JharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

गांव मजबूत होगा तभी राज्य मजबूत होगाः हेमंत सोरेन

Ranchi : गांव को मजबूत करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है. गांव मजबूत होगा तभी पंचायत, प्रखंड, जिला और राज्य मजबूत होगा. आप सभी पदाधिकारी राज्य के जड़ों में कार्य करनेवाले लोग हैं. सरकार की सभी योजनाओं को विकास की राह में अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक पहुंचाना आप सभी की नैतिक जिम्मेदारी है. आप जहां काम करें वहां अपने काम के बदौलत अपना अमिट छाप छोड़ें. आपकी कार्यशैली से किसी का अहित न हो इसका पूरा ध्यान रखें. आप सभी पदाधिकारी सरकार के अभिन्न अंग हैं. आप हमारे आंख, कान और नाक बन कर काम करते हैं. राज्य के सर्वांगीण विकास में आपकी भूमिका महत्वपूर्ण है. ग्रामीणों का मन और विश्वास जीतकर ही सभी योजनाओं का सफल संचालन कर सकेंगे.

उक्त बातें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने शुक्रवार को झारखंड मंत्रालय के सभागार में कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग द्वारा आयोजित प्रशासनिक क्षमता विकास पर संगोष्ठी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहीं. झारखंड प्रशासनिक सेवा के वर्ष 2020 में नियुक्त पदाधिकारियों ने त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन का अनुभव एवं विकास में उनकी भूमिका विषय पर चर्चा की.

इसे भी पढे़ं:मनरेगा मजदूरों की बढ़ेगी मजदूरी, प्रस्ताव हो रहा तैयार

ram janam hospital
Catalyst IAS

राज्य को बेहतर दिशा देने में अपनी अहम भूमिका निभाएं

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड राज्य अन्य राज्यों से काफी अलग है. हमारे राज्य में 5 प्रमंडल हैं. पांचों प्रमंडलों में कुछ-कुछ विविधताएं हैं. झारखंड आदिवासी, दलित, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक बहुल राज्य है. हमें इस राज्य की अलग-अलग भौगोलिक वातावरण तथा भाषा, संस्कृति के अनुसार व्यवस्थाओं को सुदृढ़ करते हुए आगे बढ़ने की आवश्यकता है. मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सभी पदाधिकारी यहां की स्थानीय भाषा की जानकारी रखें.

भाषा की जानकारी के अभाव में बिचौलिया हावी न हों इसका ख्याल रखें. मुख्यमंत्री ने कहा कि सर्वजन पेंशन योजना का लाभ सभी पात्र लोगों को मिले यह सुनिश्चित करें. राज्य के किसान, मजदूर तथा जरूरतमंदों के प्रति हमारी सरकार की संवेदनाएं हैं. सरकार की छोटी-छोटी योजनाओं का संभ्रांत लोगों पर बहुत ज्यादा असर नहीं पड़ता है.

सरकार की योजनाएं गरीब, मजदूर तथा किसान वर्ग के लोगों को ही प्रभावित करती हैं. ऐसे वर्गों के लोगों को समृद्धि और खुशहाली की ओर दिशा देना आपकी जिम्मेदारी है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आम जनता के साथ आप बाबू साहब वाला रिश्ता न रखें. आप अपने पद का दुरुपयोग कर गलती नहीं कर सकते हैं क्योंकि सभी कड़ियां एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि बड़ी जिम्मेदारियां सीमित लोगों के भरोसे नहीं चल सकती हैं.

इसे भी पढे़ं:रथयात्रा मेला के आयोजन को लेकर बैठक, ड्रोन कैमरे से होगी मेला क्षेत्र की निगरानी

राज्य के नौजवान अपनी अलग पहचान बना रहे हैं

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि हमारे राज्य के नौजवान सभी क्षेत्रों में राज्य को नयी दिशा देने में लगे हैं. सीमित संसाधन तथा अभाव के बावजूद हमारे राज्य के बच्चों ने देश और दुनिया में खेल के क्षेत्र में अपना अहम योगदान दिया है. राज्य के बच्चे तीरंदाजी, हॉकी, क्रिकेट सहित अन्य खेलों में अपनी अलग पहचान बनायी है.

आज यहां के बच्चे दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में अपने हुनर का प्रदर्शन कर रहे हैं. शिक्षा के क्षेत्र में भी अब हम पीछे नहीं हैं. इस बार यूपीएससी के फाइनल रिजल्ट में हमारे 25 बच्चों ने एक साथ सफलता पायी है.

