न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

पलामू : स्वास्थ्यकर्मी दयाशंकर हत्याकांड का खुलासा, पत्नी और प्रेमी ने मिलकर की थी हत्या, गिरफ्तार

इस मामले में पुलिस ने दयाशंकर की पत्नी एवं उसके प्रेमी को गिरफ्तार  कर लिया है.

164

Palamu :  पलामू जिले के पांकी के चर्चित स्वास्थ्यकर्मी दयाशंकर हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है. इस मामले में पुलिस ने दयाशंकर की पत्नी एवं उसके प्रेमी को गिरफ्तार  कर लिया है. उनकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त चाकू, सिलवट एवं लोढ़ा के अलावा खून लगी हुई काले रंग का टी-शर्ट एवं मोबाईल आदि बरामद किये गये हैं.

eidbanner

प्रेम संबंध में की गयी हत्या

पुलिस की जांच में जो बात सामने आयी है उसके अनुसार दयाशंकर की पत्नी ने ही अपने कथित प्रेमी अखिलेश कुमार से मिलकर अपने पति की हत्या कराई थी. पूरे मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महथा ने बताया कि 30 मई को दयाशंकर प्रसाद की हत्या उसके आवास पर ही कर दी गयी थी. यह मामला 31 मई को पांकी थाना में दर्ज कराया गया.

इसे भी पढ़ें – इविक्शन ऑर्डर निकालने के तीन माह के बाद भी सीसीएल की जमीन से नहीं हटाया जा सका अवैध कब्जा

दयाशंकर के छोटे भाई पर दर्ज हुआ था मामला

दयाशंकर की पत्नी द्वारा दर्ज करायी गयी हत्या की प्राथमिकी में पांकी निवासी और मृतक दयाशंकर के छोटे भाई रामजी प्रसाद गुप्ता एवं मिथलेश उर्फ मंटू चौरसिया को संदेही अभियुक्त बनाया गया था. एसपी ने बताया कि कांड का अनुसंधान करते हुए पुलिस द्वारा मोबाईल का सीडीआर प्राप्त किया गया. जिसके आधार पर शक की सुई पत्नी और प्रेमी की तरफ घूम गयी.

इसे भी पढ़ें – पूर्व मंत्री एनोस एक्का का सरकारी बंगला खाली कराया गया

mi banner add

हजारीबाग से पत्नी और प्रेमी हुए गिरफ्तार

हत्या में दयाशंकर की पत्नी के प्रेमी की संलिप्तता सामने आने पर उन्हें हजारीबाग के बड़कागांव से गिरफ्तार किया गया. पकड़े जाने के बाद अखिलेश ने पुलिस के समक्ष अपना अपराध स्वीकार करते हुए बताया कि उसका प्रेम संबंध दयाशंकर की पत्नी श्वेता गुप्ता उर्फ अल्फा के साथ शादी के पूर्व से ही था. उसने बताया कि अल्का उर्फ श्वेता का विवाह 2011 में दयाशंकर के साथ हुआ.

शादी के बाद भी मिलते थे दोनों

अखिलेश ने बताया कि शादी के बाद भी पांकी आकर चोरी-छुपे श्वेता से मिला करता था. अखिलेश के हवाले से एसपी ने बताया कि 26 मई को अखिलेश हजारीबाग से पांकी आया था और 27 को वह श्वेता के साथ हजारीबाग लौट गया था. हजारीबाग लौटने के क्रम में ही दोनों ने मिलकर दयाशंकर की हत्या की योजना बनाई थी. अखिलेश के अनुसार श्वेता के कहने पर ही वह 30 मई को पांकी आया और रात में उसके घर में घुसकर सोयी अवस्था में सिलवट तथा लोढ़ा से मारकर दयाशंकर की हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ें – रिप्लिका इस्टेट ने आर्मी लैंड का पहले बनाया हुक्मनामा, फिर करायी रजिस्ट्री और म्यूटेशन करवा कर बेच दिया-3

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: