West Bengal

#Asansol: कोल इंडिया के अधिकारियों के मानदेय में हुई वृद्धि

Asansol: कोल इंडिया की 392वीं बोर्ड की बैठक में पदाधिकारियों ने सलाहकार के रूप में काम करनेवाले कंपनी के अधिकारियों के मानदेय में संशोधन करने का निर्णय लिया.

कोल इंडिया ने अधिसूचित कर दिया कि ई2 रैंक से लेकर सीएमडी स्तर तक के अधिकारियों को सलाहकार के रूप में रखता है.

बैठक में तय किया गया है कि सेवानिवृत्त चेयरमैन या निदेशक को सलाहकार के रूप में रखने पर 1.50 लाख रुपये प्रति माह दिये जायेंगे.

इसे भी पढ़ें- #Jharkhand में जानलेवा बन रही हवा, औसतन 4.5 साल कम हो गयी लोगों की औसत उम्र

Sanjeevani

अधिकारियों का बढ़ा मानदेय

अभी फुल टाइम सलाहकार को एक लाख रुपये प्रति माह मानदेय दिया जाता था. सनद रहे कि बैठक में ई9 रैंक के अधिकारियों को 80 हजार रुपये के स्थान पर 1.20 लाख रुपये प्रतिमाह देने पर सहमति बनी है.

ई8 रैंक के अधिकारियों को 70 हजार रुपये की जगह 1.05  लाख रुपये, ई7 रैंक के अधिकारियों को 60 हजार रुपये, ई6 रैंक के अधिकारियों को 50 हजार रुपये की जगह 75 हजार रुपये, ई5 रैंक के अधिकारियों 40 हजार रुपये, ई4 रैंक अधिकारियों को 35 हजार की जगह 52,500 रूपये, ई3 रैंक अधिकारियों को 45 हजार रुपये और ई दो के अधिकारियों को 25 हजार रुपये की जगह 37,500 रुपये देने पर सहमति बनी है.

इसे भी पढ़ें – #Kashmir में मारे गये पांच मजदूरों के शव मुर्शिदाबाद के बहालनगर गांव लाये गये

कोल इंडिया की कंपनी से रिटायर्ड होने के बाद कई अधिकारी कंपनी में सलाहाकार के रूप में काम कर रहे हैं. सीएमपीडीआइ से रिटायर होने के बाद एके देवनाथ भी कोल इंडिया के सलाहाकार के रूप में काम कर रहे हैं.

इसी तरह महानदी कोल फील्डस से रिटायर होने के बाद एमके सिन्हा भी आइआइसीएम के सलाहाकार के रूप में काम कर रहे हैं.कंपनी के नियम के अनुसार कोई अधिकारी अधिकतम दो साल ही सलाहकार के रूप में काम कर सकता है.

तीन अधिकारी दूसरी कंपनियों में भेजे गये

सीसीएल के जीएम स्तर के तीन अधिकारियों का तबादला दूसरी कंपनियों में कर दिया गया है. दिनेश कुमार रामा को इसीएल भेजा गया है. धरनीकांत झा को एमसीएल तथा गणेश चंद्र साहा को बीसीसीएल भेजा गया है.

इसे भी पढ़ें – विधानसभा चुनाव 2019 : रांची और तमाड़ सीटों पर जेएमएम की राह मुश्किल

Related Articles

Back to top button