विपरीत परिस्थितियों में भी धैर्यपूर्वक करें कार्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के समय हमारी सरकार ने सीमित संसाधनों के साथ ही चीजों को सरल और शांत माहौल में संभालने का कार्य कर दिखाया है. जैसे-जैसे परिस्थितियां अनुकूल हो रही हैं सरकारी नियुक्तियों में भी तेज गति से कार्य हो रहा है. राज्य में 32 वर्षों बाद कृषि पदाधिकारी, राज्य गठन के बाद पहली बार विधि विज्ञान प्रयोगशाला में सहायक निदेशक/वरीय वैज्ञानिक एवं वैज्ञानिक सहायकों की बहाली हुई है.

हमारी सरकार निरंतर सरकारी नियुक्तियों को भरने का काम कर रही है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई ऐसा कारण नहीं है कि हमारा राज्य पीछे रहे. इस राज्य में देश का 42% खनिज संपदा मौजूद है.

इसे भी पढे़ं:घायल नदीम को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली मेदांता भेजा गया

काम ऐसा करें ताकि आम जनता आपको याद रखेः आलमगीर

इस अवसर पर ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने उपस्थित सभी पदाधिकारियों को शुभकामनाएं और बधाई दीं. उन्होंने कोरोना संक्रमण काल के दौरान वर्ष 2020 में नियुक्त इन सभी पदाधिकारियों द्वारा किये गये विकास कार्यों एवं त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराने निमित्त इनके कार्यशैली की सराहना की. मंत्री आलमगीर आलम ने सभी पदाधिकारियों से कहा कि आप सभी लोग अपने-अपने प्रखंड एवं कार्यक्षेत्र में ही मजदूर तथा जरूरतमंदों को रोजगार देना सुनिश्चित करें.

राज्य से मजदूरों का पलायन न हो इसका ख्याल रखें. उन्होंने कहा कि आप सभी पदाधिकारी ऐसा काम करें कि आम जनता आपको याद रखें आपके कामों की तारीफ करे.

आम जनता के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहेः सुखदेव सिंह

इस अवसर पर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने सभागार में उपस्थित सभी पदाधिकारियों से अपने अनुभव साझा किये. उन्होंने कहा कि आप सभी पर ईश्वर का वरदान है कि आप जन सेवा के कार्यों के लिए नियुक्त हुए हैं. ईश्वरीय वरदान का अपमान न हो इसका ध्यान रखें. अपने पद का उपयोग कर दूसरे को परेशान कतई न करें.

आम जनता के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहें. आप ऐसा काम करें कि भविष्य में आम जनता से आपकी तारीफ सुन कर हमारा सीना गर्व से चौड़ा हो. उन्होंने कहा कि पद को स्वयं से अलग रखें.

इसे भी पढे़ं:कब जागेगी जमशेदपुर पुलिस? मासूम बेटे और नाबालिग बेटी के साथ हैवानियत के बाद अब अंधी मां को मिल रही रेप की धमकी

इन पदाधिकारियों ने अपने अनुभव साझा किये

इस अवसर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के समक्ष वर्ष 2020 में नियुक्त हुए झारखंड प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों ने अपने कार्य अनुभव साझा किये.

मौके पर प्रखंड विकास पदाधिकारी (डुमरी प्रखंड) एकता वर्मा, प्रखंड विकास पदाधिकारी (गुड़ाबांधा प्रखंड) सुश्री स्मिता नगेशिया, प्रखंड विकास पदाधिकारी (बरही प्रखंड) सुश्री क्रिस्टीना रिचा इंदवार, कार्यपालक दंडाधिकारी (गढ़वा) अशोक कुमार भारती ने अपने-अपने प्रखंड क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के प्रभाव के समय परिस्थितियों के बावजूद आम जनता को जागरूक करते हुए किये गये विकास कार्य, अनुभव एवं सुझाव से मुख्यमंत्री को अवगत कराया.

इस अवसर पर ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग की प्रधान सचिव वंदना डाडेल, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, ग्रामीण विकास विभाग के सचिव डॉ मनीष रंजन, वर्ष 2020 में नियुक्त झारखंड प्रशासनिक सेवा के सभी पदाधिकारी सहित अन्य उपस्थित थे.

इसे भी पढे़ं:कोडरमा : वज्रपात की चपेट में आने से किसान की मौत, महिला घायल

Related Articles

Back to top button