GiridihJharkhand

हाजत की खिड़की काट भागे दो संदिग्ध, पुलिस का अजीबोगरीब दावा- पकड़ा, फिर छोड़ दिया

विज्ञापन

Giridih : गिरिडीह के मुफ्फसिल थाने की हाजत की खिड़की तोड़कर दो संदिग्ध भाग निकले. हालांकि पुलिस का दावा है कि दोनों को पकड़ लिया गया जिसमें एक को बाद में छोड़ दिया गया जबकि दूसरे को पूछताछ के लिए थाने में रखा गया है.

हाजत से भागे जिस संदिग्ध को पकड़कर छोड़ देने का दावा कर रही है उसकी पहचान सद्दाम के रूप में सामने आयी है जो आर्म्स एक्ट के मामले में धरा गया था. दूसरे को एक साइबर अपराध के मामले में पूछताछ के लिए लाया गया था.

इसे भी पढ़ें : मेडिकल काउंसिलिंग के लिए झारखंड राज्य की पात्रता जरूरी, पर दूसरे राज्य के छात्र भी कर रहे आवेदन

पुलिस की कार्यशैली पर सवाल

हाजत से संदिग्धों के भाग निकलने और कथित रूप से दोबारा पकड़े जाने के बाद आर्म्स एक्ट के संदिग्ध पुलिस हिरासत से भागने का केस दर्ज  कर कार्रवाई के बजाय छोड़ने के फैसले को लेकर पुलिस पर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं.

हाजत की कटी हुई खिड़की भागने की घटना का सबूत दे रही है जिस कारण पुलिस महकमा इनकार नहीं कर पा रहा है. मामला सामने आने के बाद से ही महकमे में हड़कंप मचा हुआ है.

इसे भी पढ़ें : अरुण जेटली ने कहा, जीएसटी  बेहद सफल टैक्स सिस्टम, 65 लाख के मुकाबले एक करोड़ बीस लाख लोग आये दायरे में

कब लायी थी पुलिस, यह भी स्पष्ट नहीं

आर्म्स एक्ट के संदिग्ध सद्दाम और साइबर अपराध के संदिग्ध युवक को मुफ्फसिल थाना पुलिस हिरासत में कब लेकर आयी, इसका खुलासा नहीं हो पाया है.

पुलिस सूत्रों की मानें तो सोमवार की अहले सुबह सद्दाम और दूसरा संदिग्ध हाजत की खिड़की को काटकर भाग निकले.

थाना से भागने की जानकारी होने के बाद पुलिस ने तलाश शुरू की. इसी दौरान पुलिस को एक के खुटवाढाब में मौजूद होने की जानकारी मिली. पुलिस उसे पकड़ लायी. दूसरे संगिग्ध को किसी और स्थान से दबोचा गया.

इसे भी पढ़ें : वर्षा जल को जलाशयों तक पहुंचने का रास्ता सुनिश्चित करें उपायुक्त: मुख्य सचिव

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close