JamshedpurJharkhand

EXCLUSIVE : टाटानगर से संपर्क क्रांति के खुलते ही महिला यात्री ने दिया बच्ची को जन्म, ढाई किमी उलटा चलकर स्टेशन लौटी ट्रेन

Jamshedpur : आनंद विहार-भुवनेश्वर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस ट्रेन में महिला यात्री ने देर रात एक बच्ची को जन्म दिया. इसकी जानकारी रेल अधिकारियों को मिलने पर आननफानन में ट्रेन को वापस उलटा चलाकर टाटानगर स्टेशन पर लाया गया. इसके पहले ट्रेन टाटानगर स्टेशन से खुलकर ढाई किलोमीटर तक आगे बढ़ गयी थी. महिला यात्री का नाम रानू दास है. ट्रेन को वापस लौटाने और महिला यात्री को अस्पताल ले जाने के कारण एक घंटे का विलंब हुआ और करीब सवा पांच बजे ट्रेन को भुवनेश्वर के लिए रवाना किया जा सका.

कोच नंबर एस 5 में कर रही थी यात्री

ओड़िशा के जलेश्वर जा रही रानू दास ट्रेन के कोच नंबर एस-5 में यात्रा कर रही थी. ट्रेन में प्रसव होने की सूचना रेलकर्मियों ने टाटानगर स्टेशन को दी. वहां से ट्रेन को वापस स्टेशन लाने का निर्देश दिया गया. तब तक संपर्क क्रांति करीब ढाई किलो मीटर का सफर तय चुकी थी. स्टेशन वापस लाने की सूचना पर ट्रेन को उलटा चलाते हुए वापस टाटानगगर लाया गया. डॉक्टरों को भी बुला लिया गया. ट्रेन के वापस टाटानगर आते ही रेलवे अस्पताल के डॉक्टर प्लेटफार्म पर पहुंचे और महिला यात्री और बच्चे की जांच करने के बाद उन्हें  खासमहल स्थित सदर अस्पताल रेफर कर दिया.

advt

बिगड़ सकती थी महिला यात्री की हालत

डॉक्टरों के अनुसार ट्रेन में  असुरक्षित तरीके से बिना डॉक्टर की निगरानी में बच्ची को जन्म देने के बाद  महिला यात्री की हालत बिगड़ सकती थी. इसलिए आननफानन में ट्रेन को वापस स्टेशन बुलाया गया. रेल अधिकारियों के प्रयास से बुधवार की सुबह वापस ट्रेन टाटानगर स्टेशन पर पहुंची थी. उल्टी रफ्तार में ट्रेन प्लेटफार्म पर पहुंची थी. उसके पहले ही प्लेटफार्म पर डॉक्टर पहुंच चुके थे. टाटानगर स्टेशन पर यह वाकया चर्चा का विषय बना रहा.

एमजीएम अस्पताल में काटी गयी गर्भनाल 

रानू दास के परिजनों ने बताया कि उसे सुबह करीब पौने पांच बजे एंबुलेंस से पहले रेलवे अस्पताल ले जाया गया. लेकिन वहां कोई सुविधा नहीं होने के कारण उसे  सदर अस्पताल ले जाया गया. वहां महिला यात्री को पर्याप्त इलाज नहीं मिला. फिर उसे एंबुलेंस से एमजीएम अस्पताल भेजा गया. वहां बच्चे की गर्भनाल काटी गयी औऱ नवजात को जरूरी इंजेक्शन दिये गये. फिलहाल जच्चा-बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ्य हैं. हालांकि एमजीएम में भी वार्ड फुल होने के कारण रानू दास और बच्चे को बरामदे में लगे बेड पर ही रखा गया है.

इसे भी पढ़ें – बर्थडे पार्टी में फायरिंगः सुखदेवनगर पुलिस ने दो लाइसेंसी राइफल की जब्त, लाइसेंस रद्द करने की अनुशंसा होगी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: