Main SliderRanchi

सांसद निशिकांत दुबे की पत्नी  के खिलाफ जमीन खरीद मामले में PIL , सक्षम एजेंसी से जांच की मांग

Vineet Upadhyay

Ranchi : गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे की पत्नी अनामिका गौतम के द्वारा देवघर में जमीन खरीदने का मामला झारखंड हाईकोर्ट तक पहुंच चुका है. रांची के रहने वाले राम अयोध्या शर्मा ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर अनामिका गौतम द्वारा खरीदी गयी जमीन का रजिस्ट्रेशन रदद् करने और जमाबंदी खारिज करने की मांग की गयी है. वहीं पिटीशनर ने इस जमीन खरीद प्रकरण की जांच एक सक्षम एजेंसी से करने की मांग कोर्ट से की है. इसके अलावा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा जमीन खरीद दौरान हुए पैसों के लेनदेन पर उचित कानूनी कार्रवाई करने का आग्रह भी किया है.

पिटीशनर राम अयोध्या शर्मा के वकील राजीव कुमार के मुताबिक, निशिकांत दुबे के खिलाफ जनहित याचिका दायर की गयी है. उसमें सबसे महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि अनामिका गौतम एक सांसद की पत्नी हैं और वो ये नहीं कह सकती हैं कि उन्हें लैंड परचेज और पैसों के लेनदेन से संबंधित कानून की जानकारी नहीं है.

इसे भी पढ़ें – धमकी देने वाले जीत ऋषि का है चाईबासा व रामगढ़ का पतरातू कनेक्शन, तस्वीरों में देखिये

सासंद की पत्नी कानूनन कैश पेमेंट नहीं कर सकतीं – वकील

वकील ने कहा कि अनामिका गौतम ने जमीन की रजिस्ट्री करायी और उस दौरान जो पेमेंट कैश में किया. जबकि कानूनन वे ऐसा नहीं कर सकतीं. अब कानून यह कहता है इनकम टैक्स की धारा 271D में किसी भी परिस्थिति में एग्रीकल्चर लैंड या अदर रियल स्टेट परचेज में कोई भी व्यक्ति 20000 से ऊपर कभी भी कैश में पेमेंट नहीं करेगा.

अगर कोई व्यक्ति ऐसा करता है तो उस परिस्थिति में कानून के तहत उनको पेनाल्टी की सजा है. जिसके तहत उस व्यक्ति से उतना ही अमाउंट, जितना उन्होंने कैश दिया है उसे वसूला जाएगा.

क्या लगे थे आरोप

गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे की पत्नी अनामिका गौतम पर गंभीर आरोप लगे थे. आरोप था कि देवघर में एलओकेसी धाम की रजिस्ट्री 29 अगस्त 2019 को की गयी. जिसकी रजिस्ट्री संख्या 770 है. सांसद निशिकांत दुबे ने अपने राजनीतिक प्रभाव का जोर दिखाकर करीब 20 करोड़ की कीमतवाली प्रॉपर्टी सिर्फ तीन करोड़ में अपनी पत्नी के नाम खरीदी है. शिकायतकर्ता ने इस बात की शिकायत मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से की है.

adv

साथ ही मुख्य सचिव और देवघर उपायुक्त को भी शिकायत की कॉपी सौंपी गयी है. देवघर के बम्पास टाउन निवासी विष्णुकांत झा ने यह गंभीर आरोप लगाया है.

तीन करोड़ नगद भुगतान कर खरीदी प्रॉपर्टी

शिकायतकर्ता ने शिकायत के आवेदन के साथ रकम प्रप्ति की रसीद भी मुहैया करायी है. रसीद में इस बात का उल्लेख है कि प्रॉपर्टी खरीदने के लिए उनकी पत्नी की तरफ से तीन करोड़ नगद रुपये दिये गये. जो कि नियम के विरुद्ध हैं. नोटबंदी के बाद से दो लाख से ज्यादा नगद देकर किसी भी चीज को खरीदने पर मनाही है.

लेकिन सांसद की पत्नी अनामिका गौतम ने एक वेंडर को सात लाख और बाकी आठ वेंडरों को 2.93 करोड़ रुपये नकद देकर जमीन खरीदी है. जिसे शिकायतकर्ता की तरफ से गलत बताया गया है और उच्च स्तरीय जांच की कमेटी बना कर जांच करने को कहा गया है.

इसे भी पढ़ें –JBVNL की ऑडिट रिपोर्ट में लिखा- प्रबंधन के रवैये से निगम संचालन पर पड़ेगा नकारात्मक प्रभाव

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: