न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्य के तीन नये मेडिकल कॉलेजों में नहीं जाना चाह रहे प्रोफेसर, क्यों?

इसके पीछे का कारण यहां डॉक्टरों का वेतन पहले से मौजूद मेडिकल कॉलेजों की तुलना में काफी कम था. संसाधनों की कमी और निजी कारण बताकर डॉक्टर नये मेडिकल कॉलेजों में सेवा देने से पीछे हट रहे हैं.

190

Ranchi : राज्य में तीन नये मेडिकल कॉलेजों में 2019-20 के सत्र की पढ़ाई शुरू हो गयी है. तीनों नये मेडिकल कॉलेजों में 100- 100 सीटों में नामांकन लिया गया है. पर अब इन कॉलेजों में सीटों की संख्या घटायी जा सकती है. ऐसा इसलिए क्योंकि एमसीआई ने अपने दौरे में स्थिति को संतोषजनक नहीं पाया था. इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं.

एक प्रमुख कारण यह है कि नये मेडिकल कॉलेजों में प्रोफेसर जाना नहीं चाह रहे हैं. इसके पीछे संसाधनों की कमी सहित कई कारण बताये जा रहे हैं. इससे पहले भी असिस्टेंट  प्रोफेसर के पद पर नियुक्त किये गये नये डॉक्टर उन कॉलेजों में सेवा नहीं देना चाह रहे थे. इसके पीछे का कारण यहां डॉक्टरों का वेतन पहले से मौजूद मेडिकल कॉलेजों की तुलना में काफी कम था. संसाधनों की कमी और निजी कारण बताकर डॉक्टर नये मेडिकल कॉलेजों में सेवा देने से पीछे हट रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : बजट सत्र के बाद वन संरक्षण एवं वनोत्पाद से रोजगार सृजन पर ध्यान देगी सरकार : हेमंत सोरेन

15 प्रोफेसर , 23 एसोसिएट प्रोफेसर किये गये थे नियुक्त

तीनों मेडिकल कॉलेजों को इसी साल  मान्यता दिलाने के लिए सरकार ने पीएमसीएच, धनबाद एवं एमजीएम, जमशेदपुर में कार्यरत 12 प्रोफेसरों एवं 23 एसोसिएट प्रोफेसरों का तबादला करते हुए तीनों नये मेडिकल कॉलेजों में पदस्थापित किया था. डॉ ज्योति रंजन प्रसाद, पलामू, डॉ हीरालाल मुर्मू दुमका एवं डॉ एसके सिंह हजारीबाग के प्रिंसिपल बनाये गये थे. डॉ ज्योति रंजन को पीएमसीएच, धनबाद एवं डॉ हीरालाल व डॉ एसके सिंह को एमजीएम से स्थानांतरित किया गया था.

साथ ही अनुबंध के आधार पर हजारीबाग में दो एवं दुमका में एक प्रोफेसर की नियुक्ति की गयी है. इसके साथ ही तीनों मेडिकल कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर के लगभग 107 पदों पर नियुक्ति  प्रक्रिया पूरी कर ली गयी है पर अभी तक इन्हें नियुक्त नहीं किया जा सका है.

Whmart 3/3 – 2/4

इसे भी पढ़ें :  BJP विधायक ढुल्लू महतो के बचाव में रो पड़ी पत्नी, मेरे पति हैं बेकसूर, यौन शोषण पीड़िता चरित्रहीन महिला

49 रेजीडेंटों की नियुक्ति के लिए साक्षात्कार लिया जा चुका है

स्वास्थ्य विभाग ने तीनों मेडिकल कॉलेजों में 72 सीनियर रेजीडेंट और 21 जूनियर रेजीडेंट का पदस्थापन भी कर दिया था. हजारीबाग मेडिकल कॉलेज में 27, दुमका मेडिकल कॉलेज में 22, पलामू मेडिकल कॉलेज में 23सीनियर रेजीडेंट्स की नियुक्ति की गई थी. साथ ही हजारीबाग में 13, पलामू में 10, दुमका में 8 जूनियर रेजीडेंट्स भी नियुक्ति किये गये हैं. साथ ही 49 रेजीडेंटों की नियुक्ति के लिए साक्षात्कार लिया जा चुका है.

इसे भी पढ़ें :  राज्य के 95 फीसदी स्कूलों में प्राचार्य नहीं, शिक्षा विभाग वित्तीय अनियमितता को लेकर स्कूलों के प्राचार्यों पर कार्रवाई की तैयारी में

न्यूज विंग की अपील


देश में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है. ऐसे में जरूरी है कि तमाम नागरिक संयम से काम लें. इस महामारी को हराने के लिए जरूरी है कि सभी नागरिक उन निर्देशों का अवश्य पालन करें जो सरकार और प्रशासन के द्वारा दिये जा रहे हैं. इसमें सबसे अहम खुद को सुरक्षित रखना है. न्यूज विंग की आपसे अपील है कि आप घर पर रहें. इससे आप तो सुरक्षित रहेंगे ही दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like