Jamshedpur

जमशेदपुरः टाटा मोटर्स में नोकरी नहीं मिलने से निराश युवक ने की आत्महत्या

Jamshedpur: जमशेदपुर बिरसानगर के जोन नबंर 5 में रहने वाले 29 वर्षीय अनुज ने बेरोजगारी से तंग आकर फांसी लगा ली. अनुज टाटा मोटर्स में नौकरी नहीं मिलने से निराश चल रहा था.

बेरोजगारी और टाटा मोटर्स से मिली असफलता ने अनुज को तोड़कर रख दिया, जिसके बाद उसने अपनी जान दे दी. अनुज ने जमशेदपुर से ही आइटीआइ की और टाटा मोटर्स में नौकरी के लिए अप्लाई किय़ा था, चार दिन पहले चयन नहीं होने की खबर अनुज को मिली जिसके बाद से काफी निराश और डिप्रेशन में रहने लगा था.

इसे भी पढ़ेंःमंदी के साइड इफैक्टः महिंद्रा एंड महिंद्रा ने 1500 अस्थायी कर्मचारियों को निकाला

मां का इकलौता सहारा था अनुज

अनुज के पिता द्वरका सिंह टाटा स्टील में काम करते थे, जो अब इस दुनिया में नहीं है. मां का इकलौता सहारा अनुज जमशेदपुर में ही कई दिनों से नौकरी तलाश रहा था.

अनुज की इच्छा जमशेदपुर में ही काम करने थी ताकि वो अपनी मां की देखभाल भी कर सके. चचरे भाइ अंजनी सिंह का कहना है कि टाटा मोटर्स में नौकरी नहीं मिलने के बाद से अनुज काफी दबाव में था और अकेल रहने लगा था.

किसी से बात भी करना अनुज को पसंद नहीं था. अनुज की टाटा मोटर्स या यहीं के किसी बड़ी कंपनी में काम करने की ख्वाहिश थी. ताकि मां की देखभाल अच्छे से कर सके. रविवार रात को अनुज खाना खाने के बाद सीधे अपने कमरे में चला गया और दरवाजा अंदर से बंद कर लिया.

सुबह देर तक नहीं उठने पर मां ने दरवाजा खटखटाया, लेकिन अंदर से कोई अवाज न आने पर मां को अनहोनी का शक हुआ. आसपास के लोगों ने भी अनुज को दरवाजा खोलने के लिए बहुत आवाज लगाई फिर भी अनुज का जवाब न मिलने पर पुलिस को बुलाया गया और दरवाजा तोड़ा गया जहां अनुज फंदे से लटका पाया गया.

adv

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: