न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Palamu: प्रख्यात रंगकर्मी मुनमुन चक्रवर्ती का facebook हैक कर दोस्तों से मांगी आर्थिक मदद, एक से 16 हजार ठगे

546

Palamu: साइबर अपराधियों ने प्रख्यात रंगकर्मी मुनमुन चक्रवर्ती का फेसबुक अकाउंट हैक कर लिया और उनके दोस्तों को झांसा देकर 16 हजार रुपये ठग लिये.

हैकरों ने अकाउंट हैक करने के बाद मुनमुन के दोस्तों से मैसेंजर पर चैटिंग की.

दोस्त की बीमारी व ऐक्सिडेंट के नाम पर किसी से पंद्रह हजार तो किसी से बीस हजार रुपये मांगे. मुनमुन के नाम से एक सौ से ज्यादा दोस्तों को पैसा से संबंधित मैसेज किया.

सभी से एटीएम पेमेंट बैंक के रवीना के बैंक अकाउंट नंबर 917027133397 में ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने की बात कही गयी. साइबर ठग के झांसे में कलाकार मुकेश विश्वकर्मा फंस गये.

hotlips top

हैकर ने मुकेश से 15000 रुपये मांगा तो मुकेश ने उसके दिये अकाउंट में पैसा डाल दिये. मुकेश से दोबारा पैसा मांगे तो एक हजार रुपये पुनः डाला.

इसे भी पढ़ें : #JSLPS की नियुक्ति प्रक्रिया में नहीं है पारदर्शिता, मनमाने तरीके से होती है नियुक्ति

शक होने पर मुनमुन के घर पहुंचे साथी कलाकार

इसी तरह प्रसिद्ध गायक अमर सहाय, आकाशवाणी की उदघोषिका अनुपमा तिवारी, शर्मिला सुमि, मीरा श्रीवास्तव, एनपीयू कर्मी राजीव मुखर्जी सहित सैकड़ों से पैसों की मांग की गयी.

कुछ लोगों को शक हुआ तो वे मुनमुन चक्रवर्ती के घर पंहुचे.

फोन पर बातचीत के बाद मामला सामने आया

साइबर अपराधियों के शिकार बने मुकेश से जब दोबारा 15 हजार मांगा गया तो उनके पास पैसे नहीं थे. उन्होंने एक हजार रुपये हैकर के अकाउंट में डाला.

इसके बाद मुकेश के पास कलाकार संजीत ने फोन किया तो मुकेश ने श्रीमती चक्रवर्ती के बीमार होने व पैसा देने की बात बतायी.

इस पर संजीत ने मुकेश को बताया कि श्रीमती चक्रवर्ती पूरी तरह स्वस्थ हैं. वे नाटक का रिहर्सल कर रही हैं, तब इस मामले का खुलासा हुआ.

इसे भी पढ़ें : #Ranchi: नकली पुलिस बन प्याज लदा वाहन लूटने की कोशिश, असली पुलिस की मुस्तैदी से नहीं हो सके सफल

कार्रवाई के लिए किया जा रहा है मैसेज: साइबर थाना प्रभारी

मेदिनीनगर साइबर थाना में मुकेश व मुनमुन चक्रवर्ती ने मामला दर्ज कराया है. थाना प्रभारी मोहम्मद समसुद्दीन ने बताया कि पेटीएम को हैकर का बैंक अकाउंट होल्ड करने के लिए मेल किया गया है. फेसबुक को भी कार्रवाई के लिए मैसेज किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें : #Internet के अभाव में धूल फांक रहा रांची यूनिवर्सिटी का इन्फॉर्मेशन व नॉलेज ई-सेंटर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like