National

अभिनेत्री दीप्ति नवल को पड़ा दिल का दौरा, हालत स्थिर

Naveen Sharma

Jharkhand Rai

अभिनेत्री दीप्ति नवल को दिल का दौरा पड़ा है. तबियत खराब होने के तुरंत बाद उन्हें कार्डियक एंबुलेंस से मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सोमवार को उनके शरीर में स्टंट लगाया गया था. ऑपरेशन होने के बाद अब उनकी हालत में काफी सुधार है. दीप्ति नवल लॉकडाउन के बाद से ही मोहाली स्थित अपने घर पर रह रही थीं.

इसे भी पढ़ें – चार करोड़ की लागत से सहकारिता विभाग ने बनाया आधा-अधूरा गोदाम, इस्तेमाल एक दिन भी नहीं

इंटेंस एक्ट्रेस

दीप्ति हिंदी सिनेमा की बेहतरीन अभिनेत्रियों में शामिल हैं. वे अपने शानदार अभिनय के लिए जानी जाती हैं. उनकी यादगार फिल्मों में निर्देशक प्रकाश झा की दामूल, कमला, अंगूर’, ‘होली’ आदि हैं. खास कर कमला फिल्म में गांव की भोली-भाली युवती की भूमिका में वो कमाल करतीं हैं. वो बोलती महज दो चार शब्द ही हैं बस अपनी बड़ी बड़ी बोलती आंखों से ही अपना दर्द, बेबसी और भोलापन बड़ी शिद्दत से बयान करतीं हैं. इसमें वे एक ऐसी युवती के किरदार में हैं जिसे बाकायदा चंद रुपयों में गुलाम की तरह खरीद कर लाया गया था.

Samford

इसे भी पढ़ें – 31 दिसंबर तक झारखंड में होगा पंचायतों का पुनर्गठन, अगले साल होंगे चुनाव

फारूख शेख के साथ जोड़ी

दीप्ति नवल और फारूख शेख की जोड़ी स्क्रीन पर खूब जमती थी. इन्होंने कई फिल्मों में अच्छा काम किया है. इस जोड़ी की साथ-साथ, चश्मे बद्दूर, रंग-बिरंगी, किसी से ना कहना, कथा और लिसेन अमाया फिल्में देखने लायक हैं.

‘इसके अलावा दीप्ति घर हो तो ऐसा’, ‘शक्ति’, ‘फिराक’, ‘हम पांच’, ‘जिंदगी न मिलेगी दोबारा’, ‘तेवर’ जैसी फिल्मों में नजर आ चुकी हैं. वे आखिरी बार पॉपुलर वेब सीरीज ‘मेड इन हैवेन’ में नजर आयी थीं.

इनका जन्म 22 अगस्त 1957 को पंजाब के अमृतसर में हुआ था. दीप्ति नवल का बचपन अमेरिका के न्यूयार्क में बीता जहां उनके पिता सिटी यूनिवर्सिटी में शिक्षक थे. दीप्ति नवल को बचपन से ही अभिनय के साथ-साथ चित्रकारी एवं फोटोग्राफी का शौक था. इन्होंने अपने फिल्म करियर की शुरुआत 1978 में उस समय के जाने-माने फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल की फिल्म फिल्‍म ‘जूनुन’ की थी. इन्हें पहचान 1980 में प्रदर्शित फिल्म ‘एक बार फिर’ से मिली.

इसे भी पढ़ें – बिहार चुनाव : चिराग ने विजन डॉक्यूमेंट बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट.. लॉन्च किया, कहा, मैं शेर का बच्चा हूं…

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: