JharkhandRanchi

डॉ अजय प्रदेश अध्यक्ष रहेंगे या नहीं, फैसला 11 को सीडब्ल्यूसी की बैठक के बाद

  • राष्ट्रीय महासचिव, प्रदेश प्रभारी, प्रदेश अध्यक्ष सहित झारखंड के कई वरिष्ठ नेता बैठक में शामिल हुए
  • झारखंड के वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने डॉ अजय के खिलाफ जतायी नाराजगी

Ranchi : पिछले दिनों झारखंड प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के बाहर डॉ अजय और सुबोधकांत सहाय समर्थक गुटों के बीच जो संघर्ष हुआ था, उसे लेकर शनिवार को दिल्ली कांग्रेस मुख्यालय में एक बैठक बुलायी गयी. बैठक में कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल भी उपस्थित थे. उन्हीं की अध्यक्षता में बैठक चली. बताया जा रहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष डॉक्टर अजय के पार्टी मुख्यालय में की गयी बयानबाजी के खिलाफ झारखंड के तमाम कांग्रेसी नेताओं ने नाराज़गी जतायी. साथ ही उनकी जगह किसी को प्रदेश अध्यक्ष बनाये जाने की बात भी प्रमुखता से रखी. इस पर वेणुगोपाल ने कहा कि अभी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफा दे दिया है और नये राष्ट्रीय अध्यक्ष को लेकर 11 अगस्त को कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक बुलायी गयी है. इस बैठक में झारखंड के सभी नेताओं की बातों को शीर्ष नेतृत्व के समक्ष प्रमुखता से रखा जायेगा. बैठक में नेताओं से यह भी कहा गया है कि जब तक इस मसले पर फैसला न हो जाये कोई भी नेता मीडिया में बयान नहीं दे.

देखें वीडियो-

इसे भी पढ़ें – जम्मू-कश्मीर : राज्यपाल  से मिले उमर अब्दुल्ला, कहा, सरकार संसद में बताये  घाटी में  क्या हो रहा है

झारखंड विधानसभा चुनाव की तैयारी पर भी हुई चर्चा

दिल्ली में हुई बैठक में जहां झारखंड कांग्रेस में जारी खींचतान पर विस्तार से चर्चा हुई. वहीं झारखंड विधानसभा चुनाव की तैयारी, संगठन को और मजबूत बनाने, सहयोगी दलों के साथ और बेहतर तालमेल बनाने सहित अन्य मुद्दों पर भी वेणुगोपाल ने सभी वरिष्ठ नेताओं से बातचीत की. इस दौरान झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार, सह प्रभारी उमंग सिंघार, वरिष्ठ नेता सुबोधकांत सहाय, प्रदीप बलमुचु, फुरकान अंसारी, रामेश्वर उरांव, गीता कोड़ा, सुखदेव भगत, धीरज साहू, केएन त्रिपाठी सहित कई नेता मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें – राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था पर कहा,  दशकों की मेहनत से हमने बनाया ,  भाजपा सरकार नष्ट कर रही है

प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ वरिष्ठ नेताओं ने जाहिर की अपनी नाराजगी

सूत्रों की मानें तो इस बैठक में डॉ अजय से नाराज चल रहे कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेताओं ने प्रभारी आरपीएन सिंह और महासचिव केसी वेणुगोपाल के समक्ष अपनी नाराजगी भी खुल कर सामने रखी. इन नेताओं ने कहा कि डॉ अजय के बयान से पार्टी की जो छवि बिगड़ी है, उसका असर विधानसभा चुनाव में देखने को मिल सकता है. बता दें कि झारखंड में कांग्रेस के कई नेता प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं, उन्हें हटाने की मांग कर रहे हैं.  लोकसभा चुनाव में मिली हार का कारण डॉ अजय को ही बताया जा रहा है. यहां तक कि इन नेताओं ने डॉ अजय पर लोकसभा चुनाव में टिकट बेचने का भी आरोप लगाया है. वहीं प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर अजय लगातार इन वरिष्ठ नेताओं पर कांग्रेस संगठन को कमजोर करने का आरोप लगा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – जमशेदपुर में फिर मॉब लिंचिंग! युवक की संदेहास्पद मौत, परिजनों ने पीटकर मारने का लगाया आरोप

Related Articles

Back to top button