JharkhandLatehar

#Latehar: जेल से आया फोन- ‘12 हजार खाते में डालो वरना यहां कोरोना से भी भयानक मौत मरेगा तेरा बेटा’

Latehar: लातेहार मंडल कारा में पिछले करीब दो माह से बंद एक कैदी के परिजनों को जेल से ही फोन करके 12 हजार रुपये बैंक खाते में जमा कराने का दबाव बनाने का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है.

Jharkhand Rai

मामले का खुलासा कैदी के अधिवक्ता सुनील कुमार ने की. उन्होंने इस संबंध में प्रभारी न्यायाधीश, उपायुक्त व मुख्य सचिव से ऑनलाइन शिकायत की है. लातेहार उपायुक्त जीशान कमर ने इसे तत्काल संज्ञान में लिया है.

इसे भी पढ़ें : whatsapp पर खबरें भेजना मुश्किल, न्यूज विंग की खबरें पढ़ते रहने के लिए हमारे Telegram चैनल से जुड़ें, जानें कैसे जुड़ें टेलिग्राम चैनल से

क्या है मामला

बालूमाथ थाना कांड संख्या 30/2020 में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मो तौफिक अहमद की अदालत में पेश किया था. सुनवाई के बाद अदालत ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था.

Samford

पिछले सोमवार से जेल के अधिकारियों द्वारा बंदी के पिता को फोन कराकर 12 हजार रुपये आरटीजीएस करने का दवाब बनाया जा रहा है. धमकी दी जा रही है कि शुक्रवार दोपहर तक उक्त राशि आरटीजीएस नहीं हुई तो उसे आज से शौचालय में रहना पड़ेगा.

जेल से फोन करने वाले ने यह भी कहा है कि शौचालय में ही खाना-पीना खाना होगा. गंदगी से करोना से भी भयानक मौत उनका बेटा मरेगा.

इसे भी पढ़ें : पलामू डीसी का आदेश: तंबाकू और उससे बने उत्पादों पूर्ण प्रतिबंध, थूकते हुए पकड़े गये तो होगी कार्रवाई

इन नंबरों के बीच हुई बात

कैदी के परिजनों के मुताबिक, जेल से फोन नंबर 9570666147 से बंदी के पिता कामेश्वर उरांव के फोन नं 7070460049 पर कहा जा रहा है कि चंद्रशेखर ठाकुर के बैंक खाता संख्या 482810110013918 कोड 0004828 पर 12 हजार रुपये आरटीजीएस करो तब तो राजेश जेल में ठीक से रहेगा अन्यथा उसे इतनी यातनाएं दी जायेंगी उसकी मौत हो जायेगी.

इस फोन के बाद बंदी के परिजनों ने अपने अधिवक्ता को अवगत कराया और अधिवक्ता ने सारी बातों से अधिकारियों को ऑनलाइन अवगत कराया.

उपायुक्त जीशान कमर ने शिकायत प्राप्त करते ही मामले की जांच का आदेश दे दिया है. उन्होंने सदर अनुमंडल पदाधिकारी सागर कुमार को उक्त मामले में जांच कर कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है.

उपायुक्त ने कहा कि मामले की तहकीकात की जा रही है. सच पाया गया तो इसमें शामिल लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी.

इसे भी पढ़ें : #Lockdown: एक महीने में झारखंड को 15000 करोड़ के नुकसान का अनुमान

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: