JharkhandRanchi

वेशभूषा से पहचाननेवाले प्रधानमंत्री बतायें, वो कौन लोग थे जिन्होंने जेएनयू में मारपीट की: बिनोद सिंह

Ranchi: बगोदर से विधानसभा चुनाव जीत कर आये भाकपा माले विधायक बिनोद सिंह ने कहा कि जेएनयू की घटना बता रही है कि देश में अघोषित आपातकाल की स्थिति है.

उन्होंने कहा कि वेशभूषा तक पहचाननेवाले प्रधानमंत्री बतायें वो कौन थे जो घुस कर मार रहे थे. उन्होंने कहा कि भाजपा के खिलाफ जनादेश मिला है. जो जरूरी था. जिन मुद्दों के खिलाफ जनादेश मिला है, उन मुद्दों पर लड़ाई जारी रहेगी.

बिनोद सिंह ने जेएनयू की घटना को लेकर कहा कि देशभक्ति का मतलब यह नहीं कि नकाब पहन कर मां-बहन को मारें. बिनोद सिंह ने साफ कहा कि विपक्ष जिन मुद्दों को लेकर आवाज उठाता रहा है उसके खिलाफ लड़ाई अब भी जारी रहेगी.

जेएनयू की घटना को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, मंत्री आलमगीर आलम, जामताड़ा विधायक इरफान अंसारी, भावी स्पीकर रवींद्रनाथ महतो ने भी कड़ी आपत्ति जतायी है.

इसे भी पढ़ें- #Chaibasa सदर अस्पताल में बच्ची को भोजन में केवल भात देने पर सीएम ने लिया संज्ञान, दोषी निलंबित

एनआरसी नहीं लागू होने देंगे: इरफान 

कांग्रेस के टिकट पर दूसरी बार विधायक बने डॉ इरफान अंसारी ने कहा कि किसी भी कीमत पर एनआरसी लागू नहीं होने देंगे. उन्होंने कहा कि यहां के अल्पसंख्यकों के पास तो कागजात है पर आदिवासियों और मूलवासियों के पास कागजात नहीं हैं. उन्होंने अभी से ही कागजात जुगाड़ने चालू कर दिये हैं.

वहीं मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि एनआरसी अभी मुद्दा नहीं है. पहले सीएए को हटाया जाना चाहिए. सीएए में स्पष्ट किया हुआ है कि किसे नागरिकता मिलेगी और किसे नहीं. इस पर हेमंत सोरेन ने भी सदन के बाहर राय रखते हुए कहा कि इन सभी मुददों पर गठबंधन की पार्टियों के साथ बैठक कर फैसला लिया जायेगा.

खरमास के कारण नहीं चुना गया है प्रतिपक्ष का नेता, दही-चूड़ा खाने के बाद बनेगी सहमति

रांची विधानसभा से छठी बार विधायक चुन कर आये भाजपा के सीपी सिंह ने कहा कि खरमास के कारण ही अभी तक विधायक दल का नेता नहीं चुना गया है. सीपी सिंह ने कहा कि खरमास के बाद दही-चूड़ा खाकर हमारी पार्टी निर्णय लेगी. सरकार नहीं बना पाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जिंदगी में धूप और छांव आते रहते हैं. सिर्फ विकास ही चुनाव जीतने का पैमाना नहीं हो सकता.

इसे भी पढ़ें – ढुल्लू महतो के शपथ लेने पर बोलीं यौन शोषण पीड़िता: यह लोकतंत्र के मंदिर का अपमान

सेवा में ही मजा है, पक्ष-विपक्ष क्या होता हैः समरी लाल

कांके से भाजपा विधायक समरी लाल ने कहा कि सेवा में ही मजा है. पक्ष-विपक्ष क्या होता है. उन्होंने कहा कि देश भर में कांके विधानसभा ही एकमात्र विधानसभा है जहां हर तरह की पढ़ाई होती है. मेडिकल, इंजीनियरिंग, लॉ, एग्रीकल्चर, मैनेजमेंट, मेंटल डिजीज, जैसे विषय की पढ़ाई के लिए स्तरीय कॉलेज हैं, हर तरह के खेल के स्टेडियम हैं जो खेलगांव में मौजूद हैं. उन्होंने कहा कि मेरा मकसद सिर्फ सेवा करना है. पक्ष-विपक्ष कोई मुद्दा नहीं है.

सारठ विधायक रणधीर सिंह ने कहा कि आजसू से गठबंधन टूटने के कारण कम से कम दस सीटों का नुकसान हमें झेलना पड़ा है. अगर आजसू के साथ गठबंधन बना रहता तो परिणाम कुछ और ही होता और परिस्थितियां अभी के विपरीत रहतीं. हालांकि उन्होंने कहा कि भाजपा सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभायेगी.

अमर कुमार बाउरी ने कहा कि जिन बातों और वादों को लेकर गठबंधन की सरकार आयी है उन बातों को लेकर आगे बढ़े, हमारा सहयोग मिलता रहेगा. अगर जरूरत पड़ी तो सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ हम सदन से सड़क तक आवाज उठायेंगे.

इसे भी पढ़ें – #JNU_Violence : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का आरोप, गुंडों को मोदी सरकार ने उकसाया

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close