न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Dhullu तेरे कारण : रोजगार नहीं, एक वक्त खाने को भी मोहताज, अब 25 सितंबर को सपरिवार करेंगे आत्मदाह

1,954

Dhnabad : बाघमारा के लुत्तीपहाड़ी के रहने वाले 39 वर्षीय अख्तर हवारे ने डीसी, एसपी व अन्य अधिकारियों को ज्ञापन देकर 25 सितंबर को आत्मदाह करने की बात कही है. अख्तर हवारे ने कहा है कि बीजेपी के बाघमारा विधायक ढुल्लू महतो के आतंक के कारण आउटसोर्सिंग का काम बंद हो गया है.

अब वह कहीं भी काम मांगने के लिए जाता है तो कहा जाता है कि पहले विधायकजी से लिखवा कर लाओ. अब हवारे के परिवार के सामने भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है. अगर जल्द ही उसे न्याय नहीं मिला तो वह सपरिवार 25 सितंबर को डीसी ऑफिस के समक्ष आत्मदाह करने को मजबूर होगा.

अख्तर हवारे ने कहा कि वे शैली आउटसोर्सिंग में ड्राइवर का काम करते थे. कुछ दिनों बाद आउटसोर्सिंग का काम बंद हो गया. लेकिन हमलोगों की मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया. अख्तर का कहना है कि आउटसोर्सिंग के अधिकारी विधायक ढुल्लू की मिलीभगत से मजदूरी का पैसा हड़पना चाहते हैं. जब अपने हक के लिए आवाज उठाता हूं तो ढुल्लू और उनके गुंडे जान से मारने की धमकी देते हैं.

इसे भी पढ़ें – #Dhullu तेरे कारण : विजय झा ने कहा, शोषित और वंचित लोगों के साथ खड़ा रहता हूं, इसलिए परेशान करते हैं ढुल्लू

Mayfair 2-1-2020

विधायक की गुंडागर्दी के कारण नहीं मिल रहा है रोजगार

अख्तर हवारे का कहना है कि विधायक की गुंडागर्दी के कारण कहीं भी मुझे रोजगार नहीं मिल रहा है. कहीं भी रोजगार मांगने के लिए जाते हैं तो कहा जाता है कि विधायक से लिखवाकर लाओ. रोजगार नहीं मिलने के कारण हमारे परिवार के समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी है.

हवारे का कहना है कि पत्नी बीमार रहती है. लेकिन पैसे के अभाव में उसका इलाज भी नहीं हो पा रहा है.  साथ ही कहा कि अगर जल्द ही हमलोगों को न्याय नहीं मिला तो हमलोग सपरिवार 25 सितंबर को डीसी ऑफिस के समक्ष आत्मदाह करने को मजबूर होंगे.

Sport House

इसे भी पढ़ें – झारखंड के डीसी IAS Code of Conduct के खिलाफ जाकर चला रहे हैं #jharkhandwithmodi कैंपेन

बच्चों की पढ़ाई ठप, सड़क पर आ गया परिवार

अख्तर हवारे और उसके परिवार का कहना है कि बाघमारा विधायक के कारण पूरा परिवार सड़क पर आ गया है. पत्नी पिछले दिनों लकवा से ग्रस्त हो गयी थी. उसका इलाज हजारीबाग से चल रहा था लेकिन पैसे को अभाव की वजह से पत्नी का इलाज भी बंद है. साथ तीन बच्चे हैं, तीनों की पढ़ाई  भी बाधित है.

अख्तर हवारे का कहना है कि हमलोग बाघमारा के लुतीपहाड़ी रथटांड़ में किराये के मकान में रहते हैं. मकान मालिक का कई महीनों से किराया बाकी है. वह घर से निकाल देने की धमकी देता है.

ढुल्लू के कारण हमलोग घुट-घुटकर जीवन जी रहे हैं. 25 सितंबर को हम सपरिवार डीसी ऑफिस के समक्ष आत्मदाह करेंगे, जिसकी जिम्मेदारी बाघमारा विधायक, शैली आउटसोर्सिंग व बीसीसीएल प्रबंधन की होगी.

इसे भी पढ़ें –चुनाव से पहले हेमंत का आदिवासी कार्डः बीजेपी में आदिवासी नेताओं की अनदेखी का लगाया आरोप

SP Jamshedpur 24/01/2020-30/01/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like