त हो गया उसे संरक्षित रखना, संरक्षित हो गया है उसे समानता के आधार पर बांटना से शुरू किया. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार इसी के अनुरूप आगे बढ़ रही है.

 

बजट में उद्योग क्षेत्र के लिए 1643 करोड़ 74 लाख का प्रावधान किया गया. इथेनॉल को लेकर राज्य में 151 इकाई लगायी जायेगी. वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के लिए कृषि निर्यात नीति का निर्माण किया जायेगा. स्टूडेंट्स क्रेडिट कार्ड के लिए 700 करोड़ का प्रावधान किया गया है. 12,375 करोड़ 7 लाख का बजट प्रावधान विभिन्न वर्गों के लिए और  7712 करोड़ 30 लाख का कृषि बजट है.उद्योग के लिए 1643 करोड़ 74 लाख का बजट प्रावधान है. इसमें इथेनॉल को लेकर 151 इकाई लगायी जायेगी.

 

इसे भी पढ़ें : ठेका मंत्री हैं मिथिलेश ठाकुर,सदन में बोले सीपी सिंह

Related Articles

Back to top button