JharkhandRanchi

बाजार में पलाश ब्रांड से बिकेंगे एसएचजी के प्रोडक्टस, Online Marketing के लिए भी बनायी जा रही योजना

Ranchi : सरकार ने एसएचजी के जरिये महिलाओं को सबल करने की नयी पहल की है. राज्यभर में लगभग ढाई लाख सखी मंडलों का ग्रुप है. इनसे 30 लाख महिलाएं जुड़ी हुई हैं. अब तक इनके जरिये तैयार किये जाने वाले प्रोडक्टस के लिए अपना कोई ब्रांड नाम नहीं था. ग्रामीण विकास विभाग ने अब इसे पलाश नाम दिया है. यानी इसी नाम के जरिये अब एसएचजी के हाथों बननेवाले सभी प्रोडक्टस मार्केट में उतारे जायेंगे. इससे रूरल इकोनॉमी में उछाल आने की उम्मीद जतायी जा रही है.

इसे भी पढ़ें – SC ने दोषी माना, प्रशांत भूषण कह रहे-सजा पाने को तैयार, फिर मोदी सरकार क्यों कह रही- माफ कर दीजिये

पलाश के दो कियोस्क

सीएम हेमंत सोरेन के हाथों पलाश की औपचारिक लॉन्चिंग की जानी है. फिलहाल धुर्वा स्थित प्रोजेक्ट भवन और एफएफबी बिल्डिंग में पलाश के दो कियोस्क लगाये गये हैं. एसएचजी के प्रोडक्टस यहां पर खरीदे जा सकते हैं. फिलहाल मडुआ आटा, तेल, चावल, शहद, साबुन, सैनिटाइजर और दूसरे उत्पाद मिल रहे हैं. जेएसएलपीएस के अनुसार सरकार की योजना आनेवाले समय में एसएचजी के जरिये तैयार किये जाने वाले सभी तरह के प्रोडक्टस (हैंडीक्राफ्टस वगैरह) बेचे जाने की है.

इसे भी पढ़ें – 422 करोड़ पड़े हैं सरकारी खाते में, गाइडलाइन की वजह से पेंडिंग है ग्रामीण इलाके में विकास कार्य

गांव से शहर तक मिलेगा बाजार

एसएचजी प्रोडक्टस फिलहाल गांवों के बाजारों में ही नजर आते हैं. सरकार की योजना जेएसएलपीएस के जरिये शहरों और राज्य से बाहर तक बाजार की व्यवस्था करने की है. इसके लिए फिलहाल एसएचजी के उत्पादों की अच्छी पैकेजिंग के साथ-साथ पलाश ब्रांड को प्रमोट करने पर उसकी नजर है. यहां तक कि इसके लिए ऑनलाइन मार्केटिंग के लिए भी तैयारी की जा रही है. सखी मंडलों के जरिये तैयार होनेवाले प्रोडक्टस को बढ़िया बाजार मिलने से ग्रामीण कस्बे में रहनेवाली दीदीयों के आत्मनिर्भर बनने की गुंजाइश बढ़ेगी.

इसे भी पढ़ें – बिहार: विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन से अलग हुए जीतनराम मांझी

6 Comments

  1. Hey! Do you use Twitter? I’d like to follow you if that would be okay. I’m definitely enjoying your blog and look forward to new updates.

  2. After exploring a number of the articles on your website, I truly like your technique of blogging. I saved it to my bookmark site list and will be checking back in the near future. Please visit my web site as well and tell me your opinion.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button