न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सड़क हादसे में जख्मी शख्स की मिली लाश, लापरवाही का आरोप लगाते हुए लोगों ने घेरा चुटिया थाना

मंगलवार को ऑटो के धक्के से घायल हुए थे सुरेंद्र सिंह

46

Ranchi: मंगलवार रात ऑटो के धक्के से जख्मी शख्स की लाश मिलने पर लोगों का गुस्सा नहीं थम रहा है. लोगों ने चुटिया थाना पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए एकबार फिर विरोध जताया. और गुरुवार सुबह थाने का घेराव किया.

इसे भी पढ़ेंःअब पाकुड़ की जनता कह रही कैसे डीसी के संरक्षण में हो रहा है अवैध खनन, सवालों पर डीसी चुप

क्या है मामला

hosp1
ऑटो के धक्के से घायल शख्स की मिली लाश

दरअसल मंगलवार रात मालवाहक ऑटो से धक्का लगने से चुटिया निवासी सुरेंद्र साहू घायल हो गया था. जिसे स्थानीय लोगों की मदद से उसी ऑटो से अस्पताल में भर्ती करने के लिए भेजा गया. लेकिन ऑटो चालक ने जख्मी सुरेंद्र को अस्पताल ना पहुंचाकर सिपही नदी के किनारे छोड़ दिया. जानकारी ये भी मिल रही है कि ऑटो चालक ने अपना जो पता दिया है, वो भी फर्जी निकला. लेकिन पुलिस मामले पर गंभीर नजर नहीं आ रही.

इधर लापता सुरेंद्र साहू को परिजनों ने अस्पताल में खोजा, लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला. इस मामले को लेकर परिजनों ने चुटिया थाना को रात में ही सूचना दी थी, लेकिन चुटिया थाना की पुलिस ने इस मामले में कोई तत्परता नहीं दिखाई. बाद में सुरेंद्र सिंह का शव बुधवार को बरामद हुआ.

इसे भी पढ़ेंःJPSC के सिलेबस में बड़े बदलाव की तैयारीः पहले मेंस से ऑप्सनल हटा- सीसेट रद्द हुआ, फिलहाल मेंस में जेनरल नॉलेज का पेपर

कैसे हुई शव की शिनाख्त

बुधवार की सुबह 8:00 बजे के आसपास ओरमांझी के सिपही नदी के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव मिला. जिसके बाद ओरमांझी की पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेज दिया. अज्ञात व्यक्ति के शव मिलने की जानकारी सुरेंद्र साहू के परिजनों को मिली, जब सुरेंद्र साहू के परिजन रिम्स के पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे तब शव की पहचान सुरेंद्र साहू के रूप में की गई.

चुटिया थाना पर लापरवाही बरतने का आरोप

पूरे मामले को लेकर चुटिया थाना पुलिस पर परिजनों और स्थानीय लोगों ने लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है. दरअसल दुर्घटना वाली रात ही परिजनों ने थाने को सूचना दी थी. लेकिन पुलिस ने तत्परता नहीं दिखाई. यहां तक कि परिजनों ने ऑटो का नम्बर भी लिखा दिया गया था. लेकिन पुलिस ने उस समय कोई ध्यान ही नहीं दिया. परिजनों का आरोप है कि अगर समय रहते पुलिस कार्रवाई करती तो शायद सुरेंद्र सिंह की जान बच सकती थी.

इसे भी पढ़ेंःबकोरिया कांडः डीजीपी के कारण गृहमंत्री की हैसियत से मुख्यमंत्री रघुवर दास भी आ सकते हैं जांच के…

चुटिया थाना का घेराव

पुलिस की लापरवाही से आक्रोशित लोगों ने प्रदर्शन किया है. और लोगों ने थाना का घेराव किया. सुरेंद्र साहू का शव मिलने के बाद उनके परिजन और स्थानीय लोगों के बीच काफी आक्रोश देखा जा रहा है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: