BiharBihar UpdatesELECTION SPECIAL

बिहार चुनाव :  नीतीश ने कहा, वे वोट की चिंता नहीं करते, तेजस्वी पर भी तंज कसा, कुछ लोग केवल वोट ले लेते हैं लेकिन किया क्या?

लालू-राबड़ी शासनकाल में क्या कैबिनेट की बैठक होती थी? आजकल लोग बेरोजगारी की बात कर रहे हैं. दुनिया में कहीं भी सरकारी सेवा में सभी को नौकरी मिलती है?

 Patna : बिहार की सत्ता पर काबिज होने के लिए सभी दलों ने कमर कस ली है. आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है.  बता दें कि सोमवार शाम  सत्ताधारी जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव को लेकर प्रचार अभियान की शुरूआत कर दी. उन्होंने कहा कि सेवा ही हमारा धर्म है, सबकी सेवा करते हैं. वह वोट की चिंता नहीं करते.

इस क्रम में मुख्यमंत्री ने छह जिलों के 11 विधानसभा क्षेत्र में निश्चय संवाद के माध्यम से अपनी सरकार की उपलब्धियों की चर्चा की. कहा कि उनका लक्ष्य काम करना है न कि प्रचार करना. सेवा ही हमारा धर्म है.

इसे भी पढ़ें : उपचुनाव : भगवान का आशीष लेकर BJP की लुईस मरांडी ने दुमका सीट से भर दिया पर्चा

advt

बिहार की विकास दर दोहरे आंकड़े में है

अपनी सरकार द्वारा आपदा के समय में किये गये कार्यों का जिक्र करते  हुए बिहार की पिछली राजद सरकार पर हमलावर होते हुए नीतीश ने सवाल किया कि हम लोगों द्वारा किये गये कार्यों से पहले कोई आपदा को कुछ समझता था? आपदा पीडितों के लिए कभी कोई मदद की गयी थी? नीतीश ने पिछले 15 साल में हुए विकास का जिक्र करते हुए कहा कि आज बिहार की विकास दर दोहरे आंकड़े में है. लोगों की जीवनशैली बदली है. गरीबी कम हुई है. प्रतिव्यक्ति आय बढ़ी है.

इसे भी पढ़ें :दिलचस्प होगा बेरमो का मुकाबला : राजेंद्र सिंह का परिवार 9वीं बार तो बाटुल 5वीं बार मैदान में

हम न अपराध, भ्रष्टाचार और न ही संप्रदायवाद बर्दाश्त करते  हैं

उन्होंने कहा कि लोग तरह-तरह की बात करते हैं. लोग पूछते हैं कि बिहार में बड़े उद्योग-धंधे क्यों नहीं है..तो हम बता दें कि हमलोगों ने बहुत कोशिशें की हैं और आगे के लिए भी बहुत सी नीतियां बनायी हैं कि हमारे लोग जो बाहर जाते हैं उन्हें यहीं काम करने की सुविधा मिले. विपक्षी दलों पर प्रहार करते हुए नीतीश ने कहा, हमारी सरकार ने दलितों की हत्या होने पर परिवार वालों को नौकरी देने का प्रावधान किया है, कुछ लोग इसके बारे में भी बोल रहे थे. अरे भाई कमाल की बात है, देश के कानून के तहत जो प्रावधान है उसके तहत हमलोगों ने नियम बना दिया.

उन्होंने अपनी सरकार द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय के लिए किये गये कार्यों की चर्चा और प्रदेश की पिछली राजद सरकार पर प्रहार करते हुए कहा, लोग बात करते हैं, वोट ले लेते हैं लेकिन किया क्या? हम वोट की चिंता नहीं करते, सेवा ही हमारा धर्म है, सबकी सेवा करते हैं . हमने शुरू में ही कह दिया है कि किसी प्रकार से हम न अपराध, भ्रष्टाचार और न ही संप्रदायवाद बर्दाश्त कर सकते हैं.

दुनिया में कहीं भी सरकारी सेवा में सभी को नौकरी मिलती है?

मुख्य विपक्षी पार्टी राजद की ओर से मुख्यमंत्री पद के दावेदार तेजस्वी यादव द्वारा प्रदेश में अपनी सरकार बनने पर दस लाख सरकारी नौकरी देने के वादे पर तंज कसते हुए कहा, 15 साल के शासनकाल (लालू-राबड़ी शासनकाल) में क्या कैबिनेट की बैठक होती थी? आजकल लोग बेरोजगारी की बात कर रहे हैं. दुनिया में कहीं भी सरकारी सेवा में सभी को नौकरी मिलती है? यह है संभव? जनता सचेत रहे. हमलोग काम करने वाले हैं. कुछ लोग केवल जुबान चलाते हैं. न काम करने के बारे में किसी प्रकार का अनुभव है और न ही रुचि है.

उन्होंने लालू प्रसाद के राजद में परिवारवाद का आरोप लगाते हुए कहा कि हमलोग तो पूरे बिहार को एक परिवार मानते हैं. लेकिन कुछ लोगों का क्या है पति, पत्नी, बेटा एवं बेटी यही परिवार है. नीतीश ने जनता से कहा, अगर आपको लगता है कि हमने काम किया है तब ही आप हमे फिर से वोट दीजिए. जनता ही तो मालिक होती है. हमने काम किया और अगर मौका मिला तो आगे भी करते रहेंगे. लोगों की सेवा करते रहेंगे.

इसे भी पढ़ें : भीमा कोरेगांव केस में गिरफ्तार फादर स्टेन स्वामी की रिहाई की मांग को लेकर अनशन

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: