Jamshedpur

लॉकडाउन में फाइनांस कराया था ऑटो, नहीं भर पा रहा था किश्त, फांसी लगाकर दे दी जान

Jamshedpur : सिदगोड़ा थाना क्षेत्र के बागुननगर स्थित एफ रोड निवासी 35 वर्षीय राजदेव शर्मा उर्फ लल्लू ठाकुर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. वह पेशे से ऑटो चालक था. घटना के वक्त घर में कोई नहीं था. राजदेव की पत्नी सरिता देवी बच्ची को वैक्सीन दिलाने गयी थी. जब वह घर लौटी तो पति को वेंटिलेटर के सहारे फांसी के फंदे से लटका पाया. उसने शोर मचाया तो रिश्तेदार समेत पास-पड़ोस के लोग पहुंचे. राजदेव को फंदे से उतारकर आनन-फानन में एमजीएम अस्पताल लाया गया. वहां जांच के बाद चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

चतरा का था रहने वाला

वह मूल रुप से चतरा का रहने वाला था. घटना के संबंध में राजदेव के चाचा जोगिंदर ठाकुर ने बताया कि उसके पिता गांव में रहते हैं. पिछले लॉकडाउन में राजदेव ने एक ऑटो फाइनांस कराया था, लेकिन आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से वह किश्त नहीं चुका पा रहा था. इससे वह तनावग्रस्त् रहता था. खासकर फिलहाल मिनी लॉकडाउन लगने से वह ज्यादा तनाव में रहने लगा था. बीच-बीच में कई दिनों तक वह ऑटो चलाने भी नहीं जाता था. उसी बीच उसने आत्महत्या कर ली. परिजन आशंका जता रहे हैं कि किश्त नहीं चुकाने के कारण तनाव को लेकर उसने यह कदम उठाया होगा. इस बीच घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की छानबीन शुरु कर दी. मामले की पुलिस जांच के बाद ही घटना के सही कारणों के खुलासे की उम्मीद जतायी जा रही है.

बेटा रहता है हॉस्टल में, मां-बेटी रहती है घर में

ऑटो चालक राजदेव शर्मा की पत्नी के अलावा एक बेटा और एक बेटी है. उसका 18 वर्षीय बेटा डिमना स्थित एक हॉस्टल में रहता है. घटना की जानकारी मिलते ही वह घर पहुंचा. इस घटना से परिवार में मातम का माहौल है.

इसे भी पढ़ें- गोलमुरी में शादी की नियत से बहला-फुसलाकर नाबालिग का अपहरण

Related Articles

Back to top button