न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Palamu: राधाकृष्ण किशोर, शिवपूजन मेहता, ददई दुबे, सुधा चौधरी सहित 68 उम्मीदवारों की जमानत जब्त, 40 उम्मीदवारों को ‘नोटा’ से भी कम वोट पड़े

367

Dilip Kumar

Palamu: पलामू की पांच सीटों पर हुई मतगणना के बाद जो आंकड़े आये, वे चौंकानेवाले हैं. यहां पांच सीटों के लिए 80 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे. लेकिन इनमें से 68 उम्मीदवार अपनी जमानत तक बचा नहीं पाये.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

इनमें छतरपुर से चार बार विधायक रहे राधाकृष्ण किशोर, पूर्व मंत्री और कांग्रेस के कद्दावर नेता चन्द्रशेखर उर्फ ददई दुबे, पूर्व मंत्री सुधा चौधरी और हुसैनाबाद के निवर्तमान विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता भी शामिल हैं. 80 में से 40 ऐसे उम्मीदवार हैं, जिन्हें ‘नोटा’ (नन ऑफ द एवभ- इनमें से कोई नहीं) से भी कम वोट मिला है.

जीत का बेजोड़ गणित बिठा कर सारे उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे थे, लेकिन हारने के बाद जो आंकड़े आये, वह बताते हैं कि अधिकतर उम्मीदवार अपनी जमानत तक नहीं बचा पाये. ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि उनकी जीत का गणित कैसा था? यहां बता दें कि जमानत बचाने के लिए कुल वैध वोटों का 6ठा हिस्सा, यानी 1/6 भाग वोट होना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – हेमंत सरकार बनते ही ब्यूरोक्रेसी में होगा बड़ा उलटफेर, ये IAS अधिकारी हो सकते हैं CM के प्रधान सचिव

डाल्टनगंज में 13 उम्मीदवारों की जमानत हुई जब्त 

डाल्टनगंज विधानसभा सीट की बात करें तो यहां 15 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे, लेकिन इनमें से आलोक चौरसिया और केएन त्रिपाठी को छोड़ कर शेष 13 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गयी. इस सीट पर सबसे अधिक 213149 वोट पड़े और जमानत बचाने के लिए प्रत्येक उम्मीदवार को 35524 वोट चाहिए थे. जमानत जब्त होनेवालों में जेवीएम उम्मीदवार और शहर के चर्चित हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. राहुल अग्रवाल भी शामिल हैं. यहां 12 उम्मीदवारों को नोटा से भी कम वोट आये.

इनकी जमानत नहीं बच पायी 

जिनकी जमानत जब्त हुई उनमें बसपा के जग्गनाथ प्रसाद सिंह, 2661, एनसीपी की विजेता वर्मा 1208, कृष्ण नंद चौधरी 533, मोहन यादव 323, रविन्द्र पाल 473, संतोष कुमार दुबे, 406, अजीमुद्दीन मियां 542, अनुज कुमार ठाकुर 465, राकेश कुमार तिवारी 791, ब्रजेश कुमार 965, संजय कुमार सिंह 3863 और संतोष कुमार शर्मा 2979 भी शामिल हैं. नोटा में इस सीट पर 4850 वोट पड़े.

Gupta Jewellers 20-02 to 25-02

हुसैनाबाद में निवर्तमान विधायक सहित 15 की जमानत जब्त

हुसैनाबाद विधानसभा सीट की बात करें तो यहां चार उम्मीदवारों एनसीपी के कमलेश कुमार सिंह-41293, राजद के संजय कुमार सिंह यादव-31444, बसपा के शेर अली-28877 और निर्दलीय विनोद कुमार सिंह 27860 को छोड़ कर शेष 15 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गयी है. इसमें निवर्तमान विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता (15544वोट) भी शामिल हैं. इस सीट पर कुल 162642 वोट पड़े और उम्मीदवारों को जमानत बचाने के लिए 27107 वोट की जरूरत थी.

निवर्तमान विधायक के अलावा वीरेंद्र कुमार 1324, आदित्य कुमार चंदेल-1277, आनंद प्रताप सिंह 1065, कन्हैया विश्वकर्मा 747, धर्मेंद्र पासवान-518, राम नरेश राम-1732, सरवन कुमार-1093, सुनील कुमार सिंह-1844, जितेंद्र कुमार-1977, नरेश कुमार पासवान-745, प्रदीप कुमार सिंह-1185, रजनीश कुमार रजक-1990, लोकेश प्रताप सिंह-1447, और विवेकानंद सिंह- 680 भी अपनी जमानत नहीं बचा सके हैं. इस सीट पर 7 उम्मीदवारों को नोटा से भी कम वोट मिले हैं. यहां नोटा में 1234 वोट पड़े हैं.

