JharkhandLead NewsRanchi

आदिवासी जमीन को बेच रहे दलाल, विधायक-अधिकारी से गुहार लगाने के बाद भी कार्रवाई नहीं

Ranchi: गैर आदिवासियों के आदिवासी जमीन पर जबरन कब्जा का प्रयास किया जा रहा है. जमीन मालिक आदिवासी परिवार (रैयत परिवार) अपनी जमीन बचाने की गुहार लगाते लगाते थक जा रहे हैं  लेकिन कोई समझने को तैयार नहीं है. उधर दलालों के द्वारा लगातार धमकी भी दी जा रही है बावजूद उन्हें कहीं से भी सुरक्षा नहीं मिल रही है. परिजन सुरक्षा की गुहार लगाने पुलिस के पास गये, तो पुलिस ही विपक्षी लोगों से मिल गए. अब तो गैर-आदिवासी जबरन उस जमीन पर बाउंड्री भी कर दिए. विरोध करने पर मारपीट भी की गयी. परिवार के लोग रांची एसएसपी के बाद शनिवार को विधायक सीपी सिंह से मिला और जमीन बचाने की गुहार लगायी.

मामला रांची के पुंदाग ओपी का है. फरियादी केशव मुंडा, पिता स्व. खुदन मुंडा है. वरीय पुलिस अधीक्षक रांची और विधायक सीपी सिंह को दिये आवेदन में केशवर मुंडा ने लिखा है कि उनकी पुंदाग में 14 डिसमिल खतियानी बकास्त भुइंर्हरी पहनई जमीन है, जिसका खाता संख्या 397 व प्लॉट संख्या 788 है. इस जमीन पर कई लोग दावेदारी कर रहे हैं. हालांकि नगड़ी अंचल पदाधिकारी ने जो जांच रिपोर्ट थाने को भेजा है, उसके अनुसार यह जमीन महादेव पाहन की है और जमीन महादेव पाहन के वंशज के कब्जे में है. फरियादी केशव मुंडा ने कहा है कि पिछले दिनों उसे पुंदाग ओपी में बंद कर दिया गया और उधर उनकी जमीन पर बाउंड्री करा दी गयी. यह सब पुलिस की मिलीभगत से की गयी. उसने थाना प्रभारी के अलावा तीन दावेदारों मो. सज्जाद एवं मो. नाजिर तथा कुलेश्वर महतो को आरोपी बताया है. मारपीट मामले में पांच नवंबर 2022 को एसटी-एससी थाने में एफआइआर भी दर्ज कराया है.

इसे भी पढ़ें: जयपाल सिंह स्टेडियम के बाहर इन्दौर की तर्ज पर दिखेगा नाइट मार्केट

Related Articles

Back to top button