Khas-KhabarMain SliderRanchi

News Wing Impact: सीएस ने सीएम को कोयला चोरी व लचर बिजली व्यवस्था की दी जानकारी, वितरण निगम के एमडी तलब

Ranchi: मुख्य सचिव डीके तिवारी ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को प्रदेश में हो रहे कोयला चोरी और लचर बिजली व्यवस्था की जानकारी दी.

इसके बाद सीएम ने वितरण निगम के एमडी राहुल पुरवार, रांची जीएम संजय कुमार सहित वरीय पदाधिकारियों को तलब किया. सोमवार को दिन के 11 बजे से बैठक शुरू हो गई है.

वहीं न्यूज विंग द्वारा जब्त पेलोडर से कोयला लोडिंग की खबर प्रकाशित करने के बाद मुख्य सचिव ने मामले को गंभीरता से लिया था. इसके बाद खान सचिव, उद्योग सचिव व सीसीएल के पदाधिकारियों के साथ बैठक भी की थी.

Catalyst IAS
ram janam hospital

सूत्रों के अनुसार, हजारीबाग के डीसी और एसपी से भी इस मामले की रिपोर्ट मांगी जायेगी. वहीं प्रदेश की खास्ताहाल बिजली व्यवस्था के मामले को भी सरकार ने गंभीरता से लिया है.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ेंःकोयले का काला खेलः जब्त कोयले की लोडिंग के लिए पकड़े गये पेलोडर का इस्तेमाल

बिजली के 750 करोड़ की योजनाओं की मांगी है जानकारी

प्रदेश में सुदृढ़ बिजली व्यवस्था के लिये 750 करोड़ की आइपीडीएस योजना की सीएम ने जानकारी मांगी है. अंडर ग्राउंड केबलिंग का काम अब तक पूरा क्यों नहीं हुआ. इसका भी जवाब बिजली वितरण निगम से मांगा गया है.

स्कॉडा सिस्टम रांची, जमशेदपुर और धनबाद में शुरू होना था, वह अब तक शुरू नहीं हो पाया है. इस पर भी एमडी से जवाब मांगा गया है. टीवीएनएल की स्थिति और ट्रांसफॉरमरों की क्षमता की रिपोर्ट भी मांगी गई है.

इसे भी पढ़ेंःफिर शुरु हुआ जामताड़ा के मिहिजाम के रास्ते हर रात 25 ट्रक अवैध कोयला पार कराने का कारोबार

इन सवालों का जवाब देना होगा एमडी को

  • प्रदेश में बिजली की कटौती क्यों?
  • कब तक होता रहेगा मेनटेनेंस?
  • पावर की खरीद कितनी बढ़ी?
  • पुराने और जर्जर तार बदलने में कितना समय लगेगा?
  • अंडरग्राउंड केबलिंग पॉलीकैब कब हैंडओवर करेगी?
  • कितनी बिजली खरीद रहे हैं, इसका भी जबाव देना होगा?
  • सिस्टम की पूरी जानकारी भी सीएमओ ने मांगी है?

इसे भी पढ़ेंःबिजली आपूर्ति बदतर होने के सबूत: चार सालों में औद्योगिक इकाइयों में प्रतिमाह 1.10 लाख लीटर डीजल की बढ़ी खपत

Related Articles

Back to top button