Related Posts

#Giridih: गाड़ी खराब होने के बहाने घर में घुसे अपराधियों ने लूटे ढाई लाख कैश व 50 हजार के गहने

धनवार के कोडाडीह गांव की घटना, तीन दिन पहले ही गृहस्वामी ने बेची थी जेसीबी

इसे भी पढ़ें – सत्ता संभालने को तैयार हेमंत सरकार लेकिन आसान नहीं राहें, खाली खजाना समेत कई चुनौतियों से होगा सामना

विश्रामपुर में ददई, अंजू की भी जमानत जब्त

विश्रामपुर सीट की चर्चा करें तो यहां पूर्व मंत्री और निवर्तमान विधायक रामचन्द्र चन्द्रवंशी 40635 और बसपा के राजेश उर्फ राजन मेहता 32122 को छोड़ कर शेष 17 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गयी है. इसमें कांग्रेस के कदावर नेता एवं पूर्व मंत्री चन्द्रशेखर दुबे उर्फ ददई दुबे 26957 एवं 2014 के चुनाव में दूसरे स्थान पर रही जेवीएम की अंजू सिंह 24851 भी शामिल हैं. इस सीट पर कुल 186831 वैध वोट पड़े और जमानत बचाने के लिए 31138 वोट की जरूरत थी.

अन्य उम्मीदवारों में अनिल मिस्त्री 2161, अशर्फी राम-11558, ब्रजेश प्रसाद यादव-1083, जद-यू के ब्रह्मदेव प्रसाद-7928, मद्धेश्वर कुमार मेहता-813, मनोज कुमार रवि-678, मसरूर अहमद खान-1222, राम बच्चन राम-1500, नरेश प्रसाद सिंह-27820, रामचंद्र राम-1505, लक्ष्मण सिंह-985, विजय राम-2689, सतीश कुमार सिंह-972, सलीम राय-556 और सुंदर साह-796 शामिल हैं. यहां नोटा में 1376 वोट पड़े.

छतरपुर में किशोर और सुधा चौधरी की जमानत जब्त

छतरपुर सीट की बात करें तो यहां के चार बार के विधायक रहे पूर्व भाजपा नेता एवं आजसू उम्मीदवार राधाकृष्ण किशोर 16018 अपनी जमानत बचाने में विफल रहे हैं. यहां कुल वैध वोट 162097 पड़े. जमानत बचाने के लिए कुल 27016 वोट की जरूरत थी. भाजपा उम्मीदवार पुष्पा देवी 64127 और राजद के विजय राम 37335 को छोड़कर शेष 10 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गयी है. यहां नोटा में पड़े 2757 वोट के मुकाबले पांच उम्मीदवारों को भी वोट नहीं पड़े.

किशोर के अलावा जिनकी जमानत जब्त हुई उनमें जनेश्वर राम-2642, धर्मेन्द्र प्रकाश बादल-15522, विरेन्द्र कुमार पासवान-5899, 37335, अवधेश राम-1438, सपा के नरेश कुमार भारती-1975, विपुल पासवान-1725, शशिकान्त कुमार-2923, पूर्व मंत्री और जदयू की उम्मीदवार सुधा चौधरी- 8794, और सुमित्रा पासवान-1650 शामिल हैं.

पांकी में मुमताज, सुशील मंगलम और रूद्र शुक्ला की जमानत जब्त  

पांकी विधानसभा क्षेत्र में दो उम्मीदवार भाजपा के शशिभूषण मेहता 93184 एवं कांग्रेस के देवेन्द्र कुमार सिंह-55994 को छोड़ कर शेष 13 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गयी है. इस सीट पर कुल वैध वोट 176427 पड़े. जमानत बचाने के लिए 29404 वोट की जरूरत थी. यहां नोटा 1475 से भी कम आठ उम्मीदवारों को वोट आए हैं, जिनकी जमानत जब्त हुई है, उनमें पूरनचंद साव-2786, मो. आलम- 2163, जेवीएम के रूद्र कुमार शुक्ला-893, सुरेन्द्र यादव-845, भागलपुरी यादव-299, रमेश कुमार-335, रामदेव प्रसाद यादव-330, लुवंती कुमारी-523, जदयू के सुशील कुमार मंगलम- 565, कामता ठाकुर-1352, निर्दलीय मुमताज अहमद खान-9419, राजन कुमार-3496 और सुमीत कुमार यादव-4243 शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें – हम शर्मिंदा हैं, हमारे प्रधानमंत्री और गृहमंत्री भी ले रहे हैं झूठ का सहारा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like