DhanbadJharkhand

भाजपा विधायक संजीव के चाचा रामधीर को हाइकोर्ट से झटका, जमानत याचिका खारिज 

Dhanbad: विनोद सिंह हत्याकांड में सजायाफ्ता बाहुबली रामधीर सिंह को हाइकोर्ट से झटका लगा है. हाइकोर्ट ने बुधवार को सुनवाई के बाद जमानत याचिका खारिज कर दी.

इस समय रामधीर सिंह होटवार जेल, रांची में सजा काट रहे हैं. जमानत याचिका खारिज होना सिंह मेंशन के चाणक्य रामधीर सिंह के लिए बड़ा झटका है. उनके भतीजे झरिया के भाजपा विधायक संजीव सिंह पिछले दो साल से ज्यादा समय से नीरज सिंह हत्याकांड में जेल में बंद हैं. जबकि रामधीर के पुत्र शशि सिंह भी कोल किंग सुरेश सिंह हत्याकांड में नाम आने के बाद करीब 8 साल से फरार हैं. रामधीर ने बड़ी उम्मीद के साथ हाइकोर्ट में जमानत के लिए याचिका लगायी थी. वह जमानत पर बाहर आकर बेटे शशि और भतीजे संजीव सिंह की कानूनी लड़ाई लड़ना चाहते हैं.

इसे भी पढ़ें – ‘न खाऊंगा न खाने दूंगा’ वाली सरकार की असलियत सामने आयी

क्या है मामला

कतरास बाजार में 1998 में कोयला कारोबारी विनोद सिंह को गोलियों से भून दिया गया था. इस मामले की सुनवाई करते हुए धनबाद कोर्ट ने 18 अप्रैल 2015 को यूपी के बलिया जिला परिषद अध्यक्ष रामधीर सिंह को आजीवन कारावास की सजा सुनायी. हालांकि कोर्ट जब फैसला सुना रहा था रामधीर सिंह उपस्थित नहीं थे. 22 महीने बाद उन्होंने 20 फरवरी 2017 को धनबाद कोर्ट में समर्पण कर दिया था. बाद में उन्हें धनबाद से होटवार जेल में शिफ्ट कर दिया गया. इसी मामले में जमानत के लिए रामधीर सिंह ने हाइकोर्ट में याचिका लगायी थी. हाइकोर्ट से बुधवार को याचिका खारिज हो गयी.

इसे भी पढ़ें – बीजेपी के विधायक आकाश विजवर्गीय की दादागिरी, सरेआम निगम अधिकारी को बैट से पीटा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close