Lead NewsNational

New Trend अब ड्रोन से होगी दवाओं की सप्लाई, शुरू हुई ‘मेडिसिन फ्रॉम द स्काई’ सर्विस

केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दी जानकारी

New Delhi : नयी टेक्नोलॉजी बहुत तेजी से लोगों की लाइफ स्टाइल बदल रही हैं. अब ताजा मामले में ड्रोन से दवाओं को भेजने की पहल हुई है. केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शनिवार को कहा कि ‘मेडिसिन फ्रॉम द स्काई’ (आसमान से दवाएं) परियोजना के तहत ड्रोन की मदद से दवाओं और टीके की आपूर्ति की शुरुआत पायलट परियोजना के तहत तेलंगाना के 16 ग्रीन जोन से की जाएगी. उन्होंने कहा कि पायलट परियोजना के आंकड़ों के आधार पर इसका विस्तार राष्ट्रीय स्तर पर किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें: IPL 2021: सनराइजर्स और पंजाब को बड़ा झटका, दो विस्फोटक बल्लेबाजों ने नाम लिया वापस

advt

नयी ड्रोन नीति ने नियमों से होगी सहूलियत

यहां ‘मेडिसिन फ्रॉम द स्काई’ परियोजना की शुरुआत करते हुए सिंधिया ने कहा कि केन्द्र की राजग नीत सरकार की नयी ड्रोन नीति ने नियमों में कुछ ढील देते हुए देश में ड्रोन के उपयोग को आसान बना दिया है.

नयी नीति के तहत ड्रोन के संचालन के लिए पहले के 25 फॉर्म के मुकाबले अब महज पांच फॉर्म भरने पड़ेंगे. वहीं पहले जहां 72 प्रकार का शुल्क लिया जाता था, अब संचालक को महज चार प्रकार का शुल्क देना होगा.

इसे भी पढ़ें: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान का बड़ा बयान, कहा- मैनचेस्टर टेस्ट पैसे और IPL के कारण हुआ रद्द

तेलंगाना के 16 ग्रीन जोन में शुरू हुई सर्विस

मंत्री ने कहा, ”(तेलंगाना के) 16 ग्रीन जोन में ‘मेडिसिन फ्रॉम द स्काई’ परियोजना शुरू की जाएगी. इसके आंकड़ों का विश्लेषण तीन महीने तक किया जाएगा.

स्वास्थ्य मंत्रालय, आईटी मंत्रालय, राज्य सरकार और केन्द्र के साथ मिलकर हमलोग आंकड़ों का विश्लेषण करेंगे और पूरे देश के लिए मॉडल विकसित करेंगे. आज ना सिर्फ तेलंगाना बल्कि पूरे देश के लिए क्रांति का दिन का है.”

इसे भी पढ़ें:मुंबई की निर्भया के मामले में सीएम ठाकरे ने दिया फास्टट्रैक कोर्ट में केस चलाने का आदेश

किसी पूर्वानुमति की आवश्यकता नहीं

ग्रीन जोन के तहत ड्रोन के संचालन/उड़ान के लिए किसी पूर्वानुमति की आवश्यकता नहीं होगी. वहीं, येलो जोन में ड्रोन उड़ाने के लिए पूर्वानुमति लेनी होगी जबकि रेड जोन ‘नो फ्लाई जोन’ होगा और वहां ड्रोन नहीं उड़ाए जा सकेंगे. सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदृष्टि वाले नेतृत्व में नयी ड्रोन नीति बनायी गयी है.

‘मेडिसिन फ्रॉम द स्काई’ को तेलंगाना ने वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम, नीति आयोग और हेल्थनेट ग्लोबल (अपोलो अस्पताल) के साथ मिलकर शुरू किया है.

इसे भी पढ़ें :डीएसपीएमयू में शुरू हुआ फोटो जतरा, दिखी प्रतिभा

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: