JharkhandLead NewsNationalRanchiTOP SLIDER

पहले व्हाट्स एप पर न्यूड होती थीं लड़कियां, फिर रांची के साइबर डीएसपी का फोटो दिखा करती थी ठगी

Ranchi: रांची के साइबर डीएसपी सुमित कुमार की वर्दी वाली तस्वीर दिखा कर लाखों की ठगी करने वाले 11 साइबर क्रिमिनल को राजस्थान के अलवर में गिरफ्तार किया गया है. गिरोह में शामिल लड़कियां पहले व्हाट्स एप पर न्यूड होकर लोगों को अपने चुंगल में फंसाती थी, फिर साइबर डीएसपी की तस्वीर के जरिए जेल भेजने के नाम पर उनसे लाखों रुपए की वसूली की जाती थी. दबोचे गए अपराधियों को जेल भी भेज दिया गया है. पूछताछ में अपराधियों ने अपना गुनाह स्वीकार किया है

इसे भी पढ़ेंःसुरक्षाबलों से मुठभेड़ के बाद भागे नक्सली, सर्च अभियान में हेड कांस्टेबल को लगी अपनी ही गोली

दरअसल, रांची के साइबर डीएसपी सुमित कुमार लोगों को ठगी का शिकार होने से बचने के लिए सोशल साइट पर वीडियो अपलोड किया था. उसी वीडियो को शातिर साइबर अपराधियों ने ठगी और ब्लैकमेल के लिए हथियार बना लिया. गिरोह में शामिल लडकियां पहले लोगों को न्यूड करवाकर उनका वीडियो बनवाते थे और डीएसपी का वीडियो दिखाकर ब्लैकमेलिंग के जरिए ठगी शुरू कर दिया जाता था. इसकी जानकारी जब चार जून को डीएसपी सुमित प्रसाद को मिली तो उन्होंने संबंधित साइबर अपराधियों का पता लगाया. सभी अपराधियों का लोकेशन राजस्थान के अलवर में मिलने के बाद अरवल थाने से संपर्क किया गया, जिसके बाद स्थानीय पुलिस ने कार्रवाई करते हुए सभी 11 अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है.

इसे भी पढ़ेंःन्यायिक जांच पर रूपा तिर्की के पिता को नहीं भरोसा, कहा- सीबीआइ जांच ही एकमात्र विकल्प

डीएसपी सुमित प्रसाद की ओर से साइबर सुरक्षा नाम से सोशल साइट्स चलाई जाती है. जिसके माध्यम से साइबर फ्रॉड से बचने और सावधानी के लिए जागरूक किया जाता है. इन्हीं वीडियो को साइबर अपराधियों ने पहले तो चुरा लिया और फिर उसके ऑडियो में छेड़छाड़ कर अपनी आवाज डालकर फ्रॉड शुरू कर दिया. रांची पुलिस ने अलर्ट जारी किया था. लोगों से अपील की गई थी कि वे इस तरह का न्यूड कॉल नहीं उठाएं. अगर कोई व्यक्ति ब्लैकमेलिंग करता है तो इसकी जानकारी जरूर पुलिस को दें

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: