National

घुसपैठ कराने को पाक ने की फायरिंग, जवाब में भारतीय सेना ने तबाह कर दिये आतंकियों के लांच पैड

विज्ञापन

New Delhi : एक ओर पुरी दुनिया कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से जूझ रही है, वहीं पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. कुपवाड़ा के केरन सेक्टर में आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए शुक्रवार को उसने बिना किसी उकसावे के भारतीय सुरक्षा बल के जवानों पर फायरिंग की.

पाक की इस कार्रवाई का भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया. सेना ने आतंकियों के लांच पैड तबाह कर दिये. इसके साथ ही उनके गोले-बारूद रखने की जगहों पर सटीक हमले किये. सूत्रों के मुताबिक पाक को भारी नुकसान पहुंचा है.

इसे भी पढ़ें – #CoronaUpdates: दो दिनों में 16 हजार टेस्ट हुए, मात्र 0.2 प्रतिशत पॉजिटिव मिले

advt

भारतीय सेना ने दिया फायरिंग का जवाब

आर्मी सूत्रों के अनुसार शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे पाकिस्तान ने कुपवाड़ा के केरन सेक्टर पर सीज फायर का उल्लंघन कर फायरिंग की. जिसका भारतीय सेना ने जवाब दिया. शाम करीब 6 बजे तक दोनों तरफ से फायरिंग होती रही.

इसे भी पढ़ें – #Hazaribagh : पीएम केयर फंड के नाम से फर्जी वेबसाइट बना कर की 52 लाख की ठगी, मुख्य आरोपी फरार

आम लोगों में फैल गयी दहशत

दोनों ही ओर की सेना द्वारा की जा रही फायरिंग से सीमा पर रहनेवाले लोग दहशत में आ गये. इस गोलीबारी में भारतीय सेना को कोई नुकसान नहीं हुआ है.

बोफोर्स तोप का भी इस्तेमाल

भारतीय सेना ने 105 एमएम की फील्ड गन और 155 एमएम बोफोर्स तोप का भी इस्तेमाल किया. सूत्रों के अनुसार भारतीय सेना की इस कारर्वाई में  आतंकियों का कम से एक लांच पैड पूरी तरह तबाह हो चुका है. दूसरे लांच पैड को भी नुकसान पहुंचा है.

adv

पिछले कुछ दिनों से लगातार फायरिंग

पाकित्सान की ओर से पिछले कुछ दिनों से लगातार फायरिंग की जा रही थी. वह आतंकियों की घुसपैठ कराने की फिराक में था. भारतीय सेना ने पाक की इस कोशिश को नाकाम कर दिया है. एक अप्रैल को भी आतंकियों ने केरन सेक्टर से ही घुसपैठ करने की कोशिश की, जिसे भारतीय सेना ने नाकाम किया था. सेना के इस ऑपरेशन में घुसपैठ की कोशिश कर रहे पांचों आतंकियों को मार गिराया गया था. इस ऑपरेशन में आर्मी के 5 जवान भी शहीद हुए थे.

इसे भी पढ़ें – #CoronaUpdates: शुक्रवार को लिये गये 136 सैम्पल में से 46 की रिपोर्ट निगेटिव

